Chawal se Vashikaran


चावल के दाने/पानी से वशीकरण मंत्र टोटके कैसे करें? चावल भारतीय संस्कृति के अनुसार अत्यंत ही महत्वपूर्ण वस्तु है। इसे पूर्णता का प्रतीक भी माना गया है, साथ ही साथ यह देवता का प्रिय भोग भी है। चावल का प्रयोग केवल धार्मिक विधि क्रियाओं में ही नहीं तांत्रिक क्रियाओं में भी बड़े पैमाने पर किया जाता है और इससे किए गए तांत्रिक प्रयोग बहुत ही असरदार होते हैंं। तो चलिए, आज यहां पर जानते हैं चावल के दाने से वशीकरण की प्रयोग विधि।

चावल के दाने से वशीकरण

यह है तो बहुत ही आसान किंतु अत्यंत ही असरदायक और प्रभावकारी। यह प्रयोग है-

  • “ओम् हुं ओम् हुं ही ओम् हो ही हा नमः”-चावल के दाने से वशीकरण के इस मंत्र का प्रयोग करने के लिए सबसे पहले आप चावल का एक दाना, गंगाजल से भरी हुई एक छोटी बोतल, एक कोरा कागज सफेद रंग का, लाल पेन, सिंदुर, शमशान की राख, दीपक, अल्प मात्रा में घी इत्यादि समान को एकत्रित कर लें। अब कागज पर वशिकृत करने वाले व्यक्ति का नाम अंकित करें लाल पेन से, साथ ही साथ उसकी जन्म-तिथि और उसके माता पिता का नाम भी लिखें। घी का दीपक जला लें। अब चावल का दाना ले, इसे अपने दाएं हाथ वाली हथेली पर रखें और दिए गए मंत्र का उच्चारण करें २१ बार। अब अपने इस चावल वाले हथेली को दीपक के ऊपर से पाँच बार वार लें। जिस कागज पर वशीकरण के लिए व्यक्ति का नाम लिखा हुआ है उसे भी दीपक के ऊपर से पाँच बार घुमाए। अब चावल के दानों पर सिंदूर लगाए और वापस से दीपक के ऊपर से पांच बार घुमाएं। नाम लिखे हुए कागज के ऊपर चावल के दाने को रखकर उसके ऊपर थोड़ी सी शमशान की राख डाल दें। फिर से कागज को चावल सहित दीपक के ऊपर से घुमाकर मोड़ लें व गंगाजल की शीशी के अंदर डाल दें। इसे लेकर श्मशान घाट पर जाएं तथा किसी वृक्ष के नीचे मिट्टी को खोदकर दबा दें व वापस घर आ जाएं। आते वक्त पीछे मुड़कर ना देखें और घर आकर स्नान कर लें। इस क्रिया को आप रात १२:०० बजे ही करें।
  • “ओम् ह्वीं कात्यायनायै स्वाहा, ह्वीं श्रीं कात्यायनायै स्वाहा”-इस मंत्र को प्रयोग करने के लिए आपको एक सफेद कागज, लाल स्याही, गुलाब जल, किसी चिता की राख, अखंडित चावल का एक दाना और रविवार के दिन की जरूरत पड़ेगी। संबंधित दिन को आप कागज के ऊपर उस व्यक्ति का नाम लिख दें जिसे आप वश में करना चाहते हैं, इस समय लाल स्याही का उपयोग करें। अब कागज पर नाम लिखे हुए स्थान पर राख रख दे और अपने बाए हाथ की हथेली में चावल रखें और ऊपर दिए गए मंत्र का जाप करें १८१ बार। जाप समाप्त होने के बाद चावल के दाने पर तीन बार फूंक मारें। अब इस दाने को नाम लिखे हुए कागज के ऊपर रख दे और कागज को मोड़ कर गुलाब जल की शीशी में डाल दें। इसे किसी सुनसान जगह जाकर किसी भी पेड़ के नीचे गाड़ दें।
  • पूर्णिमा वाले दिन अथवा किसी भी दिन किसी शुभ मुहूर्त में कुछ चावल के दानें लें। इन्हें हल्दी अथवा केशर से रंग कर पीला कर लें। ध्यान रहे सारे चावल अखंडित ही रहें। अब इन रंगे हुए चावलों को अर्पित कर दे किसी मंदिर में जाकर भगवान को। भगवान से अपनी इच्छा पूर्ति की प्रार्थना करें, कोई आपको अगर परेशान करता है तो उसके लिए भी भगवान से प्रार्थना करें। सच्चे मन से की गई पूजा और प्रार्थना से वह व्यक्ति आपके वश में हो जाएगा और आपको परेशान करना छोड़ देना। चावल का यह टोटका साधक की हर मनोकामना पूर्ण करने में सहायक है।
  • चावल के ४० साबूतदाने और काली उड़द की दाल के साबुत ३८ दाने लेकर आपस में मिला दें। अब किसी सुनसान स्थान पर एक गढ्ढा खोदें और उन दानों को दबा दें। इसके ऊपर निंबू काटकर निचोड़ दें। इस वक्त उस व्यक्ति का ध्यान करे व नाम लें जो आपको परेशान करता हो और जिसे आप अपने वश में करना चाहते हैं। चावल के इस वशीकरण टोटके से शत्रु आपको परेशान करना छोड़ देगा और आपके वश में हो जाएगा।
  • किसी भी व्यक्ति को वश में करने और अपनी मनचाही मनोकामना की पूर्ति के लिए आप यह उपाय अपनाएं। इसके लिए शुक्रवार के दिन का चयन करें। संबंधित रात को १०:०० बजे के उपरांत इस क्रिया को करें। सबसे पहले एक चौकी ले, उसके ऊपर एक कलश रखे मिट्टी का। अब शुद्ध केसर को घोंट ले पानी की सहायता से तथा इससे बने पेस्ट से स्वास्तिक का चिन्ह अंकित कर दे कलश के ऊपर। इसके बाद कलश में पानी डालें। फिर इसमें दुर्बा, चावल और एक रूपये का एक सिक्का डाल दें। अब एक छोटी सी प्लेट लें, इसमें चावल भरे और इसे रख दें कलश के ऊपर। तत्पश्चात श्री यंत्र को स्थापित कर दें इसके ऊपर। अब कलश के पास एक चौमुखी दीपक जलाएं, इसका चावल और कुमकुम से पूजन करें। दस मिनट तक शुद्ध व सच्चे मन से अपनी मनोकामना पूर्ति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करें। जिसे आप वश में करना चाहते हैं उसका ध्यान करते हुए ईश्वर से प्रार्थना करें। अगर आपको धन सम्बन्धी परेशानी है तो मां लक्ष्मी का ध्यान करें। आपकी मनोकामना की पूर्ति होगी।

चावल के दानों के अन्य प्रयोग

  • प्रति सोमवार स्नानोपरांत स्वच्छ वस्त्र को धारण करें तथा एक या आधा किलो चावल लेकर शिवालय जाएं। वहां पर शिवलिंग के पास इन चावलों का ढेर लगा कर उसको आसन की तरह जमा दें और उसपर कर बैठ जाएं। अब भगवान शिव की पूजा अर्चना करें। पूजा समाप्ति के बाद एक मुट्ठी चावल लेकर शिवलिंग पर अर्पित करें तथा शेष बचे हुए चावल को किसी जरूरतमंद को दान कर दें। इस उपाय को पाँच सोमवार तक बिना नागा करे, यह आपकी धन संबंधी सभी परेशानियों से आपको छुटकारा दिलाएगा।
  • कुछ दिनों तक कौओं को मीठे चावल खिलाने से भी नौकरी संबंधी परेशानी दूर होती है या किसी के व्यवसाय में कोई तकलीफ या परेशानी है तो उससे भी निजात पाया जा सकता है।
  • जाने चावल के दाने/पानी से वशीकरण मंत्र कैसे करें और किसी भी स्त्री या पुरुष को चावल से करे तुरंत अपने वश में| किसी भी उपाय को जीवन में उपयोग करने से पहले जरूर गुरु जी सलाह लेकर ही करे प्रयोग जीवन में हर कार्य होगा पूर्ण|

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s