Jane Dhature ke Vashikaran kaise kare


वशीकरण तांत्रिक प्रयोग से बेशक बहुत से लोग परहेज करते हो। बहुत से लोग कालजादू , टोटके तांत्रिक चीज़ों से डरते है, पर वही दूसरी तरफ बहुत से लोग इस पर विश्वास भी करते है। वैसे कोई भी चीज़ तब गलत होती है, जब इंसान गलत नियत से उसका प्रयोग करता है, वरना वशीकरण विद्या का भी अपना तात्पर्य है। यह विद्या ऐसे कई उपाय बताती है, जिसकी मदद से इंसान अपनी रोजमरा की ज़िंदगी मे आने वाली दिक्कतों से निजात पा सकता है। तो चलिए जानते है एक ऐसी ही वशीकरण विद्या से जिसको आप काले धतूरे की मदद से कर सकते है।

Kale Dhature ke Vashikaran Tantrik Prayog

सबसे पहले आप धतूरे का बीज लेकर उसे नारियल के साथ पीस लें। इसके बाद उसमे कपूर के पाउडर व शहद को मिला लें। अब बनाए गए मिश्रण से रोज तिलक कर ले। यह तिलक लगाने के बाद जब आप किसिके सामने जाएंगे वो व्यक्ति आपके वश मे हो जाएगा। यदि तिलक लगाकर आप अपने प्रेमी या प्रेमिका के सामने जाते है तो वो भी आपके वश मे हो जाएगा/जाएगी।

ठीक एक ऐसा ही मिलता-जुलता उपाय आप कर सकते है। इसमे आपको धतूरे के बीज के साथ बस प्याज और बिजौरे की जड़ को मिलाना होगा। अब इन्हे पीसकर माथे पर लगा ले। इस तिलक को देखने वाला आपके वशीभूत हो जाएगा।

अब हम आपको एक ऐसा वशीकरण मंत्र बता रहे है जिसकी मदद से आप किसिकों भी अपने वश मे कर सकते है। तो सबसे पहले आप मंत्र जान ले। मंत्र है: “ॐ हारीम कुरुम शर्वाय (व्यक्ति का नाम) सोमनाथं शरणं प्रपघे भवन्ती”। अब एक धतूरा लेकर उसको कलावे से बांध ले। अब इसके ऊपर चंदन से एक टीका कर दे। इसके बाद उस धतूरे के 4 टुकड़े कर ले। अब किसी शांत जगह पर बैठकर इसका प्रयोग करे। शांत जगह पर बैठ जाने के बाद अपने चारों ओर एक-एक टुकड़े को रख ले। यानि एक उत्तर, एक दक्षिण, एक पूर्व तो एक पश्चिम दिशा मे। पर अपना मुंह पूर्व दिशा मे रखे। अब “ॐ नम शिवाय” का 3 बार उच्चारण करे उसके बाद बताए गए मंत्र का 108 बार जाप करे। मंत्र पूरा होने के बाद धतूरे के उन चारों टुकड़ों को उठा ले व किसी भी सोमवार के दिन शिवलिंग पर चड़ा आए।

एक अन्य मंत्र विधि आप जान ले। मंत्र है: “ॐ नम: कामाक्षाय महाशक्तिरूपाय ‘अमुकस्य’ आकर्षण कुरू कुरू हीं कीं श्री फट् स्वाहा”। इस विधि को करने के लिए आपको बिल्वपत्र और धतूरे के आवश्यकता पड़ेगी। सबसे पहले तो आप 3 पत्ते वाले 108 बिल्वपत्र ले आएं। फिर उन्हे गंगाजल से धो ले। अब मिट्टी का शिवलिंग तैयार करने के बाद निम्नवत मंत्र को पढ़कर एक बिल्वपत्र शिवलिंग पर चढ़ा दे। इसी तरह 108 बार मंत्र को पढ़कर, हर बार एक बिल्वपत्र शिवलिंग पर चढ़ा दे। प्रक्रिया पूरी होने के बाद सभी बिल्वपत्रों को बहते पानी मे बहा दे। इस प्रकार मंत्र सिद्ध हो जाएगा। यह सब करने के बाद किसी भी दिन आप काले धतूरे के रस में गोरोचन मिलाकर श्वेत कनेर की टहनी से भोजपत्र पर निम्नवत मंत्र लिख ले। ध्यान रहे ऊपर बताए गए मंत्र मे आपको ‘अमुकस्य’ के जगह उस व्यक्ति का नाम लिखना होगा, जिसे अपने वश मे करना चाहते हैं। ऐसा करके आप जल्द ही परिणाम देख पाएंगे।

यह तांत्रिक विधि भी आप जान ले, जिसकी मदद से आप किसी रूठे हुए को मना सकते है। सबसे पहले एक मंत्र है: “ॐ नमः आदिरूपाय ‘अमुकस्य’ आकर्षण: कुरू कुरू स्वाहा”। अब विधि को शुरू करने के लिए काले धतूरे के पत्तों को पीसकर उनका रस निकाल ले। जितना भी रस निकले उसे जमा करले। अब इसमे गोरोचन मिला ले और भोजपत्र का एक टुकड़ा ले। इसके बाद श्वेतार्क की कलम ले ले। अब इस कलम व स्याही की मदद से भोजपत्र के ऊपर बताया गया मंत्र लिखे। ‘अमुकस्य’ के जगह उस व्यक्ति का नाम लिखना होगा, जिसे अपने वश मे करना चाहते हैं। यदि कोई घर से भाग गया है, या कोई रूठकर घर छोड़ गया हो, उसे आप इसी साधना से वापस ला सकते है। अब इस यंत्र को कपूर से धीरे–धीरे तपा दे। साथ ही साथ उस व्यक्ति का ध्यान करते रहे। अगले 9 दिन तक इस विधि का प्रयोग करे और ज़रूर ही आपको अच्छा परिणाम देखने को मिलेगा।

धतूरे से किए जाने वाले वशीकरण व तांत्रिक विधि के बारे मे आपने जाना, पर क्या आप जानते है की धतूरा एक चमत्कारी पौधा भी होता है। आप किसी भी शुभ मुहूर्त मे धतूरे को अपने घर ले आए और घर मे पूजा वाले स्थल पर रख दे। फिर इसकी पूजा करते हुए महाकाली का आह्मवान करें। ऐसा करके आप अपने घर मे बने रहने वाली परेशानियों से निजात पा सकते है। फिर चाहे वो धन संबंधी ही समस्या क्यूँ न हो। क्या आप जानते है कि जिस घर में धतूरे की जड़ रखी जाती है, वहां कभी भी सांप और धरती पर विचरण करने वाले जीव-जन्तु घर में प्रवेश नहीं करते है।

उम्मीद है धतूरे से किए जाने वाली वशीकरण विद्या को जानकार आप इसका फायदा उठा सकते है। यह वही धतूरा है, जिसका इस्तेमाल भगवान शिव कि पूजा मे खास तौर पर होता है। यह न पूजा-पाठ मे काम आता है, बल्कि बहुत से शारीरक रोगों को भी दूर करने मे मदद करता है। पर ध्यान रहे आप काही गलती से भी इसे खाए नहीं और न ही बच्चों की पहुच मे आने दे। यह एक जहरीला पौधा होता है। तो ध्यानपूर्वक बताए गई विधियों का इस्तेमाल करे।

काले धतूरे का वशीकरण तांत्रिक प्रयोग टोने टोटके कैसे करते है जाने और किसी भी कार्य को पूर्ण सम्पूर्ण करे इससे पहले अवस्य गुरु से आज्ञा लेवे|

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s