Shadi Rokne ya Todne ka Mantra


आपके प्रेमी की शादी आपसे ना होकर किसी और से होने जा रही है ? ..आप दुखी है ?.. घबराइये मत ..अपनाए यहां पर दिए गए प्रेमी या प्रेमिका की शादी रोकने या तोड़ने का उपाय | इन्हें अपनाकर आप अपनी प्रेमी / प्रेमिका को अपना बना सकते हैं | यह रहे प्रेमी या प्रेमिका की शादी रोकने या तोड़ने का उपाय-

Read Here Shadi Rokne ya Todne ka Mantra

  • एक मिट्टी का बर्तन (कच्ची मिट्टी का) ले | अब इसमें १००-१०० ग्राम काले तिल और चावल डाल दें | उसके बाद बर्तन को सफेद कपड़े से बाँध ले | फिर इस कपड़े पर नाम लिखे अपने प्रेमी या प्रेमिका का | यह करने के बाद इसे रात के १२:०० बजे के लगभग रख दे किसी चौराहे पर | इसे रखते हुए अपने प्रेमी या प्रेमिका का नाम ले सात वार और वापस घर लौट आएं | वापस आते समय वापस पीछे देखना नहीं है, यह ध्यान रहे |
  • अपने प्रिय की सगाई रोकने के लिए आप यह उपाय भी कर सकते हैं | इस उपाय को शनिवार के दिन आरम्भ कर अगले १० दिनों तक लगातार किया जाना चाहिए | सबसे पहले आप एक नींबू ले | अब इसपर अपने प्रेमी का नाम या उसके जन्म की तारीख लिखे लाल पेन से | अब निंबु को किसी लाल कपड़े में बाँध दे | रात को सोते समय इसेे अपने सर के ऊपर से ७ बार वारे और सो जाए इसे तकिए के नीचे रख कर |
  • हनुमान यंत्र की स्थापना करें किसी भी मंगलवार के दिन हनुमान-मूर्ति के सामने | अब ११ मंगलवार तक हर मंगलवार को ११ बार पाठ करें बजरंग बाण का | यह माने कि जिस परिवार में प्रेमी/ प्रेमिका का संबंध तय हुआ है अथवा होने की बात हो वह आपके लिए कष्ट का कारण है | पाठ की समाप्ति के बाद बाद सच्चे हृदय से हनुमान जी से प्रार्थना करें अपने कष्ट को दूर करने तथा रिश्ते को तुड़वाने के लिए | परंतु सावधान रहें किसी भी दुर्भावना में वशीभूत होकर इस विधि को कभी भी ना अपनाएं |
  • एक चांदी की पायल लें | अब इसे स्वमूत्र में डूबो कर रखे किसी मिट्टी के बर्तन या कांच की बोतल में २१ दिनों तक | प्रतिदिन मूत्र को बदल दें प्रातकाल | २१ दिनों के उपरांत उस पायल को साफ कर दे राख से | अब इसे तोहफे के रूप में दे दे अपनी प्रेमिका को | प्रेमिका की सगाई रोकने के उपाय में यह अत्यंत सरल उपाय है जिसको करने से वह अपनी सगाई को तोड़ कर चली आएगी आपके पास |
  • रिश्ता तोड़ने का मंत्र या उपाय में आप इस मंत्र का जाप करें मंत्र है–”ध्यायेन्नीलाद्रिकान्तम शशिश्कलधरम मुंडमाल महेशम् |

दिग्वस्त्रं पिंगकेशं डमरूमथ सृणिं खडगपाशाभयानि ||
नागं घण्टाकपालं करसरसिरूहै र्बिभ्रतं भीमद्रष्टम |
दिव्यकल्पम त्रिनेत्रं मणिमयविलसद किंकिणी नुपुराढ्यम || “..

सबसे पहले शनी अथवा भैरव मंदिर में जाए किसी शनिवार या मंगलवार के दिन | आटे का बनाया हुआ एक चौमुखा दीपक ले | इसमें कुमकुम से रंगी हुई बत्ती डाले | तेल डालकर मूर्ति के सामने दीपक जलाएं | अब जिसका रिश्ता तोड़वाना है उसके नाम उच्चारण करते हुए कुछ दाने सरसों के छोड़ दें दीपक में | इसके बाद उपरोक्त मंत्र का जाप करें २१ बार | अब वापस जिस लड़का या लड़की का रिश्ता तोड़वाना हो उसका स्मरण करते हुए या उसका नाम लेते हुए दीपक में डालेे कुछ दाने काले उड़द के | दीपक के तेल में जरा सा सिंदूर डाले इस कल्पना को करते हुए है जैसे सामने वाले के मुंह में डाला जा रहा है | इस क्रिया के बाद ५ लवंग ले और प्रत्येक लवंग को नीचे दिए गए मंत्र को २१-२१ बार जपते हुए अभिमन्त्रित करे |

मंत्र है–” ओम ह्वीं भैरवाय वं वं वं ह्रां क्ष्रौं नमः”..

अब इन अभिमंत्रित किए हुए लवंग को एक-एक करके दीपक के तेल में इस तरह डालें मानो यह किसी सख्त वास्तु में जोर लगा कर गाड़ा जा रहा है | लौंग के फूल वाला भाग ऊपर की तरफ रखें | उस व्यक्ति के रिश्ते को तुड़वाने की ईश्वर से प्रार्थना करतें हुए वापस घर लौट आए | यदि कार्य की सिद्धि एक बार में ना हो तो इस क्रिया को ५ बार तक दोहराया आसपास किया जा सकता है |

किसी की शादी तोड़ने के मंत्र में यह मंत्र भी कारगर सिद्ध हुआ है |

मंत्र है-”ॐ श्री हिं चूंडामनियाये स: रिद्धि-सिद्धि पिशाचिनी रूपाये स्व:”

सबसे पहले एक माला का जाप करे इस मंत्र द्वारा | साथ में लोबान भी जला ले | अब एक पुतले की आकृति बनाएं काले रंग के कपड़े से | उसके बाद उसके दोनों हाथ, दोनों पैर और सर पर सुई से छेद कर दें | फिर पुतले पर उपरोक्त मंत्र को पढ़ पढ़ कर फूंक मारे | अब संबंधित व्यक्ति के घर के समक्ष इस पुतले को गाड़ दें अथवा मुख्य-द्वार के पास रख दें | वापस घर आ जाए लेकिन आने के पहले उस संबंधित व्यक्ति के घर की फेरी लगाए तीन बार इसी मंत्र का जाप करते हुए | मात्र ग्यारह दिनों के अन्दर ही परिणाम की प्राप्ति होगी |

“उत्तम गुचम भैरों काली, अलफ लाम मीम “ ..इस मंत्र का जाप ४ दिनों तक लगातार करे | जाप संख्या हो प्रतिदिन १० माला की | इस साधना को करने के लिए आप किसी भी नदी के तट पर हर रोज ७-७ साबुत लौंग,इलाइची, बताशे और साथ में एक देसी अंडा, बकरे की कलेजी ५ पीस ( हर दिन), एक दीपक, शराब की एक बोतल तथा थोड़ा सा तेल सरसों का ले जाकर साधना के लिए आसन पर बैठे | अब मंत्र को जपे तथा अपने चारों ओर गोला बना लें या खींच लें | इसके बाद दीपक को सरसों के तेल से जला लें और गुरु मंत्र का जाप करें एक माला | अब आपको गणेश जी की पूजा करनी है उनसे मंत्र जाप की आज्ञा लेने के लिए | फिर शिव मंत्र की माला जपे एक माला तथा अपने साथ लाई हुई सामग्री को किसी कागज के ऊपर रख ले दीपक के समक्ष | मंत्र का जाप करना शुरु कर दें | जाप की समाप्ति होने पर सारे सामान को किसी चौ-रास्ते पर रख दें और चारों और गोला बना दे शराब से | अंडे को तोड़ दे जमीन पर जोर से मार कर यह कहते हुए कि अमुक का रिश्ता टूट जाए इस अंडे की तरह |

किन्तु, सावधान ! किसी भी तन्त्र या मन्त्र या टोटके का दुरूपयोग का परिणाम प्राणघाती भी हो सकता है | अत: इन्हें आजमाने के पहले पुर्णतया अपनी कसैटी को परख लें | किसी भी तरह के टोने टोटके उपाय को प्रयोग में लेने से पहले अवश्य हमारे तांत्रिक गुरु जी से सलाह लेकर ही अनुसरण करे| किसी भी समस्या के समाधान हेतु संपर्क करे और जीवन में सफलता हासिल करे|

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s