lottery jitne ka aasan tarika

lottery jitne ka aasan tarika


Lottery prapti ke upay. Lotto Spells. Lottery niklane ka mantra. “Aaj kal jayadatar log apna vayapar hi karne ki koshish karte hai. Is koshish me kuch log safal ho jate hai. Inme vayapar bhi alag-alag tarike ke hote hai. Kuch log jua, satta, racecourse, aadi me paisa lagate hai Aur isse paisa kamate bhi hai. Inko ve log vayapar hi samaj lete hai kyuki isse unhe kamai hoti hai.

Agar aap bhi is tarah ki pareshani me hai ya aane ki sambhavna hai to aap pareshaan na ho. Aapki pareshani door karne ka ek upay aapko bataya ja raha hai jise aap apna kar aap is tarah ki samasya se bach sakte hai aur apna saunk ya vayapar aap jo bhi chahe shuru kar sakte hai.

Lottery jitne ka totka

इसके लिए आपको कुछ सामग्री की जरुररत पड़ेगी जिनमे एक स्वर्णाकर्षण गुटिका ( मंत्र सिद्धि प्राण – प्रतिष्ठित ) और एक दीपक तेलयुक्त है. इसके अलावा एक विद्युत माला (मंत्र सिद्धि चैतन्य) भी जरुरी है. इसको किसी भी शुक्रवार के दिन रात के किसी भी समय उपयोग कर सकते है. इसे इस्तेमाल करते समय सफ़ेद रंग की धोती धारण कर ले और सफ़ेद रंग का ही सूती आसन बना ले. माला के 21000 जाप करने चाहिए. इसे 21 दिनों तक करना चाहिए अपना ध्यान उत्तर दिशा की तरफ रखना चाहिए.

मंत्र :

” ॐ नमो वीर बैताल आकस्मिक धन देहि देहि नमः “


प्रयोग विधि :

जैसा कि आपको पहले भी बता दिया गया है कि इसका आप किसी भी शुक्रवार के दिन इस्तेमाल कर सकते है. अब आपके पास जो सामग्री है उसमे से सबसे पहले स्वर्णाकर्षण गुटिका ले ले. इसके बाद तेल का दीपक ले और उसे अपने सामने रख कर जला ले. अब मंत्र जाप करे. इनका जाप आपको 21000 बार करना है और जब 21 दिनों तक जाप पूरा हो जाये तो स्वर्णाकर्षण गुटिका की सिद्धि हो जाती है. सिद्धि हो जाने के बाद आप इसे अपनी जेब में रख ले और जो भी व्यवसाय आप करना चाहते है उसमे आपको सफलता मिलेगी. अगर आप जुआ या रेसकोर्स में जाये तो आपको वहां नुक्सान नहीं होगा बल्कि आप पहले से ज्यादा पैसे कमाएंगे और आपको निश्चित फायदा होगा नुक्सान की संभावनाएं ख़त्म हो जाएँगी.

नोट – इसका उपयोग करने वालो को ध्यान रखना पड़ेगा कि एक हद में रहकर ही इसका इस्तेमाल करे और इसका इस्तेमाल किसी के नुक्सान के लिए ना करे. हर चीज एक हद में रहकर ही काम करती है और आप भी उस सीमा का ध्यान रखकर ही इसका उपयोग करे अपनी हद पार ना करे. ऐसा करके अगर आप इसका इस्तेमाल करोगे तो आप अपने जीवन का सबसे बढ़िया समय व्यतीत करेंगे और अपार सफलता को प्राप्त करेंगे.

आज कुछ मैं सट्टा प्रेमीयो के लिये एक बहुत ही शक्तिशाली मंत्र लिख रहा हु इस का जाप प्रतिदिन रात को १० बजे से १०:३० तक ही करना है २१ दिन के बाद आपको सट्टे के नंबर मिलने लगेंगें ।
पर सोच समजकर ही सट्टा खेलना चाहिये.

लॉटरी जितने के टोटके

मंत्र

चेत माई चेत माई चेत माई कलिका चेतावे तेरा बालका सूते को जगा जागते को बैठा
सट्टे का नंबर आने का बता दुहाई गुरु गोरखनाथ की नाथ जी को आदेस ।

  • ये मंत्र आज तक कभी खाली नहीं गया ।
  • इसकी कोई लम्बी चोड़ी विधि नही है ।
  • बस माता काली का ध्यान करते हुए हर रोज रात को जाप करें ।
  • और हाँ काली मंदिर में भेंट ना चढ़ाएं ।
  • नही तो नम्बर मिलना बंद हो जाएगा ।
  • ये मन्त्र पूरा है व् सही है किसी के बहकावे में ना आएं ।
Jane jivan me kamyabi kaise paye

Jane jivan me kamyabi kaise paye


Kehte Hai Ki Bholenath Sabhi Devtao Me Se Sabse Bhole Hai. Unki Araadhana Kar Unhe Manana Bhut Asan Hai. Isliye Shiv Ke Pujan Se Jude In Niche Likhe Totko Ko Apna Kar Aap Anek Parkar Ki Pareshaaniyo Se Chutkara Pa Sakte Hai Aur Apni Jindgi Ke Har Dhukh Ko Door Bhaga Sakte Hai. Aap In Totke Ka Use Kar Ke Kai Parkaar Ki Kaamyabi Hasil Kar Sakte Hai.

  • चावल जो सात बार स्वच्छ पानी से साफ हो उन्हें भोलेनाथ को चढाएं। इससे अचल लक्ष्मी की प्राप्ति होती है।
  • संतान वृद्धि हेतु उत्तम किस्म का गेहूं अर्पण किया जाता है।
  • सुख की प्राप्ति हेतु मूंग शिव को चढाएं।
  • अगर आप अक्सर बीमार रहते हैं तो गोली और दवाई पहले शिव जी के किसी मंदिर में चढाएं फिर उस दवाई को लें। धीरे-धीरे
  • बीमारियां आपसे दूर होने लगेगी।

कठिन विपत्ति के निवारण के लिये :

‘।।दीन दयाल विरद संभारी, हरहु नाथ मम संकट भारी।।’

मुकदमा जीतने के लिये :

‘।।पवन तनय बल पवन समाना, बुद्धि विवेक विज्ञान निधाना।।’

इन मंत्रों को यथा संभव प्रात: सूर्योदय से पहले, पूर्व दिशा की और मुख करके पूर्ण एकाग्रता के साथ जपना चाहिये। २१-वे दिन से ही सफलता के संकेत प्राप्त होने प्रारंभ हो जाएंगे

लक्ष्मी का मतलब होता है धन-सम्पत्ति, वैभव या समृद्धि। कहते हैं कि जीवन है तो जगत है और जगत है तो जरूरतें भी होंगी। किसी पारिवारिक या गृहस्थ इंसान के लिये लक्ष्मी कृपा यानि धन-सम्पत्ति का होना अत्यंत ही आवश्यक माना जाता है।
दरिद्रता को जीवन का अभिशाप माना गया है। यहां तक कि गरीब रहना पाप करने के समान निंदनीय कार्य माना गया है। अत: इस दरिद्रता के अभिशाप से छुटकारा पाने और गरीबी के कलंक को मिटाने के लिये, लक्ष्मी पति विष्णु को प्रसन्न करने के उपाय करें :-

भगवान विष्णु प्रसन्न होंगे-

यदि इंसान धर्म का पालन करेगा और ईमानदारी का जीवन जीएगा।
अगर इंसान कठिनाई आने पर भी सत्य के मार्ग से नहीं हटेगा।
यदि इंसान इन्द्रिय भोगों पर नियंत्रण रखते हुए सादगी वपवित्रता का जीवन जीएगा।
यदि इंसान अपने खून पसीने की कमाई का कुछ भाग, भगवान की बनाई इस दुनिया को और भी सुन्दर बनाने में
खर्च करेगा।

Business Problem Solution

यदि इंसान अपने कर्तव्य को पूरी तत्परता से पूरा करेगा और उसके परिणाम को भगवान की मरजी समझ कर
स्वीकार करेगा।
श्रीयंत्र को पूजा स्थान में रखकर उसकी पूजा करें। फिर उसे लाल वस्त्र में लपेटकर अपनी तिजोरी या धन के स्थान पर रख दें।
प्रत्येक शनिवार को किसी काले कुत्ते को रोटी खिलाएं।
गाय के शुद्ध घी की व्यवस्था करें फिर नो बत्तियों वाला एक दीपक बनाएं।
तांबे के सिक्के को लाल रंग के रिबन में बांधकर घर केमुख्य दरवाजे की चोखट से बांध देवें।
प्रतिदिन सरसों के तेल का दीपक पीपल के वृक्ष की जड़ों में रखें।

Life Me Success Hone Ka Mantra

स्फटिक को हीरे का उपरत्न कहा जाता है। स्फटिक को कांचमणि, बिल्लोर, बर्फ का पत्थर तथा अंग्रेजी में रॉक क्रिस्टल कहा जाता है। यह एक पारदर्शी रत्न है। इसे स्फटिक मणि भी कहा जाता है। स्फटिक बर्फ के पहाड़ों पर बर्फ के नीचे टुक ड़े के रूप में पाया जाता है। यह बर्फ के समान पारदर्शी और सफेद होता है। यह मणि के समान है। इसलिए स्फटिक के श्रीयंत्र को बहुत पवित्र माना जाता है। यह यंत्र ब्रम्हा, विष्णु, महेश यानि त्रिमूर्ति का स्वरुप माना जाता है।स्फटिक श्रीयंत्र का स्फटिक का बना होने के कारण इस पर जब सफेद प्रकाश पड़ता है तो ये उस प्रकाश को परावर्तित कर इन्द्र धनुष के रंगों के रूप में परावर्तित कर देती है।

यदि आप चाहते है कि आपकी जिन्दगी भी खुशी और सकारात्मक ऊर्जा के रंगों से भर जाए तो घर में स्फटिक श्रीयंत्र स्थापित करें। यह यंत्र घर से हर तरह की नेगेटिव एनर्जी को दूर करता है। घर में पॉजिटिव माहौल को बनाता है। जिस घर में यह यंत्र स्थापित कर दिया जाता है वहां पैसा बरसने लगता है साथ ही जो भी व्यक्ति इसे स्थापित करता है उसके जीवन में नाम पैसा दौलत शोहरत सब कुछ होता है।

श्रीयंत्र को अगर किसी विद्यार्थी के कमरे में स्थापित किया जाए तो एकाग्रता बढ़ाने के साथ ही मानसिक तनाव नहीं होता है। इस यंत्र से करियर में जबरदस्त सफलता दिलवाने के साथ ही आप जिस भी क्षेत्र मे हैं, उस में आपके प्रदर्शन में सुधार लाता है। इस यंत्र को स्थापित करें और दूर करें अपने जीवन से हर तरह की मानसिक और आर्थिक परेशानी।

Business Me Safalta Ke Upay

पर्याप्त योग्यता और क्षमता होने के बावजूद यदि केरियर में पर्याप्त गति एवं ऊंचाई न मिल रही हो तो सोमवार के दिन रुदा्रष्टक का पाठ करके, बैल पत्र, सफेद आंकड़ा एवं पंचामृत से रूदा्रभिषेक करें।
व्यवसाय बाधित हो, वांछित उन्नति नहीं हो रही हो, तो 7- शनिवार को सिंदूर, चांदी का वर्क, मोतीचूर के पांच लड्डू, चमेली का तेल, मीठा पान, सूखा नारियल और लौंग हनुमान जी को अर्पित करें।
यदि बच्चा बाहर से खेलकर, पढ़कर, घूमकर आए और थका, घबराया या परेशान सा लगे तो यह उसे नजर या हाय लगने की पहचान है। ऐसे में उसके सर से 7 लाल मिर्च और एक चम्मच राई के दाने 7 बार घुमाकर उतारा कर लें और फि र आग में जला दें।
यदि बेवजह डर लगता हो, डरावने सपने आते हों, तो हनुमान चालीसा और गजेंद्र मोक्ष का पाठ करें और हनुमान मंदिर में हनुमान जी का श्रृंगार करें व चोला चढ़ाएं।
व्यक्ति के बीमार होने की स्थिति में दवा काम नहीं कर रही हो, तो सिरहाने कुछ सिक्के रखें और सबेरे उन सिक्कों को श्मशान में डाल आएं।

Interview Me Safalta Ke Upay

अक्सर सुनने में आता है कि घर में कमाई तो है लेकिन पैसा टिकता नहीं। पैसा आता तो है पर चला जाता है, पता ही नहीं चलता। कितनी ही कोशिश करें पर घर मे बरकत नहीं रहती। यदि आप भी इसी समस्या से परेशान हैं तो नीचे लिखे उपाय को अपनाकर अपनी इस परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं।
जब भी आप घर में अनाज पिसवाएं तो उसमे ग्यारह पत्ते तुलसी के साथ ही दो पत्ती केसर डाल कर, उसमें से थोड़े से अनाज को रात को निकालकर मंदिर में रखकर सुबह उस अनाज को सारे अनाज में मिलाकर पिसवा लें। इस प्रयोग से आपकी समस्या का शीघ्र ही समाधान हो जाएगा और घर में भी बरकत रहने लगेगी।
यदि परिश्रम के पश्चात् भी कारोबार ठप्प हो, या धन आकर खर्च हो जाता हो तो यह टोटका काम में लें। किसी गुरू पुष्य योग और शुभ चन्द्रमा के दिन प्रात: हरे रंग के कपड़े की छोटी थैली तैयार करें। श्री गणेश के चित्र अथवा मूर्ति के आगे “संकटनाशन गणेश स्तोत्र´´ के 11 पाठ करें। तत्पश्चात् इस थैली में 7 मूंग, 10 ग्राम साबुत धनिया, एक पंचमुखी रूद्राक्ष, एक चांदी का रूपया या 2 सुपारी, 2 हल्दी की गांठ रख कर दाहिने मुख के गणेश जी को शुद्ध घी के मोदक का भोग लगाएं।

Vypar Vridhi Hanuman Mantra

फिर यह थैली तिजोरी या कैश बॉक्स में रख दें। गरीबों और ब्राह्मणों को दान करते रहे। आर्थिक स्थिति में शीघ्र सुधार आएगा। 1 साल बाद नयी थैली बना कर बदलते रहें।
किसी के प्रत्येक शुभ कार्य में बाधा आती हो या विलम्ब होता हो तो रविवार को भैरों जी के मंदिर में सिंदूर का चोला चढ़ा कर “बटुक भैरव स्तोत्र´´ का एक पाठ कर के गौ, कौओं और काले कुत्तों को उनकी रूचि का पदार्थ खिलाना चाहिए। ऐसा वर्ष में 4-5 बार करने से कार्य बाधाएं नष्ट हो जाएंगी।
रूके हुए कार्यों की सिद्धि के लिए यह प्रयोग बहुत ही लाभदायक है। गणेश चतुर्थी को गणेश जी का ऐसा चित्र घर या दुकान पर लगाएं, जिसमें उनकी सूंड दायीं ओर मुड़ी हुई हो। इसकी आराधना करें। इसके आगे लौंग तथा सुपारी रखें। जब भी कहीं काम पर जाना हो, तो एक लौंग तथा सुपारी को साथ ले कर जाएं, तो काम सिद्ध होगा। लौंग को चूसें तथा सुपारी को वापस ला कर गणेश जी के आगे रख दें तथा जाते हुए कहें `जय गणेश काटो कलेश´।

Laxmi Pane Ke Upay

सरकारी या निजी रोजगार क्षेत्र में परिश्रम के उपरांत भी सफलता नहीं मिल रही हो, तो नियमपूर्वक किये गये विष्णु यज्ञ की विभूति ले कर, अपने पितरों की कुशा´ की मूर्ति बना कर, गंगाजल से स्नान करायें तथा यज्ञ विभूति लगा कर, कुछ भोग लगा दें और उनसे कार्य की सफलता हेतु कृपा करने की प्रार्थना करें। किसी धार्मिक ग्रंथ का एक अध्याय पढ़ कर, उस कुशा की मूर्ति को पवित्र नदी या सरोवर में प्रवाहित कर दें। सफलता अवश्य मिलेगी। सफलता के पश्चात् किसी शुभ कार्य में दानादि दें। व्यापार, विवाह या किसी भी कार्य के करने में बार-बार असफलता मिल रही हो तो यह टोटका करें- सरसों के तैल में सिके गेहूँ के आटे व पुराने गुड़ से तैयार सात पूये, सात मदार (आक) के पुष्प, सिंदूर, आटे से तैयार सरसों के तैल का रूई की बत्ती से जलता दीपक, पत्तल या अरण्डी के पत्ते पर रखकर शनिवार की रात्रि में किसी चौराहे पर रखें और कहें -“हे मेरे दुर्भाग्य तुझे यहीं छोड़े जा रहा हूँ कृपा करके मेरा पीछा ना करना।´´ सामान रखकर पीछे मुड़कर न देखें। सिन्दूर लगे हनुमान जी की मूर्ति का सिन्दूर लेकर सीता जी के चरणों में लगाएँ। फिर माता सीता से एक श्वास में अपनी कामना निवेदित कर भक्ति पूर्वक प्रणाम कर वापस आ जाएँ। इस प्रकार कुछ दिन करने पर सभी प्रकार की बाधाओं का निवारण होता है। किसी शनिवार को, यदि उस दिनसर्वार्थ सिद्धि योग’ हो तो अति उत्तम सांयकाल अपनी लम्बाई के बराबर लाल रेशमी सूत नाप लें। फिर एक पत्ता बरगद का तोड़ें। उसे स्वच्छ जल से धोकर पोंछ लें। तब पत्ते पर अपनी कामना रुपी नापा हुआ लाल रेशमी सूत लपेट दें और पत्ते को बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। इस प्रयोग से सभी प्रकार की बाधाएँ दूर होती हैं और कामनाओं की पूर्ति होती है।
रविवार पुष्य नक्षत्र में एक कौआ अथवा काला कुत्ता पकड़े। उसके दाएँ पैर का नाखून काटें। इस नाखून को ताबीज में भरकर, धूपदीपादि से पूजन कर धारण करें। इससे आर्थिक बाधा दूर होती है। कौए या काले कुत्ते दोनों में से किसी एक का नाखून लें। दोनों का एक साथ प्रयोग न करें।

Naukri Pane Ke Upay In Hindi

प्रत्येक प्रकार के संकट निवारण के लिये भगवान गणेश की मूर्ति पर कम से कम 21 दिन तक थोड़ी-थोड़ी जावित्री चढ़ावे और रात को सोते समय थोड़ी जावित्री खाकर सोवे। यह प्रयोग 21, 42, 64 या 84 दिनों तक करें।
अक्सर सुनने में आता है कि घर में कमाई तो बहुत है, किन्तु पैसा नहीं टिकता, तो यह प्रयोग करें। जब आटा पिसवाने जाते हैं तो उससे पहले थोड़े से गेंहू में 11 पत्ते तुलसी तथा 2 दाने केसर के डाल कर मिला लें तथा अब इसको बाकी गेंहू में मिला कर पिसवा लें। यह क्रिया सोमवार और शनिवार को करें। फिर घर में धन की कमी नहीं रहेगी।
आटा पिसते समय उसमें 100 ग्राम काले चने भी पिसने के लियें डाल दिया करें तथा केवल शनिवार को ही आटा पिसवाने का नियम बना लें।
शनिवार को खाने में किसी भी रूप में काला चना अवश्य ले लिया करें।
अगर पर्याप्त धर्नाजन के पश्चात् भी धन संचय नहीं हो रहा हो, तो काले कुत्ते को प्रत्येक शनिवार को कड़वे तेल (सरसों के तेल) से चुपड़ी रोटी खिलाएँ।

Ruke Kaam Banane Ke Totke

संध्या समय सोना, पढ़ना और भोजन करना निषिद्ध है। सोने से पूर्व पैरों को ठंडे पानी से धोना चाहिए, किन्तु गीले पैर नहीं सोना चाहिए। इससे धन का क्षय होता है।
रात्रि में चावल, दही और सत्तू का सेवन करने से लक्ष्मी का निरादर होता है। अत: समृद्धि चाहने वालों को तथा जिन व्यक्तियों को आर्थिक कष्ट रहते हों, उन्हें इनका सेवन रात्रि भोज में नहीं करना चाहिये।
भोजन सदैव पूर्व या उत्तर की ओर मुख कर के करना चाहिए। संभव हो तो रसोईघर में ही बैठकर भोजन करें इससे राहु शांत होता है। जूते पहने हुए कभी भोजन नहीं करना चाहिए।

|सफलता के मंत्र

सुबह कुल्ला किए बिना पानी या चाय न पीएं। जूठे हाथों से या पैरों से कभी गौ, ब्राह्मण तथा अग्नि का स्पर्श न करें।
घर में देवी-देवताओं पर चढ़ाये गये फूल या हार के सूख जाने पर भी उन्हें घर में रखना अलाभकारी होता है।

Manokamna Purti Upay In Hindi

अपने घर में पवित्र नदियों का जल संग्रह कर के रखना चाहिए। इसे घर के ईशान कोण में रखने से अधिक लाभ होता है।
रविवार के दिन पुष्य नक्षत्र हो, तब गूलर के वृक्ष की जड़ प्राप्त कर के घर लाएं। इसे धूप, दीप करके धन स्थान पर रख दें। यदि इसे धारण करना चाहें तो स्वर्ण ताबीज में भर कर धारण कर लें। जब तक यह ताबीज आपके पास रहेगी, तब तक कोई कमी नहीं आयेगी। घर में संतान सुख उत्तम रहेगा। यश की प्राप्ति होती रहेगी। धन संपदा भरपूर होंगे। सुख शांति और संतुष्टि की प्राप्ति होगी।
देव सखा´ आदि 18 पुत्रवर्ग भगवती लक्ष्मी के कहे गये हैं। इनके नाम के आदि में और अन्त में `नम:´ लगाकर जप करने से अभीष्ट धन की प्राप्ति होती है। यथा – ॐ देवसखाय नम:, चिक्लीताय, आनन्दाय, कर्दमाय, श्रीप्रदाय, जातवेदाय, अनुरागाय, सम्वादाय, विजयाय, वल्लभाय, मदाय, हर्षाय, बलाय, तेजसे, दमकाय, सलिलाय, गुग्गुलाय, ॐ कुरूण्टकाय नम:।

Dhan Prapti Ke Liye Upay

किसी कार्य की सिद्धि के लिए जाते समय घर से निकलने से पूर्व ही अपने हाथ में रोटी ले लें। मार्ग में जहां भी कौए दिखलाई दें, वहां उस रोटी के टुकड़े कर के डाल दें और आगे बढ़ जाएं। इससे सफलता प्राप्त होती है। Kamyabi hasil karne ke totke | Pariksha mein safalta ke upay |सफलता के मंत्र
किसी भी आवश्यक कार्य के लिए घर से निकलते समय घर की देहली के बाहर, पूर्व दिशा की ओर, एक मुट्ठी घुघंची को रख कर अपना कार्य बोलते हुए, उस पर बलपूर्वक पैर रख कर, कार्य हेतु निकल जाएं, तो अवश्य ही कार्य में सफलता मिलती है।
अगर किसी काम से जाना हो, तो एक नींबू लें। उसपर 4 लौंग गाड़ दें तथा इस मंत्र का जाप करें : `ॐ श्री हनुमते नम:´।
बार जाप करने के बाद उसको साथ ले कर जाएं। काम में किसी प्रकार की बाधा नहीं आएगी।

Interview me pass honoe ke totke

चुटकी भर हींग अपने ऊपर से वार कर उत्तर दिशा में फेंक दें। प्रात:काल तीन हरी इलायची को दाएँ हाथ में रखकर “श्रीं श्रीं´´ बोलें, उसे खा लें, फिर बाहर जाए¡।
जिन व्यक्तियों को लाख प्रयत्न करने पर भी स्वयं का मकान न बन पा रहा हो, वे इस टोटके को अपनाएं।
प्रत्येक शुक्रवार को नियम से किसी भूखे को भोजन कराएं और रविवार के दिन गाय को गुड़ खिलाएं। ऐसा नियमित करने से अपनी अचल सम्पति बनेगी या पैतृक सम्पति प्राप्त होगी। अगर सम्भव हो तो प्रात:काल स्नान-ध्यान के पश्चात् निम्न मंत्र का जाप करें। “ॐ पद्मावती पद्म कुशी वज्रवज्रांपुशी प्रतिब भवंति भवंति।।´´
यह प्रयोग नवरात्रि के दिनों में अष्टमी तिथि को किया जाता है। इस दिन प्रात:काल उठ कर पूजा स्थल में गंगाजल, कुआं जल, बोरिंग जल में से जो उपलब्ध हो, उसके छींटे लगाएं, फिर एक पाटे के ऊपर दुर्गा जी के चित्र के सामने, पूर्व में मुंह करते हुए उस पर 5 ग्राम सिक्के रखें। साबुत सिक्कों पर रोली, लाल चन्दन एवं एक गुलाब का पुष्प चढ़ाएं। माता से प्रार्थना करें। इन सबको पोटली बांध कर अपने गल्ले, संदूक या अलमारी में रख दें। यह टोटका हर 6 माह बाद पुन: दोहराएं।
Laxmi Pane ke Upay
घर में समृद्धि लाने हेतु घर के उत्तरपश्चिम के कोण (वायव्य कोण) में सुन्दर से मिट्टी के बर्तन में कुछ सोने-चांदी के सिक्के, लाल कपड़े में बांध कर रखें। फिर बर्तन को गेहूं या चावल से भर दें। ऐसा करने से घर में धन का अभाव नहीं रहेगा।
व्यक्ति को ऋण मुक्त कराने में यह टोटका अवश्य सहायता करेगा : मंगलवार को शिव मन्दिर में जा कर शिवलिंग पर मसूर की दाल “ॐ ऋण मुक्तेश्वर महादेवाय नम:´´ मंत्र बोलते हुए चढ़ाएं।
जिन व्यक्तियों को निरन्तर कर्ज घेरे रहते हैं, उन्हें प्रतिदिन “ऋणमोचक मंगल स्तोत्र´´ का पाठ करना चाहिये। यह पाठ शुक्ल पक्ष के प्रथम मंगलवार से शुरू करना चाहिये। यदि प्रतिदिन किसी कारण न कर सकें, तो प्रत्येक मंगलवार को अवश्य करना चाहिये।
Manokamna Purti upay in hindi
सोमवार के दिन एक रूमाल, 5 गुलाब के फूल, 1 चांदी का पत्ता, थोड़े से चावल तथा थोड़ा सा गुड़ लें। फिर किसी विष्णुण्लक्ष्मी जी के मिन्दर में जा कर मूर्त्ति के सामने रूमाल रख कर शेष वस्तुओं को हाथ में लेकर 21 बार गायत्री मंत्र का पाठ करते हुए बारी-बारी इन वस्तुओं को उसमें डालते रहें। फिर इनको इकट्ठा कर के कहें की मेरी परेशानियां दूर हो जाएं तथा मेरा कर्जा उतर जाए´। यह क्रिया आगामी 7 सोमवार और करें। कर्जा जल्दी उतर जाएगा तथा परेशानियां भी दूर हो जाएंगी। सर्वप्रथम 5 लाल गुलाब के पूर्ण खिले हुए फूल लें। इसके पश्चात् डेढ़ मीटर सफेद कपड़ा ले कर अपने सामने बिछा लें। इन पांचों गुलाब के फुलों को उसमें, गायत्री मंत्र 21 बार पढ़ते हुए बांध दें। अब स्वयं जा कर इन्हें जल में प्रवाहित कर दें। भगवान ने चाहा तो जल्दी ही कर्ज से मुक्ति प्राप्त होगी। कर्ज-मुक्ति के लिये “गजेन्द्र-मोक्ष´´ स्तोत्र का प्रतिदिन सूर्योदय से पूर्व पाठ अमोघ उपाय है। Totka for success in job interview घर में स्थायी सुख-समृद्धि हेतु पीपल के वृक्ष की छाया में खड़े रह कर लोहे के बर्तन में जल, चीनी, घी तथा दूध मिला कर पीपल के वृक्ष की जड़ में डालने से घर में लम्बे समय तक सुख-समृद्धि रहती है और लक्ष्मी का वास होता है। अगर निरन्तर कर्ज में फँसते जा रहे हों, तो श्मशान के कुएं का जल लाकर किसी पीपल के वृक्ष पर चढ़ाना चाहिए। यह 6 शनिवार किया जाए, तो आश्चर्यजनक परिणाम प्राप्त होते हैं। घर में बार-बार धन हानि हो रही हो तों वीरवार को घर के मुख्य द्वार पर गुलाल छिड़क कर गुलाल पर शुद्ध घी का दोमुखी (दो मुख वाला) दीपक जलाना चाहिए। दीपक जलाते समय मन ही मन यह कामना करनी चाहिए कीभविष्य में घर में धन हानि का सामना न करना पड़े´। जब दीपक शांत हो जाए तो उसे बहते हुए पानी में बहा देना चाहिए।
काले तिल परिवार के सभी सदस्यों के सिर पर सात बार उसार कर घर के उत्तर दिशा में फेंक दें, धनहानि बंद होगी।
Ruke kaam banane ke totke
घर की आर्थिक स्थिति ठीक करने के लिए घर में सोने का चौरस सिक्का रखें। कुत्ते को दूध दें। अपने कमरे में मोर का पंख रखें।
अगर आप सुख-समृद्धि चाहते हैं, तो आपको पके हुए मिट्टी के घड़े को लाल रंग से रंगकर, उसके मुख पर मोली बांधकर तथा उसमें जटायुक्त नारियल रखकर बहते हुए जल में प्रवाहित कर देना चाहिए।
अखंडित भोज पत्र पर 15 का यंत्र लाल चन्दन की स्याही से मोर के पंख की कलम से बनाएं और उसे सदा अपने पास रखें।
व्यक्ति जब उन्नति की ओर अग्रसर होता है, तो उसकी उन्नति से ईर्ष्याग्रस्त होकर कुछ उसके अपने ही उसके शत्रु बन जाते हैं और उसे सहयोग देने के स्थान पर वे ही उसकी उन्नति के मार्ग को अवरूद्ध करने लग जाते हैं, ऐसे शत्रुओं से निपटना अत्यधिक कठिन होता है। ऐसी ही परिस्थितियों से निपटने के लिए प्रात:काल सात बार हनुमान बाण का पाठ करें तथा हनुमान जी को लड्डू का भोग लगाए¡ और पाँच लौंग पूजा स्थान में देशी कर्पूर के साथ जलाएँ। फिर भस्म से तिलक करके बाहर जाए¡। यह प्रयोग आपके जीवन में समस्त शत्रुओं को परास्त करने में सक्षम होगा, वहीं इस यंत्र के माध्यम से आप अपनी मनोकामनाओं की भी पूर्ति करने में सक्षम होंगे।

कच्ची धानी के तेल के दीपक में लौंग डालकर हनुमान जी की आरती करें। अनिष्ट दूर होगा और धन भी प्राप्त होगा।
अगर अचानक धन लाभ की स्थितियाँ बन रही हो, किन्तु लाभ नहीं मिल रहा हो, तो गोपी चन्दन की नौ डलियाँ लेकर केले के वृक्ष पर टाँग देनी चाहिए। स्मरण रहे यह चन्दन पीले धागे से ही बाँधना है।
अकस्मात् धन लाभ के लिये शुक्ल पक्ष के प्रथम बुधवार को सफेद कपड़े के झंडे को पीपल के वृक्ष पर लगाना चाहिए। यदि व्यवसाय में आकिस्मक व्यवधान एवं पतन की सम्भावना प्रबल हो रही हो, तो यह प्रयोग बहुत लाभदायक है।
अगर आर्थिक परेशानियों से जूझ रहे हों, तो मन्दिर में केले के दो पौधे (नर-मादा) लगा दें।
अगर आप अमावस्या के दिन पीला त्रिकोण आकृति की पताका विष्णु मन्दिर में ऊँचाई वाले स्थान पर इस प्रकार लगाएँ कि वह लहराता हुआ रहे, तो आपका भाग्य शीघ्र ही चमक उठेगा। झंडा लगातार वहाँ लगा रहना चाहिए। यह अनिवार्य शर्त है।

देवी लक्ष्मी के चित्र के समक्ष नौ बत्तियों का घी का दीपक जलाए¡। उसी दिन धन लाभ होगा।
एक नारियल पर कामिया सिन्दूर, मोली, अक्षत अर्पित कर पूजन करें। फिर हनुमान जी के मन्दिर में चढ़ा आएँ। धन लाभ होगा।
पीपल के वृक्ष की जड़ में तेल का दीपक जला दें। फिर वापस घर आ जाएँ एवं पीछे मुड़कर न देखें। धन लाभ होगा।
प्रात:काल पीपल के वृक्ष में जल चढ़ाएँ तथा अपनी सफलता की मनोकामना करें और घर से बाहर शुद्ध केसर से स्वस्तिक बनाकर उस पर पीले पुष्प और अक्षत चढ़ाए¡। घर से बाहर निकलते समय दाहिना पाँव पहले बाहर निकालें।

एक हंडिया में सवा किलो हरी साबुत मूंग की दाल, दूसरी में सवा किलो डलिया वाला नमक भर दें। यह दोनों हंडिया घर में कहीं रख दें। यह क्रिया बुधवार को करें। घर में धन आना शुरू हो जाएगा।
प्रत्येक मंगलवार को 11 पीपल के पत्ते लें। उनको गंगाजल से अच्छी तरह धोकर लाल चन्दन से हर पत्ते पर 7 बार राम लिखें। इसके बाद हनुमान जी के मन्दिर में चढ़ा आएं तथा वहां प्रसाद बाटें और इस मंत्र का जाप जितना कर सकते हो करें। `जय जय जय हनुमान गोसाईं, कृपा करो गुरू देव की नांई´ 7 मंगलवार लगातार जप करें। प्रयोग गोपनीय रखें। अवश्य लाभ होगा।
अगर नौकरी में तरक्की चाहते हैं, तो 7 तरह का अनाज चिड़ियों को डालें।
ऋग्वेद (4/32/20-21) का प्रसिद्ध मन्त्र इस प्रकार है –

`।।ॐ भूरिदा भूरि देहिनो, मा दभ्रं भूर्या भर। भूरि घेदिन्द्र दित्ससि। ॐ भूरिदा त्यसि श्रुत: पुरूत्रा शूर वृत्रहन्। आ नो भजस्व राधसि।।´

(हे लक्ष्मीपते ! आप दानी हैं, साधारण दानदाता ही नहीं बहुत बड़े दानी हैं। आप्तजनों से सुना है कि संसारभर से निराश होकर जो याचक आपसे प्रार्थना करता है उसकी पुकार सुनकर उसे आप आर्थिक कष्टों से मुक्त कर देते हैं – उसकी झोली भर देते हैं। हे भगवान मुझे इस अर्थ संकट से मुक्त कर दो।)

निम्न मन्त्र को शुभमुहूर्त्त में प्रारम्भ करें। प्रतिदिन नियमपूर्वक 5 माला श्रद्धा से भगवान् श्रीकृष्ण का ध्यान करके, जप करता रहे –

“।।ॐ क्लीं नन्दादि गोकुलत्राता दाता दारिद्र्यभंजन।
सर्वमंगलदाता च सर्वकाम प्रदायक:। श्रीकृष्णाय नम:।।´´

भाद्रपद मास के कृष्णपक्ष भरणी नक्षत्र के दिन चार घड़ों में पानी भरकर किसी एकान्त कमरे में रख दें। अगले दिन जिस घड़े का पानी कुछ कम हो उसे अन्न से भरकर प्रतिदिन विधिवत पूजन करते रहें। शेष घड़ों के पानी को घर, आँगन, खेत आदि में छिड़क दें। अन्नपूर्णा देवी सदैव प्रसन्न रहेगीं।

किसी शुभ कार्य के जाने से पहले –
रविवार को पान का पत्ता साथ रखकर जायें।
सोमवार को दर्पण में अपना चेहरा देखकर जायें।
मंगलवार को मिष्ठान खाकर जायें।
बुधवार को हरे धनिये के पत्ते खाकर जायें।
गुरूवार को सरसों के कुछ दाने मुख में डालकर जायें।
शुक्रवार को दही खाकर जायें।
शनिवार को अदरक और घी खाकर जाना चाहिये।
किसी भी शनिवार की शाम को माह की दाल के दाने लें। उसपर थोड़ी सी दही और सिन्दूर लगाकर पीपल के वृक्ष के नीचे रख दें और बिना मुड़कर देखे वापिस आ जायें। सात शनिवार लगातार करने से आर्थिक समृद्धि तथा खुशहाली बनी रहेगी।

Sacha pyar pane ka mantra

Sacha pyar pane ka mantra


Aaj Hum Aap Logo Ko Humari Website Ke Madhyam Se Prem Me Jit Ke Vashikaran Totke Batane Ja Rahe Hai. Jinko Karne Se Aapko Apne Prem Me Jit Jarur Milegi Aur Aapka Prem Vivah Hoga. Jin Logo Ko Prem Vivah Me Preshani Aa Rahi Hai Vo Humare Diye Gaye In Totke Ko Kare Aur Apne Payar Ko Pane Me Deri Na Kare.

Manchaha pyar pane ka mantra

प्रेम एक बहुत ही अनोखा अहसास है, हर व्यक्ति चाहता है की उसे मनचाहा प्यार मिले। आज हम आपको बतायेगे प्रेम में सफलता के कुछ टोटके जिनकी सहायता से आप भी अपने सच्चे प्यार को पा सकते है।

41 दिन तक कृष्ण मंदिर में बांसुरी डाल करें और मीठा पांडाल करें ऐसा करने से आपका प्रेम विवाह अवश्य होगा |
शुक्ल पक्ष के पहले दिन गौरी शंकर रुद्राक्ष धारण करने से प्रेम में सफलता प्राप्त होती है |
बिनोर की जड़ और धतूरे का बीज प्याज में मिलाकर सुनने से प्रेम विभाग से होता है |
ओम लक्ष्मी नमः का मंत्र का जाप शुक्रवार को करें पर लक्ष्मी विष्णु की फोटो अपने मंदिर में स्थापित कराने |
याद रखें कि काले रंग की वस्तु कभी भी किसी को भी गिफ्ट मिला दे अपने प्रेमी को ,ऐसा करने से प्रेम विवाह में दिक्कत होती है और प्रेम विवाह नहीं होता |
कोशिश कीजिए कि शुक्रवार को और पूर्णिमा वाले दिन आप अपने प्रेमी से ज़रूर मिले ऐसा करने से प्यार बढ़ता है |
16 सोमवार व्रत रखें और शहद से भगवान शिव का रुद्राभिषेक करने से मनचाहा प्रेम मिलता है |
इन उपाय को करने से प्रेम में वशीकरण होता है और मनचाहा प्रेम आपके पास करेगा और आप अपने मनचाहे प्रेम से ही विवाह करेंगे और कोई दिक्कत नहीं होगी |

Manchaha pyar pane ka mantra

सच्चे प्रेम की मनोकामना: जिस किसी से प्यार करें उसे पाने के लिए अपने अराध्य देव या दूसरे देवी-देवताओं से प्रार्थन करें कि उसमें रत्तीभर भी फर्क नहीं आने पाए। इस संबंध में आध्यात्मिक, अनुष्ठानिक और धार्मिक उपाय इस तरह के हैंः-
पूजा और मंत्र जापः भगवान विष्णु और लक्ष्मी की तीन महीने तक विधि के अनुसार पूजा करने और मंत्र जाप से सच्चे प्रेम की मानोकामना पूर्ण हो जाती है। इस पूजा का शुभारंभ शुक्ल पक्ष में गुरुवार के दिन से करनी चाहिए। उनकी सामान्य पूजन के बाद मंत्र ‘ओम लक्ष्मी नारायण नमः’ का तीन माला जाप तीन महीने तक लगातार किया जाना चाहिए। इसी के साथ तीन माह तक प्रत्येक गुरुवार को मंदिर में प्रसाद चढ़ाना चाहिए। Manchaha Pyar Pane Ka Mantra | Apne pyar ko wapas pane ka mantra
मां दुर्गा की पूजाः प्रेमिका को अपना बनाने या कहें उसके दिल में अपनी विशिष्ट जगह बनाने के लिए मां दुर्गा की पूजा और उनकी प्रतिमा पर लाल रंग का ध्वजा या चुनरी चढ़ाने से प्रेम में मनोवांछित सफलता मिलती है।
प्यार पाने का मंत्र
श्रीकृष्ण की आराधनाः प्रेम की चाहत, प्रेमिका की निष्ठा, सच्चाई और भावनात्मक माधुर्यता बनाए रखने के लिए भगवान श्रीकृष्ण के मंदिर में बांसुरी के साथ पान अर्पित करना चाहिए। ऐसा तब तक करना चाहिए जबतक कि प्रेमिका प्रेम को स्वीकार ने कर ले। या कहें दिल को प्रेमिका के प्रेम का एहासास न हो जाए। इसके साथ ही भगवान श्रीकृष्ण के साथ राधा के प्रेममय तस्वीर का ध्यान कर मंत्र ओम हुं ह्रीं सः कृष्णाय नमः का जाप करने से मनचाहा प्रेम विवाह संपन्न हो जाता है। इस मंत्र के जाप के बाद भगवान श्रीकृष्ण के ऊपर शहद का छिड़काव करें।

मनचाहा प्यार पाने के टोटके

रुद्राभिषेकः मनचाहे प्रेम को पाने का एक उपाय रुद्राभिषेक का अनुष्ठा भी है। इसे विधि-विधान के साथ किया जाना चाहिए तथा इसके लिए सुनिश्चत संख्या में मंत्र का जाप ब्रह्मण द्वारा बताए गए कठोर नियम पालन करते हुए करना चाहिए।
सोलह सोमवारः सच्चे प्रेम की प्रप्ति सोलह सोमवार का व्रत से भी संभव है।नियमपूर्वक इस व्रत को करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और सुयोग्य, सुंदर और सदा प्रेम करने वाली जीवन साथी मिलती है, जिसका प्रेम भाव कभी कम नहीं होता है।आकर्षण का बीजमंत्रः प्रेम की शुरुआत, या कहें दिल में किसी के प्रति चाहत की सुगबुगाहट तभी होती है जब प्रेम करने वालों के बीच अद्भुत आकर्षण पैद हो।

खोए हुए प्यार को फिर से पाने के टोटके

इसके लिए उन्हें बीज मंत्र का प्रयोग करना चाहिए। वह मंत्र हैः- ओम क्लीं नमः। इसी के साथ आकर्षण शक्ति को इस मंत्र के जाप से भी बढ़ाया जा सकता है। मंत्र हैः- ओम क्लीं कृष्णाय गोपीजन वल्लभाय स्वाहः। इस मंत्र का जाप राधा-कृष्ण की तस्वीर या प्रतिमा के ओग 108 बार प्रत्येक शुक्रवार को किया जाना चाहिए।
सुरक्षित रहे प्यारः प्यार को बचाकर रखना आसान नहीं है। इसके खो जाने या प्रेमिके रूठ जाने की आशंका बनी रहती है। प्यार को सुरक्षित बनाए रखने के लिए मंत्र ओम हीं नमः का एक सप्ताह तक प्रतिदिन 1000 जाप करना चाहिए। जाप के दौरान लाला कपड़ा पहनें और कुमकुम की माला धारण करें। इसके प्रभाव के बारे में बताया गया है कि यह प्रेमिका या पत्नी को प्रेमजाल में बांधकर रखने के लिए उपयोगी है।
शाबर मंत्रः प्रेमियों या दंपति के बीच प्रेम-संबंध की मधुरता बनी रहे इसके लिए कामदेव को शाबर मंत्र के जरिए प्रसन्न रखना जरूरी है। वह मंत्र हैः- ओम कामदेवाय विद्य्महे, रति प्रियायै धीमहि, तन्नो अनंग प्रचोदयात्। इसके जाप से दंापत्य जीवन में प्रेम की रसधारा के प्रवाह में गति आ जाती है। इसके अतिरिक्त ‘‘ओम नमो भगवते कामदेवाय यस्य यस्य दृश्यो भवामि यस्य यस्य मम मुखं पश्यति तं तं मोहयतु स्वाहा।’’ मंत्र के जाप से मनसिक और शारीरिक आकर्षण, दोनों मं तीव्रता आ जाती है।

प्यार को पाने के तरीके

शुक्र मंत्रः वशीकरण और प्रेमियों के बीच आपसी आकर्षण बनाए रखने तथा यौन क्षमता बढ़ाने के लिए शुक्र मंत्र ‘‘ओम द्रां, द्रीं, द्रौं सः शुक्राय नमः’’ का बताए गए विधिनुसार जाप करना चाहिए। इससे खोया हुआ प्यार भी वापस मिल जाता है या रूठी प्रेमिका को मनाया जा सकता है।

Pati se baat manwane ka totka

Pati se baat manwane ka totka


Kisi Ki Bhi Life Me Agar Un Ke Pati Un Ki Baat Nhi Maante Ya Un Ki Ek Bhi Nhi Sunte To Aap Ye Upay Kar K Apni Marzi Ki Baate Manwa Sakte Hai. Is Upay Ko Karne Se Aap Ke Husband Aap Ke Ishaaro Per Nachne Lage Ge. Niche Diye Gaye Tantrik Totke Ko Purn Vidhi-Vidhaan Se Karne Per Aap Kisi Bhi Gayani Aadmi Chahe Vo Kitna Bhi Minded Ho Aap Us Per Bhi Vijay Prapt Kar Sakte Hai.

Pati se apni baat manwane ka totka

  • कर्मकांड की सामग्री
  • एक लाल रंग का कपडा
  • ताज़ा निम्बू
  • ७ लौंग
  • एक सफ़ेद कागज़ और थोड़ा लाल सिन्दूर

अपने पति को वश में करने की तांत्रिक विधि–

शनिवार के दिन सुबह गंगाजल से स्नानादि से निर्वित होकर काली माँ के मंदिर जा के हकीक माला अर्पित करे।

शनिवार की मध्यरात्रि को अपने पति के सर के ७ बाल काट ले। तत्पश्चात उस नीबू पर लाल पेन से ॐ प्रां प्री प्रो भट स्वः लिख देवे और उस निम्बू पर ३ लौंग ऊपर की तरफ और ४ लौंग निचे की तरह लगा देवे। तत्पश्चात एक सफ़ेद कागज़ पर लाल पेन से ७५१ बार उस व्यक्ति को नाम लिखें। जिसको आप वश में करना चाहते हो। इसके बाद उस लौंगजड़ित निम्बू को सफ़ेद कागज़ में लपेट पर सफ़ेद कपडे में बाँध कर किसी केर के पेड़ के निचे दबा दे। ऊपर से उस जगह पर थोड़ा सिन्दूर डाल देवे और अगले दिन उस निम्बू को वापिस अपने घर ले आवे। उस निम्बू को बाहर निकाल कर उस निम्बू के रस को अपने पति के भोजन या पानी में मिला कर खिला देवे।

इस टोटके को यदि मासिकधर्म के दौरान किया जावे तो इसका परिणाम आपको 10-15 दिन में प्राप्त हो जायेगा.

कृपया धयान दें——- इन उपायों या टोटको का इस्तेमाल किसी भी गलत उद्देश्य के लिए न किया जाये अन्यथा इनका आपका जीवन पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।

Vashikaran in hindi

Vashikaran in hindi


Aaj Kal Har Koi Kisi N Kisi Ko Apna Kaam Nikaalne Ke Liye Us Ko Vash Me Karna Chahta Hai. Per Us Ko Sahi Mantra Pata Nhi Hote Orr Us K Sapne Adhure Reh Jaate Hai. Aaj Hum Aap Ko Name Se Vashikaran Karne Ka Tarika Batayege. Is Asaan Totke Ko Karne Se Aap Kisi Ko Bhi Apne Vash Me Kar Sakte Hai.

Aap Jis Ko Payar Karte Ho Aur Apni Paremika Ko Wife Banana Chahte Ho To Aap Is Totkte To Kar Ke Us Ko Apni Wife Bana Sakte Ho. Agar Aapka Husband Kisi Ger Aurat Ke Sath Ya Fir Aapki Wife Kisi Se Payar Kar Rahi Hai To Aap Is Totke To Kar Ke Us Ko Apne Payar Me Pagal Kar Sakte Hai.

Vashikaran in hindi

हमारे फोटो से वशीकरण करने के टोटके में हमने आपको किसी और को फोटो के इस्तमाल से आप वश में कर सकती/सकते हो| तो आज हम आपको कुछ ऐसे मंत्र और टोटके बताने वाले जिसको आप किसी रूठे हुए को मनाने के लिए इस्तमाल कर सकते हो|

नाम से वशीकरण करने के टोटके :

अपने प्यार को पाने के लिए उपाय करने के लिए आपको कुछ बातो का ख्याल रखना है इस नाम से वशीकरण के टोटके में आपको सिर्फ किसी का अच्छा करने के लिए ही इस्तमाल करना चाहिए|

नाम से वशीकरण करने का मंत्र :

नाम से वशीकरण करने के लिए आपको निचे दिए हुए मंत्र का जप करना है|

“ओम हारीम कुरूम पिसचिनी ( जिसका वशीकरण करना है उस व्यक्ति का नाम लें) मं वशियम भवन्ति “

Vashikaran In Hindi

नाम से वशीकरण करने का मंत्र का जप कैसे करे जानकारी हिंदी में :

  • ऊपर दिए हुए वशीकरण मंत्र का इस्तमाल आप किसी को वश में करने के लिए इस्तमाल कर सकते हो|
  • इस मंत्र का प्रयोग आपको लगातार ५ शुक्रवार जाप करना है|
  • मंत्र का जाप करने के बाद एक सफ़ेद कागज़ लेकर इस कागज़ के ऊपर अपने प्रियजन का नाम लेकर इस कागद में मोर की कलगी रखकर कागज़ में लपेट ले इसके बाद आपको ऊपर दिए हुए मंत्र का जाप करना है|
  • अब इसको घर के किसी गुप्त जगह पर रखना है ध्यान रहे की यह सिर्फ आपको ही पता हो|
  • ७ दिनों बाद इस को निकालकर एक शांत जगह पर इसके ऊपर देसी घी डालकर इसको जला दे|
  • इस सरल प्रयोग से आप अपने पति को पत्नी को प्रेमिका को दोस्त के नाम से वशीकरण कर सकते हो| इस क्रिया को करने के समय आपको अपने आप पर विश्वास और नकारात्मक विचार नहीं आने देना है|
Kaal sarp dosh nivaran

Kaal sarp dosh nivaran


Jis Bhi Aadmi Ki Kundli Me Kaalsarp Dosh Hota Hai Use Apne Jivan Me Anek Problem Ka Samna Karna Padta Hai. Isi Vajah Se Ise Ashub Yog Mana Jata Hai. Agar Kisi Aadmi Ke Pass Apni Janam Kundli Na Ho To Aur Use Baar-Baar Snack Se Jure Sapne Aaye To Samjhna Chahiye Ki Use . Kaalsarp Dosh Hai Kaal Sarp Dosh Door Karne Ke Upay

Kaal sarp dosh nivaran at home

  • Yadi koi sapne me dekhta hai ki snack uski or aa raha hai ya uska picha kar raha hai to yeh kaalsarp dosh ka sanket hai.
  • Yadi kisi ko sapne me water per terta hua snack dikhai de to bhi kaalsarp dosh ka sanket hi samjahna chahiye.
  • Agar aap ko sapne me udta hua yaa fir uchlta hua snack dikha bhi kaalsarp dosh ka sanket hai.
  • Jab koi sapne me dekhe ki snack ka jora uska hand-leg per lipta hua hai to yeh bhi kaalsarp yog ka sanket hai.
  • Sapne me baar-baar bhut sare snack dikhna ya khud ko unke bich dekhna bhi kaalsarp yog ka sanket hai.
  • Agar Sapne me baar-baar snack dawara kaatna bhi Kaalsarp dosh ka hi sanket maana jata hai.
  • Sapne me yadi 2 snack ladai karte dikhe to ise bhi kaalsarp dosh hi maannaa chahiye.
  • Kaal sarp dosh door karne ke upay | Kaal sarp dosh nivaran at home
  • Market se kisi bhi gold ya silver ke vayapari se silver ke naag-nagin ka jora karide. Us jore ko river me jal parvah kar de. Sath hi eastdev se kaalsarp dosh ka ashub asar door karne ki prayar kare.
  • Har saturday kaale kutte ko roti khilaye. Yadi kaala kutta na mile to kisi dusre kutte ko bhi roti khila sakte hai.
  • Kisi bhi shubh tithi per subhe jaldi uthe aur nha kar ke shiv ji ke mindir me shivling per taambe ka naag charaye.
  • Har roj shivling per taambe ke lote se jal charaye. Jal charate samya omm namah shivaye mantra ka kaap kare. Jaap ki sankhya kam se kam 108 baar hogi to bhut hi acha hoga.
  • Kisi garib aadmi ko kala kambal, kaali urad ka daan kare. Garib aadmi ka anadar na kare aur jaruratmand ki madad kare.
Sautan se chutkara pane ke upay

Sautan se chutkara pane ke upay


Kya Aapka Husband Aapke Sath Dhoka Kar Raha Hai. Kyaa Vo Kisi Ger Aurat Ke Sath Meljol Rakhta Hai. Kya Aapka Husband Aapko Bilkul Bhi Payar Nhi Karta Hai. Ya fir Aap Apni Sautan Se Picha Churwna Chahte Hai ?

Hum Apne Is Post Me Batane Ja Rahe Hai Ek Esi Vidhi Jisko Karke Aap Sautan Se Chutkara Bhi Pa Lenge Aur Apne Husband Ke Dil Me Apne Liye Payar Bhi Jaga Sake Ge. Is Vidhi Ko Kripya Vese Hi Kare Jaise Hum Aap Ko Batane Jaa Rahe Hai. Pehle Is Vidhi Ko Ache Se Samaj Le Fir Hi Isko Istimal Kare.

Sautan se chutkara

इस विधि के लिए जरुरी सामान :

  • उस औरत ने जहा पैर रखा हो वह की थोड़ी सी मिट्टी
  • एक कपडे की गुड़िया
  • चार तुलसी के पत्ते
  • कच्चा दूध
  • तीन काली मिर्च के दाने
  • तीन लौंग
  • एक कील
  • काला कपडा
  • थोड़ी सी जलाने के लिए लकड़ियां
  • विधि करने का पूरा तरीका :
  • सबसे पहले काला कपडा बिछा लें
  • उसके बाद उसके ऊपर गुड़िया रख दें
  • उसके सामने लकड़ियां जला लें
  • गुड़िया के ऊपर उस औरत के पैरो को मिट्टी छिडक दें
  • अब कचे दूध में चार तुलसी के पत्ते डाल दें
  • फिर उसमें तीन लौंग और तीन काली मिर्च के दाने डाल दें
  • दूध वाले पात्र को हाथों में लेकर नीचे दिए गए मन्त्र का 128 जाप करें

मन्त्र :

“ओम भरा भरा बहु भैरव स्वः, ओम भन भन भन अमुक मोहनाय स्वः”

नोट : अमुक की जगह अपने पति का नाम बोले

अब एक काली मिर्च और एक एक लौंग दूध में से निकल लें. उनको गुड़िया के ऊपर रखे दें. अब बाकि दो काली मिर्च और दो लौंग निकल लें. उनको आग में समर्पित कर दें. आग बुझने पर रख को गुड़िया के ऊपर डाल दें. फिर सबको काले कपडे में बांध लें. उसको किसी चौराहे में जाकर छोड़ आएं.

इस विधि को करने के लिए जरुरी जानकारी :

  • इस विधि को सोमवार की रात को करें.
  • गुड़ीया काले कपडे की ही हो.
  • अपनी माहवारी के दिनों में इस विधि का प्रयोग न करें.
  • विधि के बारे में किसी से कुछ न कहें.
Love problem solution By Mantra

Love problem solution By Mantra


Kya Aap Kisi Ko Man Hi Man Me Bhut Pasand Karte Ho Aur Uska Pyar Hasil Karna Chahte Ho To Aap Yeh Puratan Vedo Se Liye Gaye Mantra Ka Use Karke Bhut Jald Apni Har Problem Jo Aapke Payar Ke Raste Me Aa Rahi Hai Us Ka Samadhaan Kar Sakte Hai Aur Apna Khoya Aur Bichra Hua Payar Bhi Hasil Kar Sakte Ho Vo Bhi Bhut Kam Samya Me.

इस मन्त्र की विधि क लिए आवश्यक सामग्री :

  • सात पपीते के बीज
  • थोड़ा सा सिन्दूर
  • केसर
  • सात राई क दाने
  • थोड़ा सा चन्दन पाउडर
  • एक कागज़
  • उस इंसान क पैरो की मिट्टी जिसका आप प्यार हासिल करना चाहते हैं या जिसको आप वापिस पाना चाहते है. थोड़ी सी शमशानघाट की मिट्टी.

इस विधि को करने का पूरा तरीका

सबसे पहले आप उत्तर दिशा की तरफ मुंह करके बैठ जाएं. फिर होने सामने कागज़ रख लें. सबसे पहले कागज़ पर सात पपीते के दाने रख दें. फिर उन पर शमशानघाट की मिट्टी गिरा दें. उसके बाद उन पर उस इंसान के पैरों की मिट्टी गिरा दें. अब उन पर थोड़ा सा सिन्दूर और चन्दन पाउडर डाल दें. फिर सात राइ क दाने अपने दाएं हाथ में लें. उन पर थोड़ा सा केसर डाल दें. दानो को हाथ में पकड़कर नीचे दिए गए मन्त्र का 108 बार जाप करें.

मन्त्र :
||कमख्य वरदे देवी नीलपर्वतवासिनि त्वम् देवी जगतम मातर्योनिमुद्रे नमोस्तुते ||

अब अपने हाथ में लिए हुए दानो को अपने सर के ऊपर से सात बार घुमाएं. फिर उनको कागज़ पर रख दें. सारी सामग्री कागज़ में लपेट लें. सामग्री को किसी चौराहे में जाकर छोड़ आएं. बस अगली बार जब आप उस इंसान के सामने जायेंगे तो उसके व्यव्हार से आपको पता चल जायेगा की आपका उपये काम कर गया है.

इस विधि को करने के लिए कुछ सावधानियां

  • इस विधि को शुक्रवार को सूर्यास्त के बाद ही करें.
  • ध्यान रखें कोई ऐसा स्थान चुने जहाँ विधि करते समय कोई बीच में विघ्न न डाले.
  • इस विधि को एक ही इंसान पर दोबारा न करें.
  • मन्त्र का उच्चारण सही ढंग से करें.
Sarkari Naukri Pane Ke Best Upay

Sarkari Naukri Pane Ke Best Upay


Kya Aap Koi Esa Upay Karna Chahte Hai Jis Se Aapko Manchahi Sarkari Naukri Mil Jaye? To Is Bataye Gaye Upay Ko Karke Aap Hasil Kare Apni Manchahi Sarkari Naukari Aur Kare Apna Sapna Pura.

इस उपाय को करने के लिए जरुरी सामग्री :

  • एक केले का पत्ता
  • थोड़ा सा गंगा जल
  • हल्दी
  • सिन्दूर
  • एक अखरोट
  • सात पपीते के दाने
  • लाल धागा
  • एक देसी घी का दीपक
  • थोड़ा सा दही
  • एक चमच शहद
  • दो छोटी इलायचियाँ

इस उपाय को करने का पूरा तरीका :

केले के पत्ते को गंगा जल से स्नान करवाएं. फिर उसके ऊपर हल्दी के साथ एक गोल बना लें. अब दही में एक चमच शहद मिला लें. उसको गोले के अंदर रखे दें. अब देसी घी का दीपक जला लें. उसके साथ एक अखरोट रख दें. उसके साथ दो छोटी. इलायचियाँ रख दें. उनके ऊपर थोड़ा सा सिन्दूर डाल दें. फिर नीचे दिए मन्त्र का 181 बार जाप करें

मन्त्र :

||ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नम:||

उसके बाद दही के ऊपर फूंक मार दें. इस दही को आप अपने पास रख लें. और बाकी सामग्री को केले के पत्ते में लपेट लें. उसके बाद उसको लाल धागे के साथ बांध लें. इस सामग्री को किसी सुनसान जगह पर पेड़ के तने के पास रख आएं. दही को आप जब. नौकरी के लिए इंटरव्यू पर जाने से पहले खा लें

इस मन्त्र को करने के लिए कुछ सावधानियां :

  • मन्त्र का उचारण सही ढंग से करें.
  • इस उपाय को केवल शनिवार के दिन करें.
  • सामग्री को ऐसी जगह रखना है जहा वो पेड़ के तने के साथ लग रहा हो.
  • इस उपाय के बारे में किसी को कुछ न कहें.
karz se jaldi mukti ke upay

karz se jaldi mukti ke upay


Is sansar me dhan ka bhut parmukh sathaan hai. Because kai baar apni jarurat ko pura karne ke karan,vayapaar. After karobaar ko badaane ke liye aur nasamjhi me hi hum karz le lete hai. That’s why jis karan hum time per us ko vapis nhi de pate hai. Kai baar karz samya per na chook paane ke karan. Lekin us per itna adhik bayaj bad jata hai. Jis se ki use chukane ke liye aadmi ki nind haram ho jati hai. Is badte karz ka asar pure parivaar per padta hai.

Know the ways to get rid of debt according to ancient beliefs and scriptures.

Karz mukti ke upay

  • मंगलवार को शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग पर मसूर की दाल “ॐ ऋण-मुक्तेश्वर महादेवाय नमः”मंत्र बोलते हुए चढ़ाएं।
  • घर अथवा कार्यालय मे गाय के आगे खड़े होकर वंशी बजाते हुए भगवान श्री कृष्ण का चित्र लगाने से कर्जा नहीं चडता है,करजो से छुटकारा मिलता है | और दिए गए धन की डूबने की सम्भावना भी कम रहती है |
  • कर्जे से मुक्ति प्राप्त करने के लिए व्यक्ति लाल वस्त्र पहनें या लाल रूमाल साथ रखें। भोजन में गुड़ का उपयोग करें।
  • बुधवार को स्नान पूजा के बाद व्यक्ति सर्वप्रथम गाय को हरा चारा खिलाये उसके बाद ही खुद कुछ ग्रहण करें तो उसे शीघ्र ही कर्जे से छुटकारा मिल जाता है।
  • क़र्ज़ से छुटकारा पाने के लिए सर्व-सिद्धि-बीसा-यंत्र धारण करें इसे अति शीघ्र सफलता मिलती है।
  • हनुमानजी के चरणों में मंगलवार व शनिवार के दिन तेल-सिंदूर चढ़ाएं और माथे पर सिंदूर का तिलक लगाएं।हनुमान चालीसा या बजरंगबाण का पाठ करें|
  • ५ गुलाब के फूल, १ चाँदी का पत्ता, थोडे से चावल, गुड़ लें। किसी सफेद कपड़े में २१ बार गायत्री मन्त्र का जप करते हुए बांध कर जल में प्रवाहित कर दें। ऐसा ७ सोमवार को करें।

कर्जा लेने वाला व्यक्ति यदि अपनी तिजोरी में स्फुटिक श्रीयंत्र के साथ साथ मंगल पिरामिड की स्थापना करें और नित्य धूप दीप दिखाएँ तो उसे शीघ्र ही ऋण से मुक्ति मिलती है ।