Shatru ke liye totke


हर किसी का कोई न कोई शत्रु तो होता है ही, शत्रु को रास्ते से हटाने और पीड़ित तथा परेशान करने के लिए हमारे तंत्र क्रियाओ का प्रयोग कर सकते है| “ जलन “ किसी के भी प्रति जलन एक ऐसी चीज है जिससे व्यक्ति का अपना ही उसका दुश्मन बन जाता है | प्रगतिशील व्यक्ति की प्रगति कभी-कभी उसके मित्र को भी या सगे-संबंधी को भी जलाती है | इसी जलन से वशीभूत होकर वह अपने संगी साथी या रिश्तेदार की प्रगति में बाधक बनने लगता है | ऐसे मित्र रुपी शत्रुओं के दांत हाथी के समान होते हैं यानी “खाने के और दिखाने के और” | इन शत्रु को पहचानना और उनसे निपटना कोई हंसी खेल नहीं है | अतः ऐसे शत्रुओं से बचने के लिए व्यक्ति को शत्रु निवारण के उपाय अपनाना चाहिए | इससे वह अपने शत्रु को परेशान भी कर सकता है और उन पर विजय भी पा सकता है | इसलिए हम आपके लिए लेकर आए हैं शत्रु निवारण के उपाय |

शत्रु को पीडित व परेशान करने के उपाय टोटके मंत्र

शत्रु पर विजय पाने के यह उपाय हैं

  • बजरंग बली की आराधना – शत्रु को परेशान या पीड़ित करने के टोटके में एक अन्यतम टोटका है बजरंग बली की आराधना | आप प्रतिदिन स्नानोपरांत हनुमान बाण का पाठ करें सात वार प्रतिदिन |
  • प्रतिदिन लड्डू का प्रसाद लगाए बजरंगबली को और प्रार्थना करें शत्रु से मुक्ति पाने की |
  • ५ लौंग ले और देशी कपूर ले | अब इन्हें मिलाकर साथ में जलाए पूजा स्थल पर | बाहर निकलते समय इसी भष्म का तिलक लगाएं | ईश्वर आपकी मनोकामना पूर्ण करेंगें |
  • आपको अगर कोई परेशान कर रहा है बिना कारण, तो शौचालय में शौच करते वक्त वहीं पर बैठे-बैठे उस व्यक्ति ( जो आपको परेशान कर रहा है ) का नाम लिखें वहीं से पानी लेकर | अब शौच निवृत्ति बाद निकलते समय नाम लिखे हुए स्थान पर ठोकर मारे तीन बार बाए पैर के द्वारा | पर सावधान….यह ध्यान रहे कि अकारण ही इस प्रयोग को न किया जाए वरना लाभ के बदले हानि की ही संभावना प्रबल है |
  • तंत्र मंत्र शत्रु शमन के टोटके में एक अन्य टोटका है — एक भोजपत्र पर नाम अंकित करें अपने शत्रु का लाल चंदन द्वारा | अब इसे डिब्बी भरे शहद में डुबोकर दे और छुपा कर रख दें |
  • शत्रु पर विजय पाने के उपाय में अन्यतम है ..चावल ( ४० दाने ) और काली दाल ( ३८ दाने ) ले | अब इन्हें किसी गड्ढे में दबा दें मिलाकर | इसके ऊपर रस निचोड़े नींबू का | ध्यान रहे रस निचड़ते वक्त अपने शत्रु के नाम का स्मरण करते रहें लगातार | आपका शत्रु पराजित होगा ही होगा |
  • अकारण ही आपको कोई परेशान कर रहा है तो अपने शत्रु को परेशान\ पीड़ित करने के टोटके में यह टोटका भी बहुत कारगर सिद्ध हुआ है | टोटका है –एक मोर पंख लें | अब शनिवार या मंगलवार की रात्रि को अपने दुश्मन के नाम को लिखे बजरंगबली के शीश पर चढ़े हुए सिंदूर से | अब इसे अपने पूजा स्थान पर रखे सारी रात | दूसरे दिन सुबह जल्दी उठकर बहते हुए पानी में उस मोर पंख को प्रवाहित कर दे नहाने के पहले | कैसा भी शत्रु क्यों न हो शांत हो जाएगा |
  • शनिवार की रात को लौंग ले सात की संख्या में | अब अपने शत्रु का नाम लेते हुए उस लवंग पर फूंक मारे (२१ वार ) | दूसरे दिन अर्थात रविवार को अग्नि में भस्म कर दें इन्हें | इस क्रिया को दोहराएं सात बार लगातार | शत्रु शांत हो जाएगा | लेकिन, सावधानी रखें ! ..बिना मतलब किसी को परेशान करने के लिए या किसी के प्रति बुरे विचार को रखते हुए इसे ना करें | ..वरना खुद के ही अहित की संभावना हो सकती है |
  • इसके अलावा शत्रु को पीड़ित या परेशान करने के लिए या शत्रु पर विजय प्राप्त करने के कुछ मंत्र भी हम आपके लिए लेकर आए हैं | सूर्योदय के पूर्व जाप करें इस मंत्र का | जाप एकांत और शांतिपूर्ण वातावरण में होना चाहिए | श्रद्धा और पूर्ण विश्वास के सहित प्रतिदिन इस मंत्र का जाप करें और चमत्कार देखें | मंत्र है–” नृसिंहाय विद्महे ,वज्र नखाए धी महि तन्नो नृसिंह प्रचोदयात् “
  • अमावस्या या रविवार की रात को दक्षिण की तरफ मुहँ कर आसन बिछाकर बैठे | अब अपने सामने एक काले वस्त्र को बिछाए | इस पर काली की मूर्ति या तस्वीर रखकर उनकी पूजा करें | अब सिंदूर से एक निबूं पर अपने दुश्मन का नाम अंकित करें | थोड़े से और सिंदूर को तिल या सरसों के तेल में डाल दे | इसे अच्छे से मिला ले | अब संकल्प की कामना करें | इसके बाद रुद्राक्ष की माला लें और नीचे दिए गए मंत्र का जाप करें ११ माला | साथ ही साथ प्रत्येक माला की समाप्ति पर उड़द का दाना नींबू के ऊपर डालें | इसके साथ यह कल्पना करते हुए कि काली मां आपके विरुद्ध रचे गए शत्रु के जाल को खत्म कर रही है | जप की समाप्ति के बाद नींबू को मटकी( मिट्टी की) या लोटा ( तांबा ) में डाल दे | अब जिस वस्त्र पर मां को स्थापित किया गया था उस वस्त्र से मटकी या लोटे के मुंह को बांध दें | मां से प्रार्थना करें कि वह आपके विरोधियों को नष्ट करें | सारी क्रिया समाप्ति के बाद इस मटकी को जमीन में रात को ही दबा दें | अब तुरन्त वहां से वापस अपने घर चले जाएं | लेकिन ध्यान रहे अब मुड़कर ना देखे पीछे | घर पहुंचते ही सबसे पहले स्नान आदि से निवृत हो | इस मंत्र और टोटके से आपके दुश्मन के षड्यंत्र का विफल होना निश्चित ही है जिसे आपके शत्रु ने रचा है आपके विरूद्ध | मंत्र है –
  • “क्रीं क्रीं शत्रु नाशिनी क्रीं क्रीं फट”

प्रति नवरात्रि नीचे दिए गए मंत्र का जाप करें ( ११ माला) | जप की समाप्ति के बाद हवन करें, मंत्र सिद्ध हो जायेगा | अब प्रतिदिन एक माला इस मंत्र का जाप करें |

मंत्र है -”ॐ क्लीं सर्व बाधा प्रशमनंत्रेलोक्यस्याखिलेश्वरी | एवमेव त्वया कार्यमस्मद्दैरि विनाशनम् क्लीं नमः |”

“सर्व मंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके | शरण्ये त्र्यंबके देवी नारायणी नमोस्तुते ||”

इस मंत्र का जाप अचानक से उपस्थित हुए संकट से छुटकारा पाने में सहायक है | इसका जाप मानसिक रुप से भी किया जा सकता है|

हर किसी का कोई न कोई शत्रु तो होता है ही, शत्रु को रास्ते से हटाने और पीड़ित तथा परेशान करने के लिए हमारे तंत्र क्रियाओ का प्रयोग कर सकते है| यदि किसी का शत्रु ज्यादा शक्तिशाली है और वो आपसे हार नहीं सकता तो फ़िक्र मत करे | शत्रु को बर्बाद करने की तांत्रिक क्रिया का प्रयोग कर उसको परास्त कर सकते है| किसी भी शत्रु संबधित समस्या का समाधान पाने के लिए तांत्रिक गुरु जी अवश्य सलाह लेवे और अपने रास्ते में आने वाले किसी भी कांटे को दूर करे|

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s