Jane Pati Patni Mai Anban Ko Kaise Dur Kare


जब दो लोग पति और पत्नी की तरह शादी के बंधन में बांध जाते हैं तो हिन्दू धर्म ग्रंथों के मार्गदर्शन के अनुसार वे सात जन्मों का साथ निभाएंगे। ऐसा कर पाना मुश्किल ही नहीं आज-कल के ज़माने में नामुमकिन है। चूँकि आज के समय में लोगों की जीवन गति बहुत तेज़ है, लोग तनाव में डूबे हुए हैं और शहरी जनता तो ख़ासकर इतनी परेशान है की सात जन्म तो छोड़िये वह सात मिनट में ही लड़ पड़ते हैं। यह कतई सही नहीं है पर यह एक हकीकत है। अब लोगों में वह मेल-जोल कहाँ रहा जो पहले हुआ करता था? जी पुरानी फिल्मों में हाव-भाव देखने को मिलते हैं वे आज-कल तो बिलकुल ही नहीं मिलते

Pati Patni me Anban Ladai Takrar

बात यहाँ तक भी बढ़ जाती है की लोग लड़ने-झगड़ने के बाद तलाक तक पर उतारू होने लगते हैं, ऐसे में सही कदम क्या हैं? क्या तरीके हैं जिनसे हम खोये हुए शादी के बंधन को वापस जोड़ सकते हैं? इन सब सवालों का जवाब मैं आपके समक्ष रखने जा रहूं। और आशा करता हूँ की आप इन का सदुपयोग करेंगे।

टोटकों का प्रयोग तब किया जाता है जब बात-चीत से काम न चले, अगर आप की जान-पहचान में कोई लोग हैं जो लड़ बैठे हैं या फिर आप खुद ही रूठे हैं तो पहले बात करें, किसी तीसरे अच्छे दोस्त को घर बुलाएं, किसी रिश्तेदार को घर बुलाएं और बैठ कर इत्मिनान से खुल कर बात करें, कुछ छुपाएं नहीं, अगर आपको किसी बात से दुःख पहुंचा है तो उसे बोलें, गुस्सा नहीं करें ठन्डे दिमाग से बताएं और आपका मसला सुलझ जाना चाहिए। अगर ऐसा नहीं हो पाता तो फिर अब बताये हुए तरीकों से मदद लेना ठीक रहेगा।

पति-पत्नी में कलह निवारण हेतु ज्योतिष उपाय

सबसे पहला उपाय घर की अशांति दूर करने के लिए है और इसका सीधा असर आपके रिश्ते पर पड़ेगा। बहुत लोग कहते हैं की घर की शांति बनाना अपने-आप में एक कला है पर अगर आप के घर में यह कला वास नहीं करती तो इसके लिए सबसे अच्छा तरीक़ा है की आप नित्य होते क्लेश के लिए कोई कठोर निवारण ढूंढे। सबसे अच्छा तरीक़ा है की आप सवेरे नहा लें और साफ़ कपडे पहनकर दुर्गा माता की प्रतिमा के सामने जाएं, वहां धूप दीप जला दें और माता पे लाल पुष्प चढ़ा दें। अब इस कार्य को नित्य करने के पश्चात् एक माला इस बताये हुए मंत्र की करें और अधिकांश लाभ प्राप्त होता पाएं।

” धाम धिम धूम धुर्जटे पत्नी वां वीं वुम वागधिश्वरी,
क्राम क्रीम कृम कालिका देवि, शाम शिम शुम शुभम कुरु “

पति पत्नी के बीच झगड़े मुक्ति टोटके

पति और पत्नी के बीच में झगड़े होना आम बात है पर पत्नी का पति पर हावी हो जाना और हुकुम चलाने की कोशिश करना एक बुरा चिन्ह है, लोग इससे दोनों को बुरी नज़र से देखते हैं। तो फिर क्या तरीक़ा है पत्नी को अपने वश में रखने का? किस प्रकार के कार्य से आपस की टकरार को दूर किया जा सकता है? इसका जवाब आपको हम देंने जा रहे हैं – कुछ मामूली टोन-टोटके करने से आप अपने घर में एक सुखद और समृद्धि भरा जीवन प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको बस हमारे बताये हुए कार्य को संपन्न करना होगा।

जब पूर्व फाल्गुनी नक्षत्र हो तो तब अनार के फल वाले पेड़ की एक टहनी तोड़ लाएं तथा धुप देकर उसे अपनी दाहिनी भुजा पर बाँध लें सो सब लोग आपसे वशीभूत होंगे। ध्यान रहे की यह कार्य केवल पूर्व फाल्गुन नक्षत्र वाले दिन या रात्रि को ही करें। काकजंघा, मेरीगोल्ड और केसर को चूरन बना लें और इसे स्त्री के मत्थे और पाँव के नीचे लगा देने से वह आपके आपे में आ जाती है।

छोटी इलाइची, कंगनी, सिन्दूर, चन्दन आदि का मिश्रण बना लें और उसकी धूप बत्ती बनाकर स्त्री के सामने जलाने से आप के आपे में आजायेगी। एक और संपूर्ण टोटका है की अगर दोनों लोगों में अनबन है तो अगर आप पति हैं तो पत्नी के तकिया के नीचे कपूर रख दें और सवेरे उसे जला दें और अगर आप पत्नी हैं तो पति के तकिया के नीचे सिन्दूर रख दें और सवेरे उसे फेंक दें। सबसे वैदिक तरीकों में से एक है की आप सवेरे सूर्योदय से पहले उठ जाएं और नहा लें, फिर जल लेकर मंदिर में शिवलिंग में चड़ाते हुए उच्चारित करें –

” ॐ नम: संभवाय च मयो भवाय च नम: शंकराय च मयस्कराय च नम: शिवाय च शिवतराय च “

अगर आप दोनों के बीच में कलह है तो एक कागज़ पर लाल स्याही से अपने वर का नाम लिख दें और फिर २१ बार – हं हनुमंते नम: कहें, फिर उस कागज़ को किसी कोने में रख दें। ऐसा करने से आप दोनों में मेल-जोल बढ़ जायेगा और आप वापस एक सफल और सुखद जीवन जीने लगेंगे। अगर इन सब उपायों के पश्चात भी दिक्कत न जाये तो लाल कपडे में मसूर की दाल, लाल चन्दन और पांच छोटे नारियल ले लें और इन्हेें ईश्वर से कलह दूर करने की प्रार्थन करने के बाद किसी बहती नदी में ११ मंगलवार तक डालती जाएं, आपको अवश्य लाभदायक फल मिलेगा। एक और तरीक़ा है की पीले गेंदे के फूल लेकर उसपे सिन्दूर लगाएं और उसे भगवन पर अर्पित |

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s