Mohini Vashikaran Mantra


कोई भी साधक मोहिनी वशीकरण मंत्र प्रयोग द्वारा किसी भी गर्ल/बॉय को वह में कर सकते है| मोहिनी वशीकरण लगाउने मंत्र- जीवन सुचारु और सरल तरीके से चलता रहे, इसके लिए समाज में मनुष्य द्वारा कई रिश्ते बनाए गए हैं। इनमें से हर एक की अलग पहचान होती है, अलग महत्व होता है और इन्हीं के हिसाब से इन रिश्तों को निभाया जाता है। रिश्तों को सही तरीके से निभाने के लिए कुशलता की जरूरत पड़ती है। लेकिन, विशेषकर किसी स्त्री पुरुष के प्रेम संबंधित रिश्तो को कायम रखने एवं निभाने के लिए विशेष कुशलता की जरूरत होती है। इनमें कभी-कभी आपस में मनमुटाव हो सकता है, कभी-कभी इस रिश्ते को गंभीरता से नहीं लिया जाता है। फलस्वरूप जीवन में निराशा बढ़ने लगती है। ऐसे में लोग अपना पुराना प्यार और अपने साथी की चाहत पाने के लिए विभिन्न उपायों के साथ-साथ वशीकरण की भी सहायता लेते हैं। अगर प्यार सच्चा और वशीकरण का उद्देश्य उचित है तो वशीकरण के विभिन्न उपायों में किसी को भी अपनाने में कोई भी हानि नहीं है।

मोहिनी वशीकरण मंत्र

मोहिनी वशीकरण मंत्र का प्रयोग अपने प्यार को वापस पाने के लिए बिना किसी बुरे मकसद से किया जाए तो आप आपके लिए प्रस्तुत है मोहिनी वशीकरण मंत्र। ये हैं-

लाल रंग का एक आसन, कुछ सबूत लवंग, सुगंधित अगरबत्ती, सरसों तेल, पांच गुलाब का फूल, पांच प्रकार की मिठाई इत्यादि समान एकत्रित कर लें। किसी रविवार को मध्य रात्रि के समय एकांत स्थान में लाल रंग के आसन को बिछाकर उत्तर की ओर मुंह करके बैठ जाएं। अगरबत्ती जला ले व साथ में सरसों तेल का एक दीपक प्रज्वलित करें। अपने बगल में कुछ साबुत लवंग रखें, मिठाई और गुलाब का फूल भी अपने पास ही रखें। एक लवंग अपने हाथ में ले ले और नीचे दिए गए मंत्र का जाप करें। जाप करते समय अमुक की जगह पर वशीभूत करने वाले व्यक्ति का नाम ले तथा लवंग के ऊपर फूंक मारें। ऐसा आप २१ बार करें। २१ बार मंत्र जाप करें और हर बार लवंग पर फूंक मारें। इस प्रयोग को सात रविवार तक लगातार करें और हर रविवार को लवंग को संभाल कर अपने पास रखें। सात रविवार की समाप्ति के बाद फूल और प्रसाद को इकट्ठा कर बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें और लवंग को अपने पास रख लें। अब जिसे आप को वश में करना है मौका मिलते ही एक लवंग मारे उसकी पीठ पर, वह व्यक्ति आपके वशीभूत हो जाएगा। मंत्र है– “तेल, तेल, महातेल, देखूँ री मोहिनी तेरा खेल। लौंग लौंगा लौंग, एक लांग मेरी आती-पाती। लोंग दूजी दिखाएं छाती। रूठी को मना कर लाए, बैठी को उठाकर लाए, सोती को जगाकर लाए,चलती फिरती को लिवा लाए। जोगिन अकाश की, सिद्ध पताला का। अमुक को लागी लगा रे मोहिनी, तुझको भैरव जी की आन।”

सरसों तेल का दीपक जला कर नीचे दिए गए मंत्र का प्रतिदिन दो घंटे जाप करें। इस क्रिया को ४१ दिन तक दोहराएं। मंत्र प्रारंभ करने के पहले तथा अंतिम दिन अलग अलग किस्म के सात मिठाईयाों को किसी भी निर्जन स्थान पर रखें। इन्हें रखकर घर वापस आ जाएं और आते समय पीछे मुड़कर ना देखें। इन दिनों पूर्णता ब्रह्मचर्य का पालन करें। ४१ दिनों के पाठ के बाद मंत्र सिद्ध हो जाता है। अब जब आपको इस मंत्र का प्रयोग करना है तब सरसों तेल लेकर इस मंत्र का २१ बार उच्चारण करते हुए २१ बार तेल पर फूंक मारें तथा इससे मालिश करें अपने शरीर की। तत्पश्चात संबंधित व्यक्ति के पास जाएं, वह आप के सम्मोहन में आ जाएगा। मंत्र है– “तेल तेल गौरी का खेल, राजा प्रजा कौन्सल, चलके मेरे और मेरे परिवार के पेरी मेल, मन मोहे तन मोहे, मोहे सभी शरीर, मोौहे पंजे पीर, जय फूला कम करे खुल्ला, मलंगी तोड़ें तंगी।”

मोहिनी वशीकरण मंत्र का एक शक्तिशाली मंत्र है– “ओम् नमो भगवते काम देवाय, सर्वजन प्रियाय। सर्वजन सम्मोहाय, ज्वल ज्वल प्रज्वल प्रज्वल। हन हन वद वद तप, सम्मोहय सम्मोहय, सार्व जन में वश्य कुरु कुरु स्वाहा।” इस मंत्र का जाप करने के पूर्व एक दीपक, घी, लोबान, पाँच मिठाई लाल रंग की, पांच लाल फूल, लाल आसन, गंगाजल, एक साफ और काँच की एक छोटी व स्वच्छ शीशी इत्यादि समान का संग्रह कर लें। अब किसी भी दिन मध्यरात्रि में आसन बिछाकर बैठ जाएं, अपना मुख उत्तर दिशा की ओर रखें। घी का दीपक और लोबान जलाए, मिठाई व फूल अर्पित करें। एक पात्र में गंगाजल रखें साथ ही साथ २१००० मंत्र के जाप का संकल्प ले ले। संकल्प करते वक्त दाहिने हाथ की अंजुली में थोड़ा सा गंगाजल ले और जिसे वश में करना है उसका नाम उच्चारित करें व साथ ही साथ अपने वशीकरण के उद्देश्य को दोहराएं। ११००० मंत्र जाप जब पूर्ण हो जाए तब गंगाजल में फूंक मारें। २१००० बार मंत्र का जाप पूर्ण होने पर उस जल को एक शीशी में अच्छी तरह से बंद करके रखें। अब आपको जिसे वश में करना है उसके पास जाए और मौका पाकर इस जल को उसके ऊपर छिड़क दे वह आप के वशीभूत हो जाएगा/जाएगी।

मजीद, तगर, अर्जुन- छाल और कोई भी पत्ता जो हवा से उड़ कर आया हो सबको समान समान मात्रा में ले ले। इन्हें साथ में मिला कर कूट छानकर पाउडर बनालें। अब १२ घंटे बाद किसी खाद्य-पदार्थ में मिलाकर उस व्यक्ति को खिला दे जिसे वह आप को वश में करना है।

किसी जलती हुई चिता से उसकी राख को लें। अब इसमें विदारी कंद, मदार का दूध, वटवृक्ष की जटा को मिला लें और लगभग तीन घंटे तक इसे घोटें। प्राप्त पदार्थ को सुरक्षित करके रख लें किसी बोतल में। जब आपको किसी को वश में करना है तब इस पेस्ट से तिलक लगाकर उसके सामने जाए, वह सम्मोहित हो जाएगा जैसे ही आप की नजर उस से मिलेगी।

किसी शमशान से जड़ ले आए महानीली की। इसे अच्छे से कूट लें तथा रुई में मिलाकर इसकी बत्ती बनाए। इसे एक दीपक में डालें तथा चमेली के तेल की सहायता से जलाएं और काजल बनाएं। इस काजल को आप अपने आंख में लगाकर उस व्यक्ति के पास जाए जिसे आप वशीभूत करना चाहते हैं। आपसे नजर मिलते ही वह वशीभूत हो जाएगा और आपके कहे अनुसार कार्य करने लगेगा।

वशीकरण तिलक मोहिनी मंत्र- कोई भी मोहिनी वशीकरण लगाउने मंत्र प्रयोग द्वारा किसी भी गर्ल/बॉय को वह में कर सकते है| मोहिनी वशीकरण का प्रयोग करने से पहले जरूर तांत्रिक गुरु जी सलाह मश्वरा कर लेवे|

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s