Do Logo Ko Alag Karne Ka Mantra


दो लोगो को अलग करने का मंत्र ( Do Logo Ko Alag Karne Ka Mantra ) कौनसा है? क्या दो लोगो को अलग करने का मंत्र Do Logo Ko Alag Karne Ka Mantra पढ़कर उन्हें अलग किया जा सकता है? प्रिय पाठकों यदि आप दो लोगो को अलग करने का मंत्र या Do Logo Ko Alag Karne Ka Totka दो लोगों को अलग करने का टोटका जानना चाहते है तो आप हमारे लेख को पढ़े क्यूंकि हम इस लेख में दो लोगो को अलग करना Do Logo Ko Alag Karna तथा 2 Logo Ko Alag Karne Ka Totka बताने के साथ साथ दो लोगो को अलग करने का उपाय ( Do Logo Ko Alag Karne Ka Upay ) भी बतायेगे। यदि आप किन्ही दो लोगो के मध्य लड़ाई झगड़ा करवाकर उन दोनों को अलग करना चाहते है तो आज हम आपके लिए एक ऐसी विधि लिख रहे है जिसका उपयोग करके आप प्रेमी को उसकी प्रेमिका तथा पति को उसकी पत्नी से अलग कर सकते है तथा उन दोनों लोगो के मध्य क्लेश करवाकर उन्हें सदैव के लिए एक दूसरे से दूर कर सकते है. तो आइये जानते है Do Logo Me Ladai Karne Ke Totke एवं Do Logo Me Ladai Karane Ka Upay के बारे में.

दो लोगो को अलग करने का मंत्र ( पति-पत्नी को अलग करने हेतु )__

आं क्रां क्रां क्रां क्रीं क्रीं क्रीं क्रौं क्रौं क्रौं सफरे ( पति पत्नी का नाम ) धां धां ठः ठः .

प्रयोग विधि_साधक अमावस्या की रात्रि में श्मशान जाकर खड़े उड़दों को घर लाकर सूखा ले और उन्हें लाल वस्त्र में रखकर ऊपर दिए मंत्र को 1008 जाप के माध्यम से सिद्ध कर लें और उड़द को लाल वस्त्र में बांधकर उन लोगो के घर में फेक दे जिन्हे अलग करना है.

दो लोगो को अलग करने का मंत्र__

ॐ क्रीं सहं रुद्राये पिशाचधिपत्यै पिंगलाय ( दो लोगो को नाम ) फट स्वः .

प्रयोग विधि_ साधक पीली सरसों, राई, मैथी, थोड़ी थोड़ी मात्रा में एकत्रित करें और श्मशान से जलती चिता की राख लाकर आम व ढाक की लकड़ी पर आहुति देते हुए ऊपर दिए मंत्र को 786 जाप करके अभिमंत्रित कर लें और उस लकड़ी को उन दो लोगो के घर में फेक दें जिनके मध्य लड़ाई करवानी हो.

दो लोगो को अलग करने का मंत्र__

ॐ रुद्राभिः कामाख्या देवी ह्रीं श्रीं ( दो लोगो का नाम ) फट स्वः .

प्रयोग विधि__ साधक अमावस्या के दिन ढाक की सूखी टहनियां और धतूरे का ताजा पत्ता लाकर पत्ते पर काली स्याही से ऊपर दिए मंत्र को लिखे . फिर अर्द्धरात्रि वटवृक्ष के निचे बैठकर ढाक की टहनी को घी की सहायता से जला दे और मंत्रो का उच्चारण करके धतूरे का पत्ता आग में डाल देंगे तो उन दो लोगो में विद्वेषण हो जायेगा.

दो लोगो को अलग करने का मंत्र

ॐ नमोः नारदाय अमुकस्य ( दो लोगो का नाम ) सः विद्वेषणं कुरु कुरु स्वः .

प्रयोग विधि_ साधक इस मंत्र को अमावस्या की रात्रि में 1008 जाप करके सिद्ध कर ले. फिर प्रयोग हेतु हेतु बिल्ली के नाख़ून को लेकर यह मंत्र बोलते हुए जिस स्थान पर डालेगा, वहां के वासियों में विद्वेषण हो जायेगा।

दो लोगो को अलग करने का मंत्र__

ॐ नमो महाभैरवाय अमुकमुकयो ( दो लोगो का नाम ) विद्वेषं कुरु कुरु क्रूं फट स्वः .

प्रयोगविधि__ साधक बिलौटे व चूहे के मल से दो पुतले बनाकर उन पर सिंदूर से उन दो लोगों का नाम लिख दें. इसके बाद उन दोनों पुतलों को नीले रंग के वस्त्र पर रखकर ऊपर दिए गए मंत्र को 1111 जाप करके अभिमंत्रित कर लें और उन पुतलों को उन दो लोगो के घर में गाड़ दें जिन्हे आप अलग करना चाहते है.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s