Vashikaran mantra by three words


तीन शब्द बोलने से वशीकरण मंत्र, वशीकरण अर्थात किसी इंसान को अपनी ओर आकर्षित कर लेना। या फिर किसी खास व्यक्ति को सम्मोहित करना है। यह आकर्षण एक चुंबकीय शक्ति की तरह होता है।

इसके लिए आज भी वशीकरण की पुरानी विद्याओं और तरीकों का ही इस्तेमाल किया जाता है। इससे संबंधित विविध जानकारियां धार्मिक पुस्तकों में दी गई हैं। कई उपाय बताए गए हैं। कुछ साधारण पूजा-पाठ के हैं, जबकि कुछ तंत्र-मंत्र की साधनाओं और टोने-टोटके के होते हैं।

तीन शब्द बोलने से वशीकरण मंत्र

वशीकरण में मंत्रों का विशेष महत्व है। अधिकतर मंत्र कई शब्दों के संस्कृत में होते हैं, जबकि कुछ मंत्र कई पंक्तियों के भी हैं। उनका विधिवत वैदिक या तंत्रिक अनुष्ठान के दौरान जाप किया जाता है।

इनके अतिरिक्त कुछ मंत्र ऐसे भी हैं जो छोटे होकर भी बेहद शक्तिशाली असर डालते हैं। इन्हीं में वशीकरण का एक मंत्र मात्र तीन शब्दों का है। वह है वषम् भर्कम वश उनके चमत्कारी तीन शब्दों को रात को सोने से पहले मात्र तीन बार ही बोलना होता है। उसका तरीका इस प्रकार होना चाहिए-

  • तीन शब्दों वाले मंत्र के जरिए बेहद निजी संबंधों वाले व्यक्ति को अपने वश में किया जा सकता है। वह पुरुष के लिए उसकी पत्नी या प्रेमिका हो सकती है। या फिर किसी स्त्री के लिए उसका पति।
  • यह मंत्र पति-पत्नी के बीच रिश्तों की प्रगाढ़ता को कायम रखने, प्रेम की मधुरता को बढ़ाने और सुखद सहवास के लिए बेहद कारगर होता है। यह पति-पत्नी की यौन इच्छा पूर्ति में भावनात्मक असर डालता है और उसे यादगार बनाता है।
  • जिस किसी को वश में करना है उसका रात को सोने से पहले एक सादे कागज पर लाल स्याही से नाम लिखें। उसके नीचे मंत्र लिख दें। उसपर कपूर की एक टिकिया रखकर कागज को चार तह में मोड़ दें। मंत्र को तीन बार पढ़ें और अपने तकिये के नीचे रखकर सो जाएं।
  • सुबह उठकर उस मंत्र को तीन बार फिर पढ़ें और वशीकरण किए जाने वाले व्यक्ति का नाम स्मरण करें। उसके बाद उस कागज को जला दें। इसका असर अगले रोज से ही दिखने लगेगा।

तीन शब्दों के मंत्र से वशीकरण

उल्लेखनीय है कि वशीकरण के लिए ज्यादातर मंत्र लंबे और उच्चारण में कठिन होते हैं। इसकी तुलना में यहां बताया गया मंत्र छोटा और सटीक असर वाला है। इस्तेमाल से पहले इसकी सिद्धी की जाती है। उसके बाद इसके जरिए मनचाहे व्यक्ति का वशीकरण किया जा सकता है।

इसके जानकार बताते हैं कि यह मंत्र इतना सटीक और प्रभावशाली है कि कुछ घंटे में ही असर दिखा देता है। इसके प्रयोग से बड़े से बड़े शत्रु को अपने वश में किया जा सकता है। मंत्र सिद्ध का तरीका इस प्रकार है-

  • पहले मंत्र के छोटे रूप को देखें-ऊँ मों ड्रो!
  • इस मंत्र को सिद्ध करने के लिए 21 दिनों तक जाप किया जाता है। हर दिन जाप की संख्या 1008 होनी चाहिए।
  • इसकी सिद्धी के अनुष्ठान से पहले कुछ नियमों का पालन करना जरूरी होता है। पहला, 21 दिनों तक मांस और मदिरा से दूर रहना है। दूसरा, 21 दिनों तक ब्रह्मचर्य का पालन करना है। तीसरा, इन दिनों में पलंग पर नहीं सोना है।
  • इसकी शुरूआत माह के किसी भी शुक्रवार से की जा सकती है। सूर्योदय होने के करीब एक घंटा पहले बगैर कुछ खाए हुए स्नानआदि के बाद घर के किसी एकांत कमरे में वैदिक पूजा की साधारण तैयारी करें। धूप-दीप, कपूर और अक्षत लाल फूल के साथ एक मिष्ठान की थाल सजा लें। साथ में एक स्पफटिक की माला रख लें।
  • लाल रंग के आसन पर पश्चिम दिशा की ओर मुंह कर बैठ जाएं। खुद लाल रंग का ही परिधान धारण कर लें।
  • अपने सामने भैरवदेव की काल्पनिक आकृति को स्मरण करते हुए पूजन विधि करें। उसके बाद आंखें बंद कर मंत्र का 1008 बार जाप करें। इससे पहले वशीकरण किए जाने वाले व्यक्ति का स्मरण कर लें। पूजन सामग्री को नदी में बहा दें या मिट्टी के नीेच दबा दें।
  • जाप पूर्ण होने के बाद प्रसाद के तौर पर मिठाई ग्रहण करें। इस तरह से 21 दिनों तक मंत्र जाप की पूर्णाहुति के बाद मंत्र का प्रयोग वशीकरण के लिए किया जा सकता है।
  • मंत्र का प्रयोग करने से पहले खाने की कोई एक सामग्री को सामने रखकर मंत्र को 108 बार जाप करें और वशीकरण किए जाने वाले व्यक्ति को वह वस्तु खिला दें। खाने की समग्री इलायची का दाना, शक्कर, मिठाई कुछ भी हो सकता है। सिर्फ यह ध्यान रखना है वस्तु मीठी या सुगंधित हो।

वशीकरण में तीन का महत्व

वशीकरण चाहे जिसका भी किया जाए। उसमें तीन अंक का विशेष महत्व होता है। जैसे टोटके के दौरान तीन इलायची या तीन लौंग का रखना। तीन किस्म की मिठाई या फल से पूजन करना। तीन बार मंत्र का पढ़ते हुए वशीकरण के लिए प्रयोग में लाई जाने वाली सामग्रियों पर तीन बार फूंक मारना। ऐसे कुछ प्रयोग इस प्रकार हैं-

  • शुक्रवार के दिन तीन चीजों को जलाकर वशीकरण किया जा सकता है। रात को सोने से पहले सफेद कागज पर लाल स्याही वशीकरण किए जाने वाले व्यक्ति का नाम लिखें। उसमें तीन कपूर की टिकिया रख दें। उसके बाद दिए गए मंत्र का तीन बार स्पष्ट उच्चारण करें। मंत्र है- ऊँ वषम कामाख्या सफ्जसजफो गसकलजी गगसरोवर नमः! फिर उस कागज को मोड़कर अपनी जेब में रख लें और तीन घंटे के बाद जाला दें। उसके जलने बाद तीन घंटे के अंदर ही दूर बैठे उस व्यक्ति की कोई सूचना अवश्य मिलेगी। कोई फोन आएगा या फिर वाट्सअप मैसेज मिल सकता है। ऐसा होने पर समझ लें कि वह व्यक्ति आपके वश में आ चुका है। इस उपाय को स्त्री या पुरुष कोई भी कर सकते हैं।
  • भगवान शिव की आराधाना के लिए मात्र तीन शब्दों के मंत्र का जाप ही काफी होता है। वह है-ऊँ नमः शिवाय! इस मंत्र से कई साधनाएं की जा सकती है। चाह सुख-समृद्धि मन्नत हो या फिर किसी की नाराजगी दूर करनी हो। इस मंत्र में गजब की सम्मोहन शक्ति है। इस मंत्र का जाप शिवलिंग पर जलाभिषेक के समय किया जाता है। इसे अद्भुत प्रभाव का मंत्र माना गया है। इसमें ब्रह्मास्त्र जैसी शक्ति होती है।
  • विशेष: मंत्र चाहे जैसा भी हो और जितना भी बड़ा हो, उसके जाप की संख्या हमेशा तीन के गुण में होती है। जैसे तीन बार 6 बार, 21 बार या फिर एक माला यानी 108 बार का जाप।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s