Mohini Vashikaran Mantra

Mohini Vashikaran Mantra


कोई भी साधक मोहिनी वशीकरण मंत्र प्रयोग द्वारा किसी भी गर्ल/बॉय को वह में कर सकते है| मोहिनी वशीकरण लगाउने मंत्र- जीवन सुचारु और सरल तरीके से चलता रहे, इसके लिए समाज में मनुष्य द्वारा कई रिश्ते बनाए गए हैं। इनमें से हर एक की अलग पहचान होती है, अलग महत्व होता है और इन्हीं के हिसाब से इन रिश्तों को निभाया जाता है। रिश्तों को सही तरीके से निभाने के लिए कुशलता की जरूरत पड़ती है। लेकिन, विशेषकर किसी स्त्री पुरुष के प्रेम संबंधित रिश्तो को कायम रखने एवं निभाने के लिए विशेष कुशलता की जरूरत होती है। इनमें कभी-कभी आपस में मनमुटाव हो सकता है, कभी-कभी इस रिश्ते को गंभीरता से नहीं लिया जाता है। फलस्वरूप जीवन में निराशा बढ़ने लगती है। ऐसे में लोग अपना पुराना प्यार और अपने साथी की चाहत पाने के लिए विभिन्न उपायों के साथ-साथ वशीकरण की भी सहायता लेते हैं। अगर प्यार सच्चा और वशीकरण का उद्देश्य उचित है तो वशीकरण के विभिन्न उपायों में किसी को भी अपनाने में कोई भी हानि नहीं है।

मोहिनी वशीकरण मंत्र

मोहिनी वशीकरण मंत्र का प्रयोग अपने प्यार को वापस पाने के लिए बिना किसी बुरे मकसद से किया जाए तो आप आपके लिए प्रस्तुत है मोहिनी वशीकरण मंत्र। ये हैं-

लाल रंग का एक आसन, कुछ सबूत लवंग, सुगंधित अगरबत्ती, सरसों तेल, पांच गुलाब का फूल, पांच प्रकार की मिठाई इत्यादि समान एकत्रित कर लें। किसी रविवार को मध्य रात्रि के समय एकांत स्थान में लाल रंग के आसन को बिछाकर उत्तर की ओर मुंह करके बैठ जाएं। अगरबत्ती जला ले व साथ में सरसों तेल का एक दीपक प्रज्वलित करें। अपने बगल में कुछ साबुत लवंग रखें, मिठाई और गुलाब का फूल भी अपने पास ही रखें। एक लवंग अपने हाथ में ले ले और नीचे दिए गए मंत्र का जाप करें। जाप करते समय अमुक की जगह पर वशीभूत करने वाले व्यक्ति का नाम ले तथा लवंग के ऊपर फूंक मारें। ऐसा आप २१ बार करें। २१ बार मंत्र जाप करें और हर बार लवंग पर फूंक मारें। इस प्रयोग को सात रविवार तक लगातार करें और हर रविवार को लवंग को संभाल कर अपने पास रखें। सात रविवार की समाप्ति के बाद फूल और प्रसाद को इकट्ठा कर बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें और लवंग को अपने पास रख लें। अब जिसे आप को वश में करना है मौका मिलते ही एक लवंग मारे उसकी पीठ पर, वह व्यक्ति आपके वशीभूत हो जाएगा। मंत्र है– “तेल, तेल, महातेल, देखूँ री मोहिनी तेरा खेल। लौंग लौंगा लौंग, एक लांग मेरी आती-पाती। लोंग दूजी दिखाएं छाती। रूठी को मना कर लाए, बैठी को उठाकर लाए, सोती को जगाकर लाए,चलती फिरती को लिवा लाए। जोगिन अकाश की, सिद्ध पताला का। अमुक को लागी लगा रे मोहिनी, तुझको भैरव जी की आन।”

सरसों तेल का दीपक जला कर नीचे दिए गए मंत्र का प्रतिदिन दो घंटे जाप करें। इस क्रिया को ४१ दिन तक दोहराएं। मंत्र प्रारंभ करने के पहले तथा अंतिम दिन अलग अलग किस्म के सात मिठाईयाों को किसी भी निर्जन स्थान पर रखें। इन्हें रखकर घर वापस आ जाएं और आते समय पीछे मुड़कर ना देखें। इन दिनों पूर्णता ब्रह्मचर्य का पालन करें। ४१ दिनों के पाठ के बाद मंत्र सिद्ध हो जाता है। अब जब आपको इस मंत्र का प्रयोग करना है तब सरसों तेल लेकर इस मंत्र का २१ बार उच्चारण करते हुए २१ बार तेल पर फूंक मारें तथा इससे मालिश करें अपने शरीर की। तत्पश्चात संबंधित व्यक्ति के पास जाएं, वह आप के सम्मोहन में आ जाएगा। मंत्र है– “तेल तेल गौरी का खेल, राजा प्रजा कौन्सल, चलके मेरे और मेरे परिवार के पेरी मेल, मन मोहे तन मोहे, मोहे सभी शरीर, मोौहे पंजे पीर, जय फूला कम करे खुल्ला, मलंगी तोड़ें तंगी।”

मोहिनी वशीकरण मंत्र का एक शक्तिशाली मंत्र है– “ओम् नमो भगवते काम देवाय, सर्वजन प्रियाय। सर्वजन सम्मोहाय, ज्वल ज्वल प्रज्वल प्रज्वल। हन हन वद वद तप, सम्मोहय सम्मोहय, सार्व जन में वश्य कुरु कुरु स्वाहा।” इस मंत्र का जाप करने के पूर्व एक दीपक, घी, लोबान, पाँच मिठाई लाल रंग की, पांच लाल फूल, लाल आसन, गंगाजल, एक साफ और काँच की एक छोटी व स्वच्छ शीशी इत्यादि समान का संग्रह कर लें। अब किसी भी दिन मध्यरात्रि में आसन बिछाकर बैठ जाएं, अपना मुख उत्तर दिशा की ओर रखें। घी का दीपक और लोबान जलाए, मिठाई व फूल अर्पित करें। एक पात्र में गंगाजल रखें साथ ही साथ २१००० मंत्र के जाप का संकल्प ले ले। संकल्प करते वक्त दाहिने हाथ की अंजुली में थोड़ा सा गंगाजल ले और जिसे वश में करना है उसका नाम उच्चारित करें व साथ ही साथ अपने वशीकरण के उद्देश्य को दोहराएं। ११००० मंत्र जाप जब पूर्ण हो जाए तब गंगाजल में फूंक मारें। २१००० बार मंत्र का जाप पूर्ण होने पर उस जल को एक शीशी में अच्छी तरह से बंद करके रखें। अब आपको जिसे वश में करना है उसके पास जाए और मौका पाकर इस जल को उसके ऊपर छिड़क दे वह आप के वशीभूत हो जाएगा/जाएगी।

मजीद, तगर, अर्जुन- छाल और कोई भी पत्ता जो हवा से उड़ कर आया हो सबको समान समान मात्रा में ले ले। इन्हें साथ में मिला कर कूट छानकर पाउडर बनालें। अब १२ घंटे बाद किसी खाद्य-पदार्थ में मिलाकर उस व्यक्ति को खिला दे जिसे वह आप को वश में करना है।

किसी जलती हुई चिता से उसकी राख को लें। अब इसमें विदारी कंद, मदार का दूध, वटवृक्ष की जटा को मिला लें और लगभग तीन घंटे तक इसे घोटें। प्राप्त पदार्थ को सुरक्षित करके रख लें किसी बोतल में। जब आपको किसी को वश में करना है तब इस पेस्ट से तिलक लगाकर उसके सामने जाए, वह सम्मोहित हो जाएगा जैसे ही आप की नजर उस से मिलेगी।

किसी शमशान से जड़ ले आए महानीली की। इसे अच्छे से कूट लें तथा रुई में मिलाकर इसकी बत्ती बनाए। इसे एक दीपक में डालें तथा चमेली के तेल की सहायता से जलाएं और काजल बनाएं। इस काजल को आप अपने आंख में लगाकर उस व्यक्ति के पास जाए जिसे आप वशीभूत करना चाहते हैं। आपसे नजर मिलते ही वह वशीभूत हो जाएगा और आपके कहे अनुसार कार्य करने लगेगा।

वशीकरण तिलक मोहिनी मंत्र- कोई भी मोहिनी वशीकरण लगाउने मंत्र प्रयोग द्वारा किसी भी गर्ल/बॉय को वह में कर सकते है| मोहिनी वशीकरण का प्रयोग करने से पहले जरूर तांत्रिक गुरु जी सलाह मश्वरा कर लेवे|

Long se Vashikaran Kaise Kare

Long se Vashikaran Kaise Kare


लौंग के वशीकरण प्रयोग के बारे मे तो आप सब जानते ही होंगे। यह अक्सर हम सब के रसोई मे पाई जाती है। व्यंजन बनाने मे अक्सर इसका प्रयोग होता है। लेकिन क्या आप जानते है कि लौंग की मदद से आप किसी भी व्यक्ति को अपने वशीभूत कर सकते है। जी हाँ जादू-टोने-टोटके से लेकर किसी भी व्यक्ति पर वशीकरण करने के लिए लौंग का बड़ा इस्तेमाल होता है। तो चलिये जानते है की आखिर वो कौनसे टोटके व विधियां है, जिनका इस्तेमाल आप कर सकते है।

लौंग से वशीकरण

पैसों से जुड़ी समस्या हर घर के लिए एक बहुत बड़ी समस्या है। हर व्यक्ति अपनी आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए दिन-रात कड़ी मेहनत करता है। पर कई बार मेहनत भी उतना रंग नहीं लाती। ऐसे मे अपनी आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए आप बस एक सरल सा उपाय यह करे कि रोज हनुमान जी की पूजा करने के बाद कच्ची घानी के तेल मे लौंग को मिला दे या तेल मे लौंग डालकर उसका दीपक जलाए और इसी से आरती करें। ऐसा करके आप समस्या से निजात पा सकते है।

अगर आपके साथ यह अक्सर होता है कि आप बड़ी उम्मीद के साथ घर से किसी काम के लिए निकले, पर वहाँ पहुँचकर आपका काम ख़राब हो गया। किसी भी कारण से काम नहीं बन पाया, तो आप ऐसी परिस्थिति मे लौंग व नींबू की मदद ले सकते है। करना बस इतना है कि एक नींबू लेकर उसमे 4 लौंग गाड़ दे। इसके बाद एक मंत्र है जिसका आपको 21 बार जाप करना होगा। मंत्र है: “ॐ श्री हनुमते नम:”। जाप के बाद नींबू को अपने साथ ले जाए, जहां भी आप काम से जा रहें है। ऐसा करके आप देखेंगे कि कैसे काम सफलतापूर्वक होने लगेगा।

लौंग से कैसे करे वशीकरण

अक्सर काम मे आने वाली बाधा को दूर करने के लिए आप एक अन्य उपाय यह भी कर सकते है कि जब भी सुबह भगवान कि पूजा-पाठ करने के बाद आप उनकी आरती करते है तो उसी वक़्त दीपक मे 2 लौंग डाल दे व उससी से आरती करें। तो देखा आपने इस उपाय मे आपको सिर्फ लौंग की ज़रूरत है। इस उपाय को करने के बाद आपके रास्ते मे आने वाली बधाएं खतम होने लगेंगी।

अपने दुश्मन से छुटकारा पाने के लिए या फिर किसी भी व्यक्ति को वशीभूत करना के लिए आप यह टोटका कर सकते है। बस ध्यान रहें कोई भी उपाय बिना वजह किसिकों परेशान करने के लिए बिलकुल भी न करें और ना ही मनोरंजन के इरादे से इन्हें करके देखे। तो उपाय इस प्रकार है कि शनिवार की रात को आप एक कमरे मे बैठ जाए। जहां शांति हो और आपके अलावा जहां दूसरा कोई ना हो। कमरे मे अब आप आसन बिछाकर आराम से बैठकर। फिर 7 लौंग को अपनी मुट्ठी मे पकड़ ले और जिस भी व्यक्ति को वश मे करना चाहते है, उसका 21 बार नाम लेते हुए, हर बार लौंग पर फूँक मारे। इसका बाद अगले दिन मे आप इन 7 लौंग को जला दे। 7 शनिवार इस टोटके को करने के बाद आप देखेंगे की वो व्यक्ति आपके वश मे हो गया है।

यदि आपका कोई काम रुका हुआ है और बड़ी कोशिश के बाद भी वो पूर्ण नहीं हो पा रहा तो ऐसे मे भगवान गणेश आपके ऐसे बिगड़े काम बना सकते है। यदि आपकी उनमे असीम श्रद्धा है तो आपको परेशान होने की कोई आवश्यकता नहीं है। बस इतना करें कि गणेश चतुर्थी के दिन गणेश जी के चित्र को अपनी दुकान, ऑफिस, या घर मे रखे। ध्यान दे इस चित्र मे उनकी सूंड दाईं ओर मुड़ी हुई हो। फिर उनकी पूजा करते हुए उन्हें लौंग व सुपारी अर्पित करें। इसके बाद आपको जब भी कही काम से जाना हो तो एक लौंग व सुपारी अपने साथ ले जाए। आपको इस लौंग को चूसना व सुपारी वापस लाकर भगवान गणेश जी के सामने वापस रख दे और जाते हुए इस मंत्र को कहें: : ”जय गणेश काटो कलेश:। इस उपाय को करके आप देखेंगे कि कितनी सानी से वो काम पूर्ण हो गया जो कितने समय से रुका हुआ था।

एक लौंग से कैसे करे वशीकरण

यदि आप किसी व्यक्ति से बेहद प्रेम करते है और उसे पाने की चाह रखते है तो इस उपाय के माध्यम से आप उसे अपने वश मे कर सकते है। इस टोटके को आप शनिवार के दिन से शुरू करें और ध्यान रखे इस उपाय को अगले 7 हफ्ते तक करना होगा। तो सबसे पहले आप करना यह है कि 7 लौंग ले। इनमे से 5 लौंग को एक साफ कागज़ पर रख दे व बाकी 2 लौंग को इनके ऊपर से 7 बार घूमा ले। इसके बाद इन दोनों लौंग को भी उन 5 लौंग के साथ रखकर कागज़ मे लपेट दे। इस कागज़ को अब अपने सिराहने रखे। ऐसा आपको 7 दिन तक करना है। अब सातवे दिन उस व्यक्ति का नाम लेकर लौंग को जला दे। ध्यान रहे हर बार आपको नई लौंग लेनी होगी। इस उपाय को करके आप खुद परिणाम देख पाएंगे।

लौंग से पति वशीकरण/लौंग से स्त्री वशीकरण

यदि कोई स्त्री अपने पति को अपने वश मे करना चाहती है क्यूंकी उसे लगता है कि उसका पति किसी पराई स्त्री की ओर आकर्षित हो रहा है तो वो उसे वशीभूत करने के लिए लौंग का प्रयोग करके एक बड़ा आसान सा टोटका कर सकती है। इस टोटके को शुक्ल पक्ष के रविवार के दिन ही करना सही होगा। करना यह है कि 4 लौंग लेकर उसे अपने शरीर से स्पर्श करवा ले, जहां आपको पसीना आता है। अब इन लौंग को आप पीसकर अपने पति को खिला दे। आप इसके चूर्ण को चाय या दूध मे मिलकर उन्हे दे सकती है। ऐसा करके आप जल्द देख सकेंगी कि आपका पति आपकी ओर आकर्षित होने लगा है।

तो देखा आपने की कितने सरल उपाय है किसिकों वशीभूत करने के लिए जिसमे आप लौंग का इस्तेमाल कर सकते है। लौंग की इन खूबियों को जानकर अब ज़रूर ही आप इसे अपने kitchen मे कभी कम नहीं होने देंगे। तो खाने का स्वाद तो बढ़ाता ही है, साथ ही जीवन मे आने वाली परिशनियों से आपको निजात दिलाता है।

कोई भी साधक अचूक लौंग से वशीकरण उपाय कैसे करे के बारे में जानकारी प्राप्त कर किसी को भी वशीभूत कर सकते है| लौंग द्वारा वशीकरण टोटके विधि- लौंग से वशीकरण करने का सरल उपाय- एक लौंग से कैसे करे वशीकरण आदि के लिए तांत्रिक गुरु जी सलाह लेवे और कोई भी कार्य को सम्पन करे|

Purnima Vashikaran Mantra Totke

Purnima Vashikaran Mantra Totke


कोई भी साधक जाने पूर्णिमा के दिन वशीकरण मंत्र टोटके कैसे करें? हमारे शास्त्रों से लेकर लगभग हर जगह ही पुर्णिमा के दिन को बड़ा खास माना जाता है। इसका अपना ही एक अलग महत्व है, जिस रात चंद्रमा अपने पूर्ण रूप मे नज़र आता है। बहुत से लोग इस दिन व्रत रखते है या अलग-अलग पूजा अनुसठान करते है। इसी प्रकार से बहुत से लोग इस दिन वशीकरण उपाय भी करते है, क्यूंकी वशीकरण क्रियाओं के लिए भी यह दिन महत्वपूर्ण माना जाता है। तो चलिए ऐसे कौन-कौन से वशीकरण उपाय है जिनहे आप कर सकते है।

Purnima Vashikaran Mantra Totke

शरद पुर्णिमा के दिन यह उपाय करे। जिस दिन शुबह उठकर स्नान कर ले और एक साफ आसन पर बैठ जाए। यहाँ आपको केसर और शंख की ज़रूरत पड़ेगी। तो सबसे पहले तो केसर को घिसकर उसका लेप बना ले और इस लेप की मदद से शंख के ऊपर स्वास्तिक का चिन्ह बना दे। यहाँ आपको माँ लक्ष्मी के इस मंत्र का 108 बार जप करना है। मंत्र है: “ॐ श्री ॐ ह्नवी ॐ महालक्ष्मी नमः”। साथ मे उन्हे चावल अर्पित करें। मंत्र जप पूर्ण हो जाने के बाद सभी चावल को जमा करके एक लाल रंग के कपड़े मे रख दे। अब इस कपड़े को घर की तिजोरी मे रख दे। साथ मे उस शंख को अपने पास संभालकर रख ले। ऐसा करके माँ लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।

धन से जुड़ी समस्या से निजात पाने के लिए एक अन्य मंत्र विधि भी है। मंत्र है: “ओम एं क्लीं सोमाय नमः”। यदि आपका पैसा किसी दूसरे व्यक्ति के पास फंसा हुआ है, जो कई बार याद दिलाने पर भी आपको वापस नहीं करता या फिर किसी भी कारण से आपका धन कही भी अटका है तो इस उपाय से आप उसे वापस पा सकते है। आपको बस करना इतना है कि पुर्णिमा की रात को कच्चे दूध में चीनी और चावल मिला दे और उसे चंद्रमा को आर्ग दे दे। साथ ही ऊपर बताए गए मंत्र का 108 बार जप करे। जल्द माँ लक्ष्मी की कृपा से आपकी धन हानी सही हो जाएगी।

बहुत से लोग ऐसे होते है जो पूर्णिमा या अमावस्या के दिन को एक अजीब से बैचनी महसूस करते है। जिसका कारण वो खुद नहीं जानते। जीवन मे सब कुछ सही होते हुए भी कई बार ऐसा उन्हे ऐसा महसूस होता है। अगर पूर्णिमा या अमावस्या की रात खासतौर पर ऐसा होता है तो संभावना होती है कि किसिने आप पर जादू-टोना कर दिया होगा। ऐसे मे आप गाय का घी, गुग्गल, लौबान और पीली सरसो ले ले। इन्हे मिलाकर धूप बना ले और सूरज ढल जाने के बाद गाय के उपले पर उसे जला दे। ऐसा करके आप जादू-टोटके के प्रभाव को विफल कर सकते है।

हमारे शास्त्रों मे पुर्णिमा के दिन, माँ लक्ष्मी व पीपल के पेड़ का एक साथ बड़ा अच्छा सहयोग बताया गया है। यानि यदि कोई वक़्त शुबह जल्दी उठकर स्नान करके पीपल के पेड़ पर कुछ मीठा चढ़ाने के साथ मीठा जल अर्पित करता है व साथ मे पेड़ को धूपबत्ती दिखाता है तो इससे माँ लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।

माँ लक्ष्मी के अलावा यदि आप पुर्णिमा के दिन भगवान शिव की उपासना करते है तो खास कृपा होती है। अगर आप शिवलिंग पर इस दिन कच्चा दूध,बेलपत्र, शहद, शमीपत्र और फल चढ़ाते है तो भगवान शिव की आपके ऊपर कृपा बनी रहती है।

यदि पति-पत्नी के बीच रिश्ता अच्छा नहीं चल रहा। दोनों के बीच हर वक़्त कलह रहती है। तो ऐसे मे वो प्रत्येक पूर्णिमा को चंद्रमा को दूध का अर्घ्र दे। ऐसा करके दोनों अपने रिश्ते को मधुर बना सकते है। एक अन्य बात का भी ध्यान दोनों रखे कि पुर्णिमा या अमावस्या की रात शरारिक संबंध न बनाए। साथ ही पुर्णिमा की रात गर्भवती महिलाओं के लिए भी विशेष रूप से लाभकारी होती है। यदि गर्भवती महिला चंद्रमा की रोशीनी मे कुछ वक़्त बिताती है तो नाभि पर पड़ने वाली रोशीनी से उसका गर्भ पुष्ट होता है। बात सिर्फ गर्भ के फायदे तक ही सीमित नहीं है। चंद्रमा की रोशीनी मे वो शक्ति है जिसका अनुमान लगाना आम व्यक्ति के बस मे नहीं और ना ही इसका पूर्ण ज्ञान आम लोगों के पास होता है। यदि व्यक्ति पुर्णिमा की रात कुछ वक़्त के लिए चंद्रमा की रोशीनी को लगातार देखता है, तो इससे उसके आँखों की रोशीनी भी तेज़ होती है।

यदि कोई स्त्री अपने पति को वश मे करना चाहती है तो वो यह उपाय कर सकती है। सबसे पहले तो पीपल के 2 पत्ते ले। एक पत्ते पर काजल से अपने पति का नाम लिख दे और पेड़ के पास ही उसे उल्टा करके रख दे। ऊपर से कोई पत्थर रख दे ताकि वो उड़े नहीं। फिर दूसरे पत्ते पर भी उसका नाम लिखे, लेकिन सिदूर से। अब इस दूसरे पत्ते को अपने घर की छत पर उल्टा करके रख आए। ध्यान दे यह विधि आने वाली पुर्णिमा तक करे व आखिरी मे सारे पत्ते जमा करके उन्हे कही एक खाली जगह गड्ढे मे दबा आए। इस उपाय को करते वक़्त बस स्मरण करते रहे की आपका पति आपके वश मे हो जाये। आप खुद इस विधि का असर देख पाएँगी।

तो देखा आपने कैसे माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने से लेकर भगवान शिव को खुश करने व अपनी बाकी मुरादों को पूरा करने मे पुर्णिमा का दिन कितना महत्वपूर्ण होता है। साथ ही

चंद्रमा की रोशीनी का ना सिर्फ एक अध्यात्मिक पहलू होता है, बल्कि यह हमारे तन-मन के लिए भी बेहद फायदेमंद है। इसके अलावा इस दिन की जाने वाली पूजा-प्रार्थना का अपना अलग ही महत्व होता है।

कोई भी जाने पूर्णिमा के दिन वशीकरण मंत्र टोटके कैसे करें? और इस दिन वशीकरण कर किसी भी जरुरुआत को पूरा किया जा सकता है| पूर्णिमा पर वशीकरण करने से मनचाही सफलता प्राप्त होती है और सभी कार्य पूर्ण होते है| किसी भी उपाय को प्रयोग में लेने से पहले अवश्य गुरु जी से सलाह लेवे और जीवन में हर मुकाम में कामयाबी पाए|

Chawal se Vashikaran

Chawal se Vashikaran


चावल के दाने/पानी से वशीकरण मंत्र टोटके कैसे करें? चावल भारतीय संस्कृति के अनुसार अत्यंत ही महत्वपूर्ण वस्तु है। इसे पूर्णता का प्रतीक भी माना गया है, साथ ही साथ यह देवता का प्रिय भोग भी है। चावल का प्रयोग केवल धार्मिक विधि क्रियाओं में ही नहीं तांत्रिक क्रियाओं में भी बड़े पैमाने पर किया जाता है और इससे किए गए तांत्रिक प्रयोग बहुत ही असरदार होते हैंं। तो चलिए, आज यहां पर जानते हैं चावल के दाने से वशीकरण की प्रयोग विधि।

चावल के दाने से वशीकरण

यह है तो बहुत ही आसान किंतु अत्यंत ही असरदायक और प्रभावकारी। यह प्रयोग है-

  • “ओम् हुं ओम् हुं ही ओम् हो ही हा नमः”-चावल के दाने से वशीकरण के इस मंत्र का प्रयोग करने के लिए सबसे पहले आप चावल का एक दाना, गंगाजल से भरी हुई एक छोटी बोतल, एक कोरा कागज सफेद रंग का, लाल पेन, सिंदुर, शमशान की राख, दीपक, अल्प मात्रा में घी इत्यादि समान को एकत्रित कर लें। अब कागज पर वशिकृत करने वाले व्यक्ति का नाम अंकित करें लाल पेन से, साथ ही साथ उसकी जन्म-तिथि और उसके माता पिता का नाम भी लिखें। घी का दीपक जला लें। अब चावल का दाना ले, इसे अपने दाएं हाथ वाली हथेली पर रखें और दिए गए मंत्र का उच्चारण करें २१ बार। अब अपने इस चावल वाले हथेली को दीपक के ऊपर से पाँच बार वार लें। जिस कागज पर वशीकरण के लिए व्यक्ति का नाम लिखा हुआ है उसे भी दीपक के ऊपर से पाँच बार घुमाए। अब चावल के दानों पर सिंदूर लगाए और वापस से दीपक के ऊपर से पांच बार घुमाएं। नाम लिखे हुए कागज के ऊपर चावल के दाने को रखकर उसके ऊपर थोड़ी सी शमशान की राख डाल दें। फिर से कागज को चावल सहित दीपक के ऊपर से घुमाकर मोड़ लें व गंगाजल की शीशी के अंदर डाल दें। इसे लेकर श्मशान घाट पर जाएं तथा किसी वृक्ष के नीचे मिट्टी को खोदकर दबा दें व वापस घर आ जाएं। आते वक्त पीछे मुड़कर ना देखें और घर आकर स्नान कर लें। इस क्रिया को आप रात १२:०० बजे ही करें।
  • “ओम् ह्वीं कात्यायनायै स्वाहा, ह्वीं श्रीं कात्यायनायै स्वाहा”-इस मंत्र को प्रयोग करने के लिए आपको एक सफेद कागज, लाल स्याही, गुलाब जल, किसी चिता की राख, अखंडित चावल का एक दाना और रविवार के दिन की जरूरत पड़ेगी। संबंधित दिन को आप कागज के ऊपर उस व्यक्ति का नाम लिख दें जिसे आप वश में करना चाहते हैं, इस समय लाल स्याही का उपयोग करें। अब कागज पर नाम लिखे हुए स्थान पर राख रख दे और अपने बाए हाथ की हथेली में चावल रखें और ऊपर दिए गए मंत्र का जाप करें १८१ बार। जाप समाप्त होने के बाद चावल के दाने पर तीन बार फूंक मारें। अब इस दाने को नाम लिखे हुए कागज के ऊपर रख दे और कागज को मोड़ कर गुलाब जल की शीशी में डाल दें। इसे किसी सुनसान जगह जाकर किसी भी पेड़ के नीचे गाड़ दें।
  • पूर्णिमा वाले दिन अथवा किसी भी दिन किसी शुभ मुहूर्त में कुछ चावल के दानें लें। इन्हें हल्दी अथवा केशर से रंग कर पीला कर लें। ध्यान रहे सारे चावल अखंडित ही रहें। अब इन रंगे हुए चावलों को अर्पित कर दे किसी मंदिर में जाकर भगवान को। भगवान से अपनी इच्छा पूर्ति की प्रार्थना करें, कोई आपको अगर परेशान करता है तो उसके लिए भी भगवान से प्रार्थना करें। सच्चे मन से की गई पूजा और प्रार्थना से वह व्यक्ति आपके वश में हो जाएगा और आपको परेशान करना छोड़ देना। चावल का यह टोटका साधक की हर मनोकामना पूर्ण करने में सहायक है।
  • चावल के ४० साबूतदाने और काली उड़द की दाल के साबुत ३८ दाने लेकर आपस में मिला दें। अब किसी सुनसान स्थान पर एक गढ्ढा खोदें और उन दानों को दबा दें। इसके ऊपर निंबू काटकर निचोड़ दें। इस वक्त उस व्यक्ति का ध्यान करे व नाम लें जो आपको परेशान करता हो और जिसे आप अपने वश में करना चाहते हैं। चावल के इस वशीकरण टोटके से शत्रु आपको परेशान करना छोड़ देगा और आपके वश में हो जाएगा।
  • किसी भी व्यक्ति को वश में करने और अपनी मनचाही मनोकामना की पूर्ति के लिए आप यह उपाय अपनाएं। इसके लिए शुक्रवार के दिन का चयन करें। संबंधित रात को १०:०० बजे के उपरांत इस क्रिया को करें। सबसे पहले एक चौकी ले, उसके ऊपर एक कलश रखे मिट्टी का। अब शुद्ध केसर को घोंट ले पानी की सहायता से तथा इससे बने पेस्ट से स्वास्तिक का चिन्ह अंकित कर दे कलश के ऊपर। इसके बाद कलश में पानी डालें। फिर इसमें दुर्बा, चावल और एक रूपये का एक सिक्का डाल दें। अब एक छोटी सी प्लेट लें, इसमें चावल भरे और इसे रख दें कलश के ऊपर। तत्पश्चात श्री यंत्र को स्थापित कर दें इसके ऊपर। अब कलश के पास एक चौमुखी दीपक जलाएं, इसका चावल और कुमकुम से पूजन करें। दस मिनट तक शुद्ध व सच्चे मन से अपनी मनोकामना पूर्ति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करें। जिसे आप वश में करना चाहते हैं उसका ध्यान करते हुए ईश्वर से प्रार्थना करें। अगर आपको धन सम्बन्धी परेशानी है तो मां लक्ष्मी का ध्यान करें। आपकी मनोकामना की पूर्ति होगी।

चावल के दानों के अन्य प्रयोग

  • प्रति सोमवार स्नानोपरांत स्वच्छ वस्त्र को धारण करें तथा एक या आधा किलो चावल लेकर शिवालय जाएं। वहां पर शिवलिंग के पास इन चावलों का ढेर लगा कर उसको आसन की तरह जमा दें और उसपर कर बैठ जाएं। अब भगवान शिव की पूजा अर्चना करें। पूजा समाप्ति के बाद एक मुट्ठी चावल लेकर शिवलिंग पर अर्पित करें तथा शेष बचे हुए चावल को किसी जरूरतमंद को दान कर दें। इस उपाय को पाँच सोमवार तक बिना नागा करे, यह आपकी धन संबंधी सभी परेशानियों से आपको छुटकारा दिलाएगा।
  • कुछ दिनों तक कौओं को मीठे चावल खिलाने से भी नौकरी संबंधी परेशानी दूर होती है या किसी के व्यवसाय में कोई तकलीफ या परेशानी है तो उससे भी निजात पाया जा सकता है।
  • जाने चावल के दाने/पानी से वशीकरण मंत्र कैसे करें और किसी भी स्त्री या पुरुष को चावल से करे तुरंत अपने वश में| किसी भी उपाय को जीवन में उपयोग करने से पहले जरूर गुरु जी सलाह लेकर ही करे प्रयोग जीवन में हर कार्य होगा पूर्ण|
Manchaha Pyar ka Vashikaran

Manchaha Pyar ka Vashikaran


जब बात की जाए एक मनचाहे जीवनसाथी की या मनचाहे प्यार की तो भला कौन नहीं चाहेगा की उसका पार्टनर उसकी ही पसंद का हो। लेकिंन यह ज़रूरी नहीं होता की इंसान को हमेशा उसके पसंद का साथी मिल जाए। patch up- break up की कहानियाँ आय दिन सुनाई देती है। पर मनचाहे प्यार का न मिल पाना बड़ा दुखभरा लम्हा होता है। तो चलिये हम यहाँ आपको कुछ ऐसे उपाय व टोटके बताते है जिसकी मदद से कोई भी व्यक्ति मनचाहा प्यार हासिल कर सकता है।

मनचाहा प्यार पाने के लिए वशीकरण

यदि आप सहदेई के कमाल के बारे मे नहीं जानते तो हम आपको बता दे की सहदेई की जड़ के इस्तेमाल से आप ऐसा टोटका कर सकते है, जिससे आपको आपका प्यार हासिल हो सकेगा। यदि किसी स्त्री से आप प्रेम करते है लेकिन वो आपके प्यार को नहीं समझ रही तो आप इसकी जड़ को अपनी कमर में बांध ले। फिर उस स्त्री के पास जाए। इससे उसका आकर्षण आपके प्रति बढ़ेगा।

मनचाहा प्यार पाने का अचूक शाबर मन्त्र

अगर आपके प्रेमी या प्रेमिका मे आपके प्रति आकर्षण कम होने लगा है, जिस वजह से आप परेशान रहते है तो चीते के फल को शहद के साथ मिला ले और अन्न व जल के माध्यम से आपने प्रेमी या प्रेमिका को खिलाए। ऐसा करके आप देखेंगे की उसका आकर्षण फिर से आपके प्रति बढ़ने लगा है।

यदि आप भगवान विष्णु और लक्ष्मी माँ की आराधना करते है तो उनकी कृपा से भी अपने मनचाहे प्यार को प्राप्त कर सकते है। बस सामने वाले व्यक्ति को लेकर आपके दिल मे किसी भी प्रकार की खोट नहीं होनी चाहिए। सबसे पहले एक मंत्र जान ले। मंत्र है: “ओम लक्ष्मी नारायण नमः”। शुक्ल पक्ष में गुरुवार के दिन आप इस साधना विधि को करें। ध्यान दे की इसे आपको अगले 3 महीने तक जारी रखना होगा। यानि 3 महीने तक रोज 3 माला जप करके हर गुरुवार के दिन मंदिर जाकर प्रसाद चढ़ाना आए। ऐसा करने के बाद आप खुद देख सकेंगे की कैसे दूसरा व्यक्ति जिससे आप प्रेम करते है, वो आपकी ओर खिचा चला आएगा।

मनचाहे प्यार को पाने के लिए अगर आप इस टोटके का सहारा ले रहें है तो ध्यान दे की इसे शनिवार के दिन करें। अब करना यह है आपको कि एक सुंदर आकृति वाली पुतली तैयार कर ले। जब पुतली तैयार हो जाए तो उसके पेट पर उस स्त्री का नाम लिख दे जिसे आप प्रेम करते हैं। नाम लिखने के बाद आप इसे लेकर उस स्त्री को एक बार दिखा दे और इसके बाद पुतली को अपनी छाती से लगाकर रखें। आप देख पाएंगे की कैसे इस टोटके के असर से वो स्त्री आपकी ओर आकर्षित हो जाएगी।

मनचाहा प्यार कैसे पाये

जीस व्यक्ति या स्त्री से आप प्यार करते है, पर उसको हासिल करने की राह मे अडचण आ रही है, तो आप बिना हिचके भगवान श्री कृष्ण की शरण ले सकते है। एक मंत्र सबसे पहले जान ले, जोकि है: ओम हुं ह्रीं सः कृष्णाय नमः”। मंत्र जप के वक़्त आप भगवान श्रीकृष्ण के साथ श्रीमति राधारानी की प्रेममय तस्वीर को रखे, जिसे देख आपके दिल मे सच्चे प्यार का एहसास होता रहें या कहे की तस्वीर के माध्यम से आप उनका ध्यान करते रहें। मंत्र जप के बाद भगवान श्रीकृष्ण के ऊपर शहद का छिड़काव करना न भूले। भगवान की कृपा से जल्द ही वो व्यक्ति आपकी ओर आकर्षित होने लगेगा, जिससे आप प्यार करते है। पर ध्यान दे भगवान सच्चे दिल से की प्रार्थन ही सुनते है। दिल मे छलकपट होने पर अक्सर प्रार्थना स्वीकार नहीं होती।

manchaha pyar pane ke upay

किसी व्यक्ति को जिसे आप दिलो-जान से प्यार करते है, इस कामाख्याप देवी की मंत्र साधना से अपने वश मे कर सकते है। शनिवार के दिन इस साधना को करें और 31 दिनों तक आपको यह विधि करनी होगी। बताए जाने वाले मंत्र 1144 बार जप करना होगा आपको। मंत्र: “कामाख्याआ देश कामाख्याप देवी, जहां बसे इस्माईइल जोगी, इस्माआइल जोगी ने लगाई लवारी, फूल तोडे लोना चमारी, जो इस फूल को सूँघे बास, तिस का मन रहे हमारे पास, महल छोडे, घर छोडे, आँगन छोडे, लोक कुटुम्बू की लाज छोडे, दुआई लोना चमारी की, धनवन्तपरि की दुहाई फिरै”। साधना करते समय अपने सामने लोबान, दीप और शराब रखें। जो इस साधना के लिए ज़रूरी है और फिर एक फूल को मंत्र द्वारा 50 बार अभिमंत्रित करके उस व्यक्ति को दे दे। इस फूल को सूँघते ही उस व्यक्ति पर वशीकरण का असर हो जाएगा।

मनचाहा प्यार पाने के टोटके

यदि आप मनचाहा प्यार चाहते है या आपने किसिकों पसंद कर रखा है पर किसी कारण से आप दोनों मे मन-मुटाव है, या विचार नहीं मिलते। आपके दिल मे उस व्यक्ति को खोने का डर है, तो इस उपाय को करें। मंत्र: “ओम क्लीं कृष्णाय गोपीजन वल्लभाय स्वाहः” – आपको शुक्रवार के दिन बताए मंत्र का 108 बार जाप करना है। जाप करते वक़्त आप भगवान श्री कृष्ण और श्रीमति राधा की प्रतिमा के सामने बैठे और पूरे विश्वास के साथ इस मंत्र विधि को करें। जल्द ही सामने वाला व्यक्ति आपके प्रति आकर्षित होने लगेगा।

16 सोमवार के व्रत के बारे मे भला किसने नहीं सुना होगा। बता दे की 16 सोमवार का व्रत रखने और भगवान शिव का रुद्राभिषेक करने से आप मनचाहा प्यार हासिल कर सकते है। जी हाँ, पूर्ण श्रद्धा के साथ यह उपाय करने से आप भगवान शिव की कृपा से मनचाहा प्यार हासिल कर सकते है।

मनचाहा प्यार पाने के उपाय तरीका

ऊपर बताए तमाम उपायों व टोटकों से उम्मीद हैं आपको मदद मिलेगी। लेकिन इस बात का हमेशा ध्यान रखे की किसी भी इंसान को आप उसकी इच्छा के विरुद्ध जाकर पाने की कोशिश न करें। किसी भी काम को करने से पहले हमें सामने वाली की भावना का ध्यान रखना चाहिए और प्यार ऐसी चीज़ है जिसे प्यार से ही जीता जा सकता है, इसीलिए निजी स्वार्थ से बचकर चले।

अपने बिछड़े हुए खोया प्यार को वापिस पाने के तांत्रिक टोटके उपाय मंत्र

मनचाहा प्यार पाने के लिए वशीकरण अचूक शाबर मन्त्र का प्रयोग कर पाए मनचाहा प्यार को और जाने इसके उपाय तरीके| मनचाहा प्यार कैसे पाये करे प्रबल टोटका और करे किसी भी प्रेम को अपने वश में| कोई भी उपाय के लिए गुरु से सहायता जरूर लेवे|

Beta Bahu ko Vash me Karne ka Upay Mantra Tarika

Beta Bahu ko Vash me Karne ka Upay Mantra Tarika


सास-बहू एक ऐसा रिश्ता है, जिसकी कहानी सबके सामने एक खुली किताब के समान है। आजकल यह बेहद ही आम धारणा हो गई है कि सास-बहू के बीच बात बन पाना बेहद मुश्किल है और इन दोनों की आपस मे कभी नहीं पटने वाली। लेकिन कुछ ऐसे भी घर होते है जहां सास-बहू का रिश्ता बहुत अच्छे तरीके से चलता है। परंतु अफसोस की बात यह है कि अक्सर सास-बहू के बीच लगातार बनी रहने वाली तकरार घर मे अशांति का महोल बना देती है। तो चलिए हम आपको कुछ ऐसे टोटके विधि व उपाय बताते है, जिसकी मदद से कोई भी सास अपनी बहु को अपने वश मे कर सकती है।

Beta Bahu ko Vash me Karne ka Upay Mantra Tarika

बहू को अपने वश मे करने के लिए यह उपाय करे। 7 बादाम लेकर उसे पीस ले व एक ग्लास दूध मे मिलाकर उसे बहू को रात सोने से पहले दे आए। आप इस सरल से उपाय को महीने के किसी भी शनिवार के दिन से शुरू कर सकती है। महीने के तीन शनिवार इस उपाय को करके आप फर्क महसूस कर सकेंगी और न ही इस टोटके या उपाय को करने मे कोई ज्यादा मेहनत करनी है।

यदि बहू के साथ आप सारी कोशिशे करके थक चुकी है, फिर भी वो आपकी बात नहीं मानती। तो आप यह टोटका करके उसे अपने वश मे कर सकती है। सबसे पहले सवा मीटर एक काला कपड़ा ले और इसके साथ 5 मिठाई भी ले। मिठाई आप अपनी पसंद से कोई सी भी ले सकती है। इस विधि मे थोड़ा सा मुश्किल काम बस इतना करना होगा कि आपको उस जगह कि मिट्टी चाहिए होगी जिस जगह काले रंग का कुत्ता बैठा होगा। मिट्टी मिल जाने पर आप थोड़ी सी मिट्टी उन 5 मिठाइयों पर डाल दे। साथ मे थोड़ा सा सिंदूर भी ऊपर से छिड़क दे। इसके बाद सारा समान उस काले रंग के कपड़े मे डाल दे। अब इसे लेकर बहू के बिस्तर के 5 चक्कर लगाते हुए मन ही मन प्राथना करे कि बहू उसके वश मे हो जाए व दोनों के रिश्तों मे मिठास आ जाए।

सास-बहू के बीच अगर झगड़े बंद होने का नाम नहीं ले रहे हो तो बहू को चाहिए कि वो पुर्णिमा की रात को खीर बनाकर चंद्रमा की किरणों मे रख दे। इसके बाद वोही खीर अपनी सास को खिला दे। तो देखा आपने रिश्तों को संभालने का कितना सरल व मीठा उपाय है यह।

यदि बहू की सास व ससुर दोनों के साथ ही नहीं बन रही तो वो एक आसान सा तरीका यह आजमाए कि शुक्ल पक्ष मे रविवार के दिन से विधि को आरंभ करे। वो प्रतिदिन जल में गुड़ मिलाकर रख दे। इसके बाद रोज सुबह स्नान के बाद एक तांबे के बर्तन मे उस जल को रख सूर्यदेव को अर्पित कर दे। कुछ वक़्त तक ऐसा करके जल्द ही घर मे लोगों के बीच रिश्ते सुधरने लगेंगे।

अगर बहू आपकी इज्जत नहीं करती या किसी भी कारण से आप दोनों के बीच टकरार रहता है, तो ऐसे मे भगवान श्री कृष्ण की मदद ले। आप कृष्ण जी की आराधना करे। इसके लिए किसी भी शुक्रवार के दिन गुप्त रूप से प्रातः काल उठकर स्नान कर ले। इसके बाद भगवान श्री कृष्ण का ध्यान करते हुए 3 छोटी इलायची को अपने शरीर से स्पर्श करवा ले। फिर इन तीनों इलायची के दानों को कही सुरक्षित जगह पर रख दे। जब शनिवार का दिन आए तो इन्हे पीसकर किसी खाने मे मिला ले व अपनी बहू को खिला दे। ऐसा करके आप बहू को अपने वश मे कर पाएँगी।

जादू-टोने, टोटके व वशीकरण की विधि के अलावा कुछ ऐसे सरल बातें भी होती है जिनका यदि ध्यान रखा जाए व पालन किया जाए तो घर मे रिश्तों के बीच शांति बनी रह सकती है। जैसा कि आप अपने घर के मुख्य द्वार पर बाहर की ओर श्वेतार्क (सफेद आक के गणेश) ज़रूर लगाये। साथ ही गले मे चांदी की चेन पहने। आप किसी भी व्यक्ति से कोई भी सफ़ेद रंग की चीज़ लेने से बचे। कई बार बचाव ही उपाय होता है। आप शुक्ल पक्ष के पहले बृहस्पतिवार से अपने माथे पर हल्दी या केसर से तिलक लगाना भी शुरू कर सकते है। इससे घर मे सकारात्मक ऊर्जा आती है।

तुलसी के चूर्ण को आप अगर सहदेई के रस के साथ मिलाकर उसका तिलक करती है तो यह भी कमाल का टोटका है। इस तिलक को लगाने के बाद आप जिसके सामने भी जाएंगी, तो इसे देख वो व्यक्ति आपसे प्रभावित हो जाएगा। यानि अपनी बहू को इस विधि से आप प्रभावित कर सकती है।

वास्तुशास्त्र की माने तो घर मे सास-ससुर का रूम हमेशा दक्षिण-पश्चिम दिशा की ओर होना चाहिए। लेकिन बेटे-बहू का रूम पश्चिमी या दक्षिण दिशा की ओर होना चाहिए। तो यानि बेटे बहू का रूम दक्षिण-पश्चिम दिशा की ओर हुआ तो इसकी वजह से बहू की सास-ससुर से अनबन बनी रहती है। तो इस बात का भी अवश्य ध्यान रखे। बहू के साथ अनबन को खतम करने के लिए सास चांदी का एक चौकोर टुकड़ा अपने पास रख ले। ऐसा करने से दोनों के बीच कटुता खतम होने लगती है। तो देखा कैसे कुछ छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर भी रिश्तों को संभाला जा सकता है।

रिश्तों मे शांति व मिठास लाने के इरादे से आप ऊपर दिए गए उपायों को ज़रूर ही कर सकती है। बस ध्यान रखे की कभी भी संदेह मे आकर कुछ ना करे, क्यूंकी अक्सर ही ऐसा होता है कि बहू के आने के बाद सास को लगता है कि बेटा धीरे-धीरे उसके हाथ से निकल रहा है। तो कोई भी टोटका या विधि महज़ जलन या संदेह की दृष्टि से ना करे।

सास ससुर को वश में करने के तांत्रिक उपाय टोटका

कोई भी साधक बेटा बहू को वश में करने का उपाय मंत्र टोटका तरीका जानकर अपने पुत्र वधु को अपने पुत्र को काबू में रखा सकते है| कोई भी उपाय से पहले अवश्य गुरु से परामर्श कर लेवे|

Mangalwar Vashikaran Mantra Totke

Mangalwar Vashikaran Mantra Totke


मंगलवार के दिन का वशीकरण मंत्र के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपके लिए जरूर ही फलदायक होगा। मंगलवार के दिन को हनुमान जी के दिन के रूप में भी चिन्हित किया गया है और कहा जाता है कि इस दिन किए जाने वाला टोटका विशेष रूप से प्रभावशाली और सिद्ध होता है। तो इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमने भी आज यहां पर पेश किया है मंगलवार के दिन का वशीकरण मंत्र, जो आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगा। यह है-

Mangalwar Vashikaran Mantra Totke

  • “ओम् नमो भगवते रुद्राय संदृष्टि लंपिनाहर स्वाहा। कंसासुर की दुहाई।” वशीकरण के इस मंत्र के प्रयोग के लिए आपको मंगलवार का दिन, एक एकांत स्थान, काले रंग के वस्त्र पहनने के लिए, काला रंग का आसन और रुद्राक्ष की माला की आवश्यकता पड़ेगी। किसी भी मंगलवार के दिन ब्रह्म मुहूर्त में स्नान से निवृत्त होकर काले रंग का वस्त्र धारण कर किसी एकांत स्थान पर काले रंग का आसन बिछाकर बैठ जाएं। फिर ऊपर किए गए मंत्र का १२० बार जाप करें। जाप के लिए केवल रुद्राक्ष की माला का व्यवहार करें। इस क्रिया को दस मंगलवार तक प्रति मंगलवार करें तथा अंतिम मंगलवार को इसका दशांश हवन करें और ब्राह्मण-भोज करें। जिस स्त्री की कामना लेकर इस मंत्र को आप ने किया है वह आपके वश में हो जाएगी।
  • मंगलवार के दिन २५० ग्राम जौ के आटे की कच्ची-पक्की रोटी बनाएं अर्थात रोटी एक तरफ से ही सेकें दूसरी तरफ कच्ची छोड़ दें। अब रोटी के कच्चे भाग की तरफ सिंदूर लगाएं तथा थोड़ा सा दही और कुछ मीठा रखें। यह सब समान इतनी मात्रा में रखे कि रोटी का कच्चा वाला भाग जो दिख रहे है वह पूरी तरह से ढक जाए। अब इस रोटी के ऊपर नीचे दिए गए मंत्र का जाप करें १०८ बार। जप की समाप्ति के बाद उस रोटी के दो टुकड़े कर किसी कुत्ते को खिला दें। जिस स्त्री के लिए यह वशीकरण क्रिया की गई है वह तुरंत ही आपके वश में आ जाएगी। मंत्र है- “ओम् ठ: ठ: ठ: ठ: अमुक ( वश में की जाने वाली स्त्री का नाम) वशमा स्वाहा, ह्वीं क्लीं श्रीं श्रीं क्लीं स्वाहा”

मंगलवार के दिन पति का वशीकरण

  • किसी भी मंगलवार के दिन इस प्रयोग को करें। इसके लिए एक सफेद रंग का कागज, तीन लौंग और एक लाल रंग का पेन लें। कागज के ऊपर पेन से उस व्यक्ति का नाम लिख दे जिसे आप को वशीकरण करना है। इसके बाद तीनों लौंग को इस कागज के ऊपर रख दे तथा नीचे दिए गए मंत्र का पाँच बार जाप करें। मंत्र जाप की समाप्ति के बाद लौंग सहित कागज को लपेट कर अपने पास रखें तथा तीन घंटे बाद इसे वापस जला दें। ऐसा करते ही वह व्यक्ति खुद चला कर आपको फोन करेगा और फोन करने के साथ ही आप के वशीभूत हो जाएगा। मंत्र है- “अमुक (पति/पत्नी) का नाम जय जय सर्वव्यान्नम: स्वाहा” ।
  • मंगलवार के दिन वशीकरण मंत्र के अंतर्गत आप इस शक्तिशाली मंत्र को भी अपना सकते हैं । मंत्र का जाप करते समय एक पान पत्ता अपने सामने रखें। आप इसको देखते हुए नीचे दिए गए मंत्र का जाप करें ११०० बार। जाप समाप्त होने के बाद यह पत्ता आप अपने पति/पत्नी को खिला दे, वह आजीवन आपके वश में रहेगा/रहेगी। मंत्र है- “ॐ वषम कामाख्या लो जहद गकडफज नमः”।
  • किसी भी मंगलवार के दिन फूल वाला एक साबत लौंग लें। इसे आप अपने घर के मंदिर में हनुमान जी की तस्वीर के सामने रखत दें। बगल में सरसों तेल का दीपक जलाएं। अब “जय श्री राम” मंत्र का उच्चारण करें २१ बार। इसके बाद एक बार हनुमान चालीसा का पाठ करें। अब लौंग को अपने सीधे हाथ से उठाकर जिसे वश में करना है उसका नाम लें, ईश्वर से प्रार्थना करें कि आपकी मनोकामना की पूर्ति हो और इसके बाद लौंग को दीपक के ऊपर से तीन बार वार ले घड़ी की उल्टी दिशा में। अब इसे किसी सुनसान स्थान पर ले जाए, दक्षिण की तरफ मुंह करके आंख बंद करें एवं लौंग को बिना देखे जितना दूर हो सकता है फेंक दें। वापस घर आ जाए और आते वक्त किसी से भी बात ना करें।

मंगलवार के दिन वशीकरण करने का उपाय

  • हर मंगलवार को सुबह स्नानोपरान्त शुद्ध वस्त्र धारण कर नजदीक के शिवालय जाए। वहां पर शिव जी का अभिषेक करे गुड़ मिश्रित जल से। “ओम् नमः शिवाय” मंत्र का जाप करें १०८ बार और शिव जी से अपनी मनोकामना की पूर्ति की अर्थात जिसे आप को वश में करना है उसके लिए प्रार्थना करें। इस क्रिया को आप ९ मंगलवार तक दोहराएं। आपको अभीष्ट फल की प्राप्ति होगी।
  • “ओम क्लीम हनुमते नमः” इस मंत्र का जाप हर मंगलवार करें। जाप संख्या रखें सात माला, प्रत्येक मंगलवार। जाप प्रारंभ करने के पहले आप अपने सामने एक पान पत्ता रखें और मंत्र जाप कर उसमें फूंक मारें। अब इस पत्ते को आप किस जगह सावधानी से रख दें। दूसरे मंगलवार को भी आप इसी क्रिया को दोहराएं। इसी तरह सातों मंगलवार को आप मंत्र पाठ करें और फूंक मारकर सारे पत्तों को एक जगह एकत्रित कर दें। अब आप अगले मंगलवार वापस एक पान पत्ता ले। इसके उपर जिसे आप को वश में करना है उस व्यक्ति का नाम लिखें। नाम लिखने के लिए सिंदूर में पानी मिलाकर पेस्ट बना लें और इसे व्यवहार करें। सब पत्तों को एक साथ मिलाकर अपने सर के ऊपर से तीन बार वार ले घड़ी की उल्टी दिशा में तथा किसी बहते जल में प्रवाहित कर दें। आपको तुरंत ही वशीकरण का प्रभाव देखने को मिलेगा।

मंगलवार के वशीकरण टोटके

एक सफेद कागज,आधा मीटर काला रंग का कपड़ा, पान की एक साबुत सुपारी, गाय का घी आदि सामग्री एकत्रित कर लें। अब कागज के ऊपर सिंदूर से उस व्यक्ति का नाम लिखो जिसे आप को वश में करना है। फिर इस कागज और सुपारी को काले कपड़े में लपेट में मंत्र पाठ करें १२१ बार। अब इसे अपने सर के ऊपर से ११ बार घुमा लें और कब्रिस्तान में जाकर घी से जला दें। इस क्रिया को किसी भी अमावस में पड़ने वाले मंगलवार के दिन करें, अभीष्ट फल की प्राप्ति होगी। मंत्र है – “ओ् क्लीम कुलुम मम (व्यक्ति का नाम) वषयं कुरूम भवन्ति स्वाहा।”

मंगलवार एक प्रभावशाली वार है जिसके दिन होने वाले वशीकरण उपाय/टोटके बहुत ही प्रभावशाली होता है| इसके दिन सिद्ध किये जाने वाले मंत्र बहुत बेहतर तरीके से कार्य करते है और किसी भी उपाय को प्रयोग में लेने से जरूर पहले गुरु जी से परामर्श करे|

Stri ke Rumal se Pati Vashikaran

Stri ke Rumal se Pati Vashikaran


पति-पत्नी के रिश्तों मे कटास आना कोई नई बात नहीं है, ना ही यह कोई बड़ी बात है। रिश्ते है तो उनमें अनबन होती ही रहती है। यहाँ हम खासकर महिलाओं के लिए कुछ ऐसा उपाय व विधिया बता रहे है जिनकी मदद से वो अपने पति को वश मे कर सकती है। किसिकों वश मे करने का मतलब यह भी नहीं है कि बिना बात के किसिकों भी अपना गुलाम बना ले व उससे अपने मन के काम करवाना। हर व्यक्ति अपनी ज़िंदगी मे स्वतन्त्रता चाहता है। जिसका विशेष ध्यान रखना होता है, वरना रिश्तें और खराब हो सकते है। तो जिन भी महिलाओं को लगता है कि उनका पति उनपर ध्यान नहीं दे रहा, या हर वक़्त वो उन्हें नज़रअंदाज़ करता है या किसी दूसरी स्त्री के प्रेम मे फंस चुका है, ऐसे मे वो कुछ विधियों का प्रयोग करके अपने पति को अपनी तरफ कर सकती है। तो चलिए जानते है कि आखिर वो कौन-कौनसे तरीके है, जिसमे रुमाल की मदद से वशीकरण को किया जा सकता है।

Stri ke Rumal se Pati Vashikaran

अपनी पति पर वशीकरण करने के लिए सबसे पहले तो आप उसका एक रुमाल ले। फिर एक नींबू ले और उसपर पति का नाम लिख दे। वैसे भी नींबू वशीकरण प्रक्रिया में काफी असरदार माना जाता है। नींबू पर नाम लिखने के बाद उसको रुमाल मे रखकर बांध ले। अब उसे अपनी घर की अलमारी या अपने हैंडबैग मे रख ले। इसे आप 7 दिनों तक अपने पास रखे। 7 दिन पूरे होने पर उसे किसी चौराहे पर फेंक आए। आप देख पाएँगी की इस विधि के पूर्ण होने के बाद आपका पति आपके वश में हो जायेगा।

यह एक मंत्र विधि हम आपको बताते है। इसमे इस्तेमाल होने वाली रुमाल का रंग बस काला नहीं होना चाहिए। तो सबसे पहले मंत्र है: “ॐ नमो कट विकट घोर रूपिणी (व्यक्ति का नाम) से वशमानय स्वाः”। अब पति का रुमाल लेकर उसे 4 रातों तक अपने तकिये के नीचे रखकर सोये। ध्यान रहे हर रात सोने से पहले आपको ऊपर बताए गए मंत्र का 21 बार जाप करना है। 4 दिनों तक इस विधि को करने के बाद आखिरी मे रुमाल को कही जल मे प्रवाहित कर आए।

इस उपाय को करने के लिए आप अपने पति का रुमाल ले ले व उसके ऊपर पति का नाम लिख दे। अब इस मंत्र का 7 बार जाप करे। मंत्र है: “ॐ (व्यक्ति का नाम) वशीकरने नमो”। यह सरल विधि है। जब भी आपको लगे की पति आपकी बिलकुल नहीं सुनता या आपको हर वक़्त avoid कर रहा है तो इस विधि की मदद से उसको अपने वश मे कर सकती है।

रुमाल से वशीकरण करने के लिए आप इस सरल उपाय को करके देख सकती है। इस विधि को करने के लिए आपको सफ़ेद रंग के रुमाल चाहिए होगी। यानि अपने पति की एक सफ़ेद रुमाल ले, एक काला पेन ले, पति की फोटो रख ले व एक फिटकरी की ज़रूरत पड़ेगी आपको। अब सफ़ेद रुमाल के ऊपर पति का नाम लिख दे। इसके बाद उसमे फिटकरी को बांध दे और इसे अपने पति की फोटो के ऊपर रखकर इस मंत्र का जाप करे। मंत्र है: “मंत्र: ॐ नमो: चामुंडे जय जय वशय मालय जय जय सर्व सत्वा नम स्वाः”। ध्यान रहे मंत्र का 108 बार जप करना है और जाप पूरा होने पर रुमाल को फोटो पर से 7 बार घूमाकर कही जमीन मे गाढ़ आए। ऐसा करने पर आप जल्द ही परिणाम देख पाएँगी की पति आपके वश मे होने लगा है। वो आपकी बात मानने लगा है।

“ऊं हृीं वांछितं मे वशमानय स्वाहा”। यह वह मंत्र है जिसकी मदद लेकर आप अपने पति पर वशीकरण कर सकती है। अब आपको करना यह है कि गाय के दूध से बने घी का एक दीपक जला ले और अब स्फटिक की माला से बताए गए मंत्र का जाप शुरू करे। इस विधि को कम-से-कम एक महिना लगातार आपको करना होगा। एक महीने बाद आप खुद इसका परिणाम देख सकेंगी।

इन मंत्र विधि के अलावा कुछ और भी ऐसे टोटके है जिनके प्रयोग से स्त्री अपने पति को अपने वश मे कर सकती है व दूसरी स्त्री के प्रति उसके आकर्षण को भंग कर सकती है। इस विधि को गुरुवार या शुक्रवार की रात 12 बजे करे। रात होने पर पति के सिर की चोटी से पत्नी उसके कुछ बाल काट ले। काम ध्यान से करना होगा, ताकि पति को इसके बारे मे पता ना चले। फिर उन कटे हुए बालों को एक सप्ताह के लिए घर मे ही किसी जगह रख दे, जिसपर पति की नज़र ना पड़े। 7 दिनों का वक़्त पूरा होते ही उन बालों को जलाकर अपने पैरों से कुचल दे और घर से बाहर फेक आए।

पति पर वशीकरण करने के लिए आप रुमाल के अलावा पीपल ले पत्तों का भी प्रयोग कर सकती है। वशीकरण की इस विधि को करने के लिए आपको पीपल के 2 पत्ते चाहिए होंगे। ध्यान रखे गिरे हुए पत्ते ना उठाए। अब काजल की मदद से एक पत्ते पर अपने पति का नाम लिख दे व उसे वही पीपल के पेड़ के पास उल्टा करके रख दे। उसको के पत्थर से दबा दे।

इसके बाद दूसरे पत्ते पर सिंदूर से पति का नाम लिख दे। इस वाले पत्ते को अपनी घर की छत पर उल्टा करके रख आए व पत्थर से दबा दे। इस विधि को आने वाली पूर्णिमा तक करे। ध्यान रखे की हर दिन पीपल के पेड़ पर पानी चढ़ाते हुए प्राथना करे की पति के साथ आपके रिश्ते मे मजबूती आ जाए और यदि उसका किसी दूसरी स्त्री से कोई रिश्ता चल रहा है तो वो टूट जाए। अब जब पुर्णिमा का दिन आए तो सारे पत्तों को जमा करके उसे एक गड्ढे मे दबा आए।

उम्मीद है रिश्तों मे आई अनबन को दूर करने के इरादे से बताए गए उपाय आपके काम आएंगे। जिनका प्रयोग करके आप एक बार फिर से अपने रिश्तों मे मधुरता ला सकेंगी।

स्त्री अपने रुमाल का प्रयोग करके भी अपने पति को काबू में कर सकती है बस इसके लिए रुमाल को अभिमंत्रित करना पड़ता है| बस इसको कैसे प्रयोग करे किसी भी समस्या का समाधान के लिए गुरु जी से परामर्श करे और घर बैठे समाधान पाए|

Lal Kitab ke Vashikaran Totke

Lal Kitab ke Vashikaran Totke


लाल किताब के वशीकरण मंत्र टोटके उपाय, आज हर कोई चाहता है कि उसके संपर्क में आने वाला हर व्यक्ति उससे प्रभावित हो, उसकी बात सुने, उसके वश में रहे और इन्हीं सब इच्छाओं की पूर्ति के लिए वह कई तरह के तरीकों को आजमाता है, टोटकों का प्रयोग करता है तथा तंत्र-मंत्र की क्रियाओं का आसरा लेता है। आपके अंदर भी अगर इसी प्रकार की किन्ही इच्छाओं ने घर बना लिया है और आप भी ऐसा ही कुछ करना चाहते हैं तो आज हम आपके लिए लेकर आए हैं लाल किताब के वशीकरण टोटके। इन्हें आजमा कर कोई भी अपनी मन की मुराद को पूरी कर सकता है बशर्ते कि किसी भी बुरी भावना से किसी भी प्रयोग को कभी भी ना अपनाया जाए।

लाल किताब के वशीकरण टोटके

तो लीजिए, आप की सफलता के लिए पेश है लाल किताब के वशीकरण टोटके जो निम्नलिखित है-

  • “ओम् क्लीम कृष्णाय नम:”- यह मन्त्र लाल किताब के वशीकरण टोटके का एक अचूक मन्त्र है। इसके प्रयोग के लिए शुक्रवार के दिन का चयन करे। क्रिया प्रारम्भ करने के लिए अल्प मात्रा में सिन्दुर, सात पान के पत्ते लें। लगातार सात दिनों तक हर रोज पत्तों पर मन्त्र का पाठ करें। पाठ संख्या रखें ५५१ मंत्र प्रतिदिन। अगले शुक्रवार वाले दिन पानी व सिन्दुर की सहायता से वशीकरण करने वाले व्यक्ति का नाम लिखें एक पान पत्ते पर। फिर इसे घड़ी की दिशा की ओर अपने सर के ऊपर से वार लें २१ बार। अब इसे किसी निर्जन स्थान पक फेंक दें। सात दिनों तक इस प्रयोग को दोहराए। सात दिनों के पश्चात अर्थात आठवें दिन सम्बंधित व्यक्ति के सामने जाए और वशीकरण के प्रभाव को महसूस करें।
  • “अमुक (वशीभूत करने वाले व्यक्ति का नाम) जय जय सर्वव्यान्नम स्वाहा” – इस मंत्र का पाठ करें ११०० वार। पाठ के वक्त अपने सामने एक पान का पत्ता रखे। सिन्दूर से इस पर जिसे वश में करना है उसका नाम लिखें। पाठ समाप्ति के बाद इस पत्ते को संबंधित व्यक्ति को खिला दें, वह आजीवन आपके वश में रहेगा।
  • यदि पति आपके प्रति दुर्व्यवहार करते हैं तो उन्हें वश में करने के लिए आप यह प्रयोग कर सकते हैं। इसे आप शुक्ल पक्ष में ही करें। इस दिन एक पान के पत्ते को ले। केसर और चंदन का चूर्ण मिलाकर इसके ऊपर रख दें। ४२ दिनों तक प्रतिदिन चंडी स्त्रोत का पाठ करें व प्रतिदिन पाठ करने के पश्चात पत्ते पर रखे हुए केसर तथा चंदन के मिश्रण से अपने मस्तिष्क पर टिका करें और पति के सामने जाएं। प्रतिदिन पाठ करने के पहले पुराना पत्ता हटाकर नया पत्ता रखें और पुराने पत्ते को एक साथ एकत्रित करते रहें। जब पाठ की समाप्ति हो जाए अर्थात ४२ दिनों के बाद सभी एकत्रित पान के पत्तों को बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। लाल किताब के वशीकरण टोटका का यह टोटका बहुत ही प्रभावशाली है।
  • ब्रहस्पतिवार या शुक्रवार की अर्धरात्रि को जब आपके पति सोए हुए हों तो उनके सर से कुछ बाल काट कर कहीं पर छुपा कर रखें। इसे ऐसी जगह रखें जहां पर किसी की भी नजर ना पड़े। कुछ दिन बाद इन बालों को निकाल कर चुपचाप जला दें और उसकी राख को पैरों से कुचल के घर से बाहर फेंक दें, आपका पति आपकी हर बात मानने लगेगा।
  • अनार की टहनी को तोड़कर लाएं पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में। इसे धूप दिखा दे तथा अपनी दाहिने भुजा में बांध लें। इसके धारण करने से आप के संपर्क में आने वाले सभी व्यक्ति आपके वशीकरण के आकर्षण में बंध जाएगें।
  • “ओम् नमो महाययक्षिण्ये मम पतिं में वश्यं कुरु कुरु स्वाहा”– इस मंत्र का जाप करें। जाप संख्या रखें १० माला। अगर आपको पति के अलावा किसी और को वश में करना है तो मंत्र में पति के स्थान पर संबंधित व्यक्ति का नाम लें। १० माला का जाप समाप्त होने करने के बाद इसका दशांश हवन, मार्जन, तर्पण कर लें जिससे यह मंत्र सिद्ध हो जाएगा। अब जब कभी भी आपको किसी को अपने वश में करना है या अपने पति को वश में करना है तो इस मंत्र को फिर से सात बार पढ़े किसी मिठाई के ऊपर। इससे मिठाई अभिमंत्रित हो जाएगी। फिर इसे सम्बंधित व्यक्ति को खिला दें। ऐसा आप २१ दिनों तक लगातार करें। इस प्रयोग को करने से आपका पति या जिसे आप अपने वश में करना चाहते हैं और आपके वश में रहेगा।
  • केसर, तगर और कंचनजंगा समान-समान मात्रा में लेकर मिलाकर पीस लें। इससे बने हुए मिश्रण को आप जिस स्त्री को वशीभूत करना चाहते हैं उसके सर तथा पैर के नीचे डालें, वह आप के वशीभूत हो जाएगी।
  • कोई भी पुरुष या लड़का किसी स्त्री या लड़की को अपने वश में करना चाहता है तो उसे चाहिए कि अपने हाथ की अंगुली में पन्ना की अंगुठी पहने। इसके विपरीत अगर कोई स्त्री या लड़की किसी पुरुष अथवा लड़के को अपने वश में करना चाहती है तो उससे हीरे की अंगूठी धारण करनी होगी।
  • लाल चंदन, कंगनी, सिंदूर, काकड़सिंघी, इलायची आदि सामग्री इकट्ठी करके इसे कूट लें। इससे प्राप्त मिश्रण से धूप बना लें। जिस स्त्री को आप वश में करना चाहते हैं उसके सामने इस धूप का व्यवहार करें, वह वशीभूत हो जाएगी।
  • किसी भी शुक्रवार के दिन सवेरे भगवान कृष्ण की पूजा-अर्चना करें। उसी दिन रात को तीन इलायची लेकर अपने बदन से स्पर्श करा कर रख लें व जब पति सो जाए तो उनके पास इन्हें रख दें। दूसरे दिन अर्थात शनिवार को सुबह इन इलायची को पीस कर इनका चूर्ण बना लें। इसे किसी खाद्य-पदार्थ में मिलाकर पति को खिला दें, वे आपके वश में ही रहेगें और अगर वश में नहीं है तो हो जाएगें।

कोई भी लाल किताब का प्रयोग कर किसी को भी अपने वश में कर सकता है इसके लिए लाल किताब की सिद्धि हासिल करनी पड़ती है| साधना करने के बाद किसी का भी वशीकरण करना आसान हो जाता है कोई भी उपाय को प्रयोग में लेने से फेल जरूर गुरु जी सलाह प्राप्त करे|

Nakhun se Vashikaran Karne ke Upay Mantra Totka

Nakhun se Vashikaran Karne ke Upay Mantra Totka


एक ऐसी छोटी चीज़ नाखून से वशीकरण करने का उपाय जिसके उपरांत काफी प्रभावशाली और खतरनाक फल देती है। यह है.. ‘नाखून’.. आपका अपना नाखून। इस छोटी वस्तु से किए गए वशीकरण का शक्तिशाली प्रभाव देखने को मिला है वशीकरण के उपाय में। लेकिन मित्रों, हम आपसे बार-बार आपसे अनुरोध कर रहे हैं कि हमारे द्वारा सुझाए गए वशीकरण के मंत्र और उपाय को आप केवल तभी प्रयोग करें जब आपको इसकी बहुत ज्यादा जरूरत महसूस हो। केवल उसी समय इस प्रयोग को आजमाए जब आपको लगे कि आपका प्रेमी/प्रेमिका या पति/पत्नी आपसे किसी कारणवश दूर हो गया है और आपका आपस में बहुत प्रेम है। किसी भी दुर्भावना से यहां पर दिए गए नाखून से वशीकरण करने का उपाय मंत्र का प्रयोग अगर किया जाए तो इसका बहुत ही बुरा परिणाम व्यक्ति को झेलना पड़ सकता है। अतः इस बात का विशेष ध्यान रखें।

Nakhun se Vashikaran Karne ke Upay Mantra Totka

सफेद कागज, थोड़ा सा सिंदूर, दो-तीन बूंद पानी, अपना एक नाखून इत्यादि सामग्री एकत्रित कर लें। सबसे पहले सिंदूर में पानी डालकर इसका स्याही की तरह पेस्ट बना लें। सफेद कागज पर उस व्यक्ति का नाम लिखें अपने नाखून से जिसे आपको वश में करना है। नाम लिखने के लिए सिंदूर रूपी स्याही का प्रयोग करें। यह करने के बाद आप नीचे दिए गए मंत्र का १०२ बार जाप करें। मंत्र जाप समाप्त होने के बाद नाम लिखा हुआ कागज और जिस नाखून से नाम लिखा है उसे जला दे। इनके जलने के बाद इसकी भष्म से अपने माथे पर तिलक लगा उस व्यक्ति के सामने जाए। वह व्यक्ति वशीभूत हो जाएगा। इस क्रिया को शनिवार की मध्यरात्रि को ही करें। मंत्र है– “ॐ वश विश्य क्रोगफ ब्नाह वषयक किशोर (वशीभूत करने वाले व्यक्ति का नाम ले) फग हर्फ शोष बन्हज उजू स्व:”।

  • नाखून से वशीकरण करने का उपाय मंत्र में एक शक्तिशाली मगर खतरनाक उपाय मंत्र है जिसे आप आजमाने के पहले अच्छी तरह से सोच विचार कर ही आजमाए, क्योंकि इस उपाय को अपनाने के बाद जिसके ऊपर आपने यह प्रयोग किया है वह आजीवन आपके वश में ही रहेगा और आप चाह कर भी उससे पीछा नहीं छुड़ा सकेंगे। अत: एक बार आपसे फिर अनुरोध है कि अच्छी तरह से कुछ समय विचार करने के उपरांत ही यह प्रयोग को अपनाएं। प्रयोग करने के लिए पूर्णिमा या अमावस्या के दिन का चयन करें। अपने हाथ पैरों की २० उंगलियों के २० नाखून के छोटे टुकड़े इकट्ठा कर ले और साथ में जिसे आप को वश में करना है उस व्यक्ति का फोटो और कपूर भी इकट्ठा करें। अगर फोटो ना मिले एक सफेद कागज पर उस व्यक्ति का नाम लिख ले लाल रंग के स्याही से।
  • नाखून को एक मिट्टी के बरतन में डालकर कपूर की सहायता से जलाएं और इसके साथ फोटो या नाम लिखा हुआ कागज भी जला दे। इसका ध्यान रहे कि यह अच्छी तरह जल कर भस्म बन जाए और इधर-उधर जरा सा भी उड़े या बिखरे नहीं। अब इस राख को “ओम भगवते वासुदेवाय नमः अमुक (व्यक्ति का नाम) वस्यम कुरु कुरु स्वाहा” मंत्र का १०८ बार जाप कर अभिमंत्रित कर ले। अभिमंत्रित राख को अपने वश में करने वाले व्यक्ति को किसी तरह खिला दे। इस राख को अभिमंत्रित करने के बाद ७२ घंटे के अंदर ही व्यवहार करें वरना यहां प्रयोग निष्फल हो जाएगा। अगर पूर्णिमा या अमावस्या को ना हो सके तो आप शनि या मंगलवार को भी इस प्रयोग को कर सकते हैं।
  • नाखून से वशीकरण करने के उपाय मंत्र में एक अत्यन्त ही सरल उपाय आपके लिए प्रस्तुत है जिसे कोई भी अपना सकता है। इसके लिए सर्वप्रथम आप अपने हाथ या पैर के नाखून को काट कर ले और जिस व्यक्ति (औरत या पुरुष) पर आपको वशीकरण का प्रयोग करना है उसके खाद्य पदार्थ में मिलाकर उसे खिला दे। संबंधित व्यक्ति द्वारा यह खाना खाने से वह आपके नियंत्रण में आ जाएगा।
  • गुरु फाल्गुनी नक्षत्र में जो शनिवार पड़ता है उस शनिवार को रात्रि के समय आप नाखून से वशीकरण करने का उपाय मंत्र का यह उपाय करें– अपने हाथ- पैर के नाखून के छोटे-छोटे टुकड़ों को एकत्रित करे। इन्हे धूप दिखाकर अपने दाई भुजा में बांध ले। २१ शनिवार के पश्चात जो २२वा शनिवार पड़ता है उस दिन नाखूनों को एकत्रित कर किसी सुनसान स्थान पर जाए। वहां पर १२ मुखी रुद्राक्ष को कपूर के साथ जलाए और उसमें साथ में नाखूनों को भी जला दे। इस से बनी हुई भष्म को आप उस व्यक्ति के सर पर डाले जिसे आप अपने वश में करना चाहते हैं। वशीकरण का तत्काल प्रभाव देखने को मिलेगा।
  • कोई व्यक्ति आपको बिना कारण परेशान कर रहा है, आपके विरुद्ध में है और आप का काम बिगाड़ने की फिराक में रहता है तो उसे शांत करने का एक अनोखा उपाय– अपने हाथ पैर के नाखून काटे। इसे जला कर उसकी राख को एकत्रित करें। अब संबंधित व्यक्ति को खिला या पिला दे किसी खाद्य वस्तु के अंदर डालकर। आप पाएंगे कि वो व्यक्ति आपके वश में हो गया है और आपके अनुकूल ही काम करना लगा है। नाखून द्वारा वश में करने का यह एक शक्तिशाली उपाय सिद्ध हुआ है।हाथ या पैर के नाखून के साथ शमशान की मिट्टी मिला ले। इसके पश्चात इसे किसी खाद्य पदार्थ में मिलाकर वशीभूत करने वाले व्यक्ति के खिला दे, वह व्यक्ति आपके वश में होकर आपके सारे कहे को मानेगा। लेकिन, इस क्रिया को शुक्ल पक्ष के रविवार को ही करें।
  • रविवार को ब्रह्म मुहूर्त में अपने शय्या का त्याग करें। अपने हाथ और पैरों की सभी ऊंगलियों के नाखून थोड़ा थोड़ा काटे। इन्हें एकत्रित कर किसी मिट्टी के बर्तन में रख दे। इसके ऊपर थोड़ा सा कपूर डालकर जलाए। इसकी भष्म एकत्रित कर किसी कागज की पुड़िया में डालकर रखे। तीन रविवार तक लगातार इस क्रिया को करें। सभी भष्म को इकट्ठा कर रख ले। अब जिस व्यक्ति को वश में करना है उसके भोजन में मिलाकर खिला दे। इसे आप को अलग अलग कर तीन बार खिलाना है। व्यक्ति आपके कहे अनुसार कार्य करने लगेगा। अगर आप उसे किसी सफेद वस्तु में जैसे दूध, दही, चावल इत्यादि में डाल कर व्यवहार करे तो ज्यादा प्रभाव होगा।

नाखून वाला वशीकरण मंत्र उपाय कैसे करें कोई भी समाधान प्राप्त कर सकता है| नाखून से वशीकरण करने का उपाय मंत्र टोटका का प्रयोग कर किसी को भी अपने काबू में किया जा सकता है| कोई उपाय को प्रयोग में लेने से पहले जरूर एक बार तांत्रिक गुरु जी मशवरा करे|