इन उपाय से मिलती है श्रेष्ठ और मनचाही संतान


भारतीय समाज में ग्रहस्थ आश्रम को सभी अवस्थाओं में सबसे उपर रखा गया है। यही तो सीढ़ी है जहां से समाज की संरचना की शुरुआत होती है। इस व्यवस्था में दो अंजान व्यक्ति समाज के नियमों के अनुसार, सामाजिक आशीर्वाद से अपने परिवार को आगे बढ़ाते हैं। परिवार के आगे बढ्ने से ही समाज भी आगे बढ़ता है। लेकिन कभी -कभी इस प्रवाह में रुकावट आ जाती है। कभी -कभी कोई दंपति भाग्य वश माता-पिता होने का लाभ नहीं ले पाते हैं। जब बहुत उपाय करने के बाद भी संतान नहीं होती है तो फिर वो मनचाही संतान के उपाय करने लगते हैं। तो आइये देखें संतान प्राप्ति के लिए उपाय के लिए क्या किया जा सकता है:

मनचाही संतान प्राप्ति के उपाय टोटके

मदार की जड़:
बहुत बार शादी के काफी लंबे समय तक पति-पत्नी संतान का सुख नहीं उठा पाते हैं। आज के वैज्ञानिक युग में हर असंभव को संभव किया जा सकता है। लेकिन कुछ बातें ऐसी होती हैं जहां विज्ञान भी हार मन लेता है। तब पति-पत्नी ज्योतिष का सहारा लेते हैं। संतान प्राप्ति के लिए उपाय है जिससे निःसंतान स्त्री को संतान सुख मिल सकता है। मदार पौधे की जड़ को संतान की इच्छा करने वाली स्त्री की कमर में बांध दें। इससे वो स्त्री संतान लाभ ले सकती है।

पीपल की पूजा:
संतान सुख हर स्त्री के लिए सबसे बड़ा सुख होता है। इस सुख को प्राप्त करने के लिए वो कुछ भी कर सकती हैं। पुराने जमाने में अपनाए जाने वाले संतान प्राप्ति के टोटके आज भी उतने ही कारगर हैं। पीपल की पूजा ऐसा ही एक टोटका ही जो संतान की इच्छा को पूरा कर सकी है। इसके लिए संतान की कामना करने वाली स्त्री रोज पीपल के पेड़ के नीचे दिया जलाएँ । रविवार को छोड़कर यह दिया रोज जालना चाहिए। दिया जलाकर पेड़ की परिक्रमा करें और अपनी कामना मन में दोहराती रहें । संतान प्राप्ति के उपाय के रूप में की गयी यह पूजा जल्द ही अपना प्रभाव दिखाती है।

संतान प्राप्ति मंत्र:
सभी वेदों में आयुर्वेद का संबंध व्यक्ति के रहन-सहन और जीवन शैली से रहा है। अगर कोई व्यक्ति आयुर्वेद में बताए नियमों और उपायों का पालन करे तो कुछ भी असंभव नहीं है। यही बात संतान प्राप्ति के लिए भी है। इसमें मनचाही संतान प्राप्त करने के उपाय बताए गए हैं। इसमें उन नियमों को बताया गया हैं जिनके पालन से दंपति पुत्र या पुत्री जो भी चाहें हो सकता है। गर्भधारण कब और कैसे करना चाहिए, सब विस्तार से बताया गया है। शांत चित और प्रसन्न मन से संतान कामना से किया गया सहवास जरूर फलता है। जिस दिन आप यह कार्य करें उसके बाद इस मंत्र का निरंतर जाप करें:

||ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौंदेवकीसुतगोविन्द वासुदेव जगत्पतेदेहिमेतनयं कृष्ण त्वामहंशरणंगतः||

संतान प्राप्ति के मंत्र को 108 दिन तक लगातार करना चाहिए। आपको निश्चय ही सफलता मिलेगी।

कुम्हार का धागा:
अगर आप किसी कारणवश गर्भ धारण नहीं कर पा रही हैं तो घबराएँ नहीं । ज्योतिषी अगर आपकी कुंडली में संतान प्राप्ति का योग बताते हैं तो यह उपाय करें। आप अपने पति के साथ मंगलवार के दिन किसी कुम्हार के घर जाएँ । उससे प्रार्थना करके जिस धागे को वह बर्तन बनाने के लिए इस्तेमाल करता है उसको अपने घर ले आयें । अब एक गिलास में पानी लेकर यह धागा उस गिलास में डाल दें। एक सप्ताह बाद यह डोरे वाला पानी आप खुद भी लें और अपने पति को भी दें। याद रहे यह मंगल को ही करना है । जिस दिन यह पानी पीएँ उस दिन अपने पति के साथ संबंध स्थापित करें। जल्द ही आप गर्भवती हो सकती हैं। गर्भ ठहरते ही यह धागा हनुमान जी के चरणों में रख कर अपने परिवार की सुख कामना की प्रार्थना करें । संतान प्राप्ति के लिए यह उपाय बहुत सरल और कारगर है।

गुड़ दान :
जब पति-पत्नी हर ओर से निराश हो जाते हैं तो हर उपाय को संतान प्राप्ति का उपाय मानते हैं। एक बहुत सरल टोटका है जिसे सिर्फ वीरवार को ही करना होता है । आप वीरवार को थोड़े से गुड़ को आस-पास के गरीब व्यक्ति को दान दें। संतान प्राप्ति का यह टोटका बहुत कारगर है और आपको निश्चय ही सफलता मिलेगी।

गणेश पूजा :
श्री गणेश विघ्न हर्ता और संकट निवारक भी हैं। माता पार्वती और गणेश का संबंध जग जाहिर है। संतान प्राप्ति के उपाय के लिए गणेश पूजा अत्यंत लाभकारी है । इस उपाय के लिए संतान प्राप्ति की इच्छुक महिला गणपति की पूजा करे तो उसे बहुत लाभ होता है। रोज स्नान करके इस मंत्र का जाप गणेश जी की मूर्ति के सामने करे।

‘ॐ पार्वतीप्रियनंदनाय नम:’

गणेश जी की पूजा करने के लिए बेल पत्र चड़ाएँ और अपनी कामना को दोहराएँ । रोज 11 माला का जाप करें और अपनी मनोकामना जल्द ही पूरा करें

आम की जड़:
पति-पत्नी लाख उपायों के बाद भी माँ -बाप न बन पा रहे हों तो संतान प्राप्ति के टोटके अपनाते हैं । पूर्वजों द्वारा बताए गए उपायों में से एक बहुत सरल उपाय आपको बताते हैं। इसके लिए संतान की इच्छुक स्त्री को आम की जड़ लाकर उसे सूखा कर पीस लें। यह उपाय पूर्व फाल्गुनी नक्षत्र में करना चाहिए। पीसी जड़ को दूध में मिलकर इसका सेवन कर लें । मनचाही संतान का उपाय इससे सरल और कोई नहीं है ।

चावल का मांड :
निःसंतान दंपति वैज्ञानिक उपायों के साथ संतान प्राप्ति के उपाय के लिए घरेलू उपाय भी अपनाते हैं। सबसे सरल घरेलू उपाय है चावल के माँड़ का पानी। जब महिला का मासिक धर्म पूरा हो उस दिन चावल के मांड में एक नींबू का रस निचोड़कर पी लें । उस रात पति के साथ संबंध बनाएँ तो निश्चय ही संतान प्राप्ति का योग बनेगा ।

संसार में संतान सुख न मिले तो सब सुख फीके लगते हैं। इसलिए पति-पत्नी अपने हर संभव प्रयास करते हैं और संतान का सुख लेते हैं । यह उपाय इसी क्रम में आपकी मनोकामना पूरी करें में सहायता करते हैं ।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s